Diarrhea Treatment: गर्मी में डायरिया जैसी बीमारियों से ऐसे करें बचाव, भूलकर भी न करें ये गलतियां

Summer Tips: गर्मी का मौसम कई बीमारियों को साथ लेकर आता है। इस मौसम में थोड़ी सी लापरवाही की वजह से डायरिया, कब्ज, गैस अपच या फिर पेट जुड़ी अन्य समस्याएं शुरू हो जाती हैं।

Diarrhea Treatment
गर्मी में डायरिया जैसी बीमारियों से ऐसे करें बचाव 

मुख्य बातें

  • गर्मी में डायरिया जैसी बीमारियों से ऐसे करें बचाव।
  • डिहाइड्रेशन से बचने के लिए पिएं ओआरएस का घोल।
  • पेट से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल।

गर्मी के मौसम में लोगों को खान-पान में खास सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है। क्योंकि इस मौसम में लोगों को डायरिया, कब्ज,अपच के साथ-साथ पेट से जुड़ी कई समस्याएं होती है। बता दें कि इस मौसम में तापमान में गर्मी होने के पाचनतंत्र धीरे काम करता है। इसलिए गर्मियों में ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करने की सलाह दी जाती है जिनमे पानी, फाइबर, प्रोबायोटिक, एंटीऑक्सिडेंट्स, खनिज जैसे तत्व हो। पेट से जुड़ी इन परेशानियों का समय पर इलाज न हो तो मुश्किलें और बढ़ जाती हैं। वहीं खान-पान और कुछ चीजों का खास ख्याल रखें तो आप बिना दवा के इन परेशानियों को एक दिन में ठीक कर सकते हैं।

डिहाइड्रेशन से बचने के लिए पिएं ओआरएस का घोल

  • उल्टी या फिर दस्त होने की वजह से शरीर में पानी की कमी हो सकती है। ऐसी स्थिति में सबसे पहले ओआरएस का घोल पिएं। यह हर मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध है, जहां आप आसानी से खरीद सकते हैं।
  • ओरआरएस का घोल आप चाहे तो घर पर भी तैयार कर सकते हैं। इसके लिए नमक और थोड़ा चिनी का इस्तेमाल कर तैयार कर सकते हैं। यह शरीर में  इलेक्ट्रोलाइट्स के स्तर को बनाए रखते हैं, जिससे शरीर में डिहाइड्रेशन नहीं होता।

इन आहार का करें सेवन

डायरिया या फिर पेट से जुड़ी समस्याएं होने लगे तो अपने डायट में तुरंत बदलाव करें। इसके साथ कुछ ऐसे आहार का सवन करें, जिससे पेट की गड़बड़ी ठीक हो जाए। वहीं डायरिया जैसी बीमारी को ठीक करने के लिए इन आहारों का सेवन करें।

चावल- डायरिया जैसी बीमारी को ठीक करने के लिए सफेद चावल का सेवन करना चाहिए। चावल में कार्बोहाइड्रेट अधिक होता है और प्रोटीन कम, ऐसे में इसे पचाना आसान है।
केला- दस्त को कंट्रोल करने के लिए केले का सेवन करना फायदेमंद माना जाता है। इसके साथ ही यह पेट के लिए अच्छा होता है।
आलू- उबले हुए आलू का सेवन करें, इसमें कार्ब्स अच्छी मात्रा में पायी जाती है।
फल- फल में अंगूर, अनार, लीची, संतरा, मौसमी, नींबू आदि जैसी चीजों का सेवन करें।
प्रोबायोटिक्स फूड्स- दस्त, डायरिया या फिर गैस जैसी समस्या से बचने के लिए प्रोबायोटिक्स फूड्स का सेवन करें। दही, छाछ आदि जैसी प्रोबायोटिक्स फूड्स में बैक्टीरिया मौजूद होते हैं, जो पाचन को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करते हैं। यह आपकी आंतों में जाकर हेल्दी बैक्टीरिया को बढ़ाने में काम करते हैं, जिससे पेट से जुड़ी समस्या से आराम मिल जाता है।

इन बातों का रखें खास ख्याल

  • डायरिया, गैस, अपच इत्यादी समस्याओं में दूध की चाय, घी, बटर, तेल जैसी चीजों का सेवन न करें।
  • पेट से जुड़ी परेशानियों को ठीक करने के लिए जितना हो सकें उतना आराम करें। 
  • ऐसी स्थिति में शराब, सिगरेट जैसी चीजों से दूरी बनाकर रखें।
  • पेट में दर्द, बार-बार उल्टी या फिर दस्त होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

(डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए है, इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रुप में नहीं लिया जा सकता। कोई भी स्टेप लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर कर लें।)

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर