क्‍या कोव‍िड 19 वैक्‍सीन की वजह से मह‍िलाओं के पीर‍ियड्स हो रहे प्रभाव‍ित, यहां जानें आवश्यक बातें

कोविड-19 से बचने के लिए लोग कोरोनावायरस वैक्सीन का सहारा ले रहे हैं लेकिन यह वैक्सीन लेने के बाद लोगों के अंदर इसके कुछ साइड इफेक्ट देखे जा रहे हैं। इसी बीच महिलाओं में अनजाना साइड इफेक्ट देखने को मिला है।

Side effects of coronavirus in females, side effects of coronavirus vaccine in females in hindi, side effects of covid vaccine for females, side effects of covid vaccine for young females, कोरोनावायरस वैक्सीन के साइड इफेक्ट, महिलाओं में कोरोना वैक्सी
Side effects of coronavirus in females (Pic : IStock) 

मुख्य बातें

  • सर्दी, बुखार, सिर दर्द, थकान और मांसपेशियों में दर्द यह कोरोनावायरस वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स हैं।
  • कोविड-19 वैक्सीन के यह साइड इफेक्ट्स दिख रहे हैं तो इसका मतलब की वैक्सीन अपना काम कर रही है।
  • महिलाओं में कोविड-19 वैक्सीन का असाधारण साइड इफेक्ट देखा जा रहा है।

भारत अभी कोरोनावायरस की दूसरी लहर से गुजर रहा है जो बहुत खतरनाक माना जा रहा है। हर दिन कोरोनावायरस के दर्ज हो रहे मामले रिकॉर्ड तोड़ते जा रहे हैं। लोगों को कोरोनावायरस का डर सता रहा है वहीं जानकार यह सलाह दे रहे हैं कि लोग जल्द से जल्द कोरोनावायरस वैक्सीन लगवाएं। इसी बीच यह खबर आ रही है कि जो लोग कोरोनावायरस वैक्सिंग लगवा रहे हैं वह साइड इफेक्ट्स का शिकार हो रहे हैं।

जानकारों का मानना है कि बुखार, सर्दी, सिर दर्द, थकान और मांस पेशियों में दर्द कोरोनावायरस वैक्सीन के कुछ आम साइड इफेक्ट्स हैं। जिन लोगों में यह साइड इफेक्ट्स दिख रहे हैं ऐसा माना जा रहा है कि उन लोगों में कोरोनावायरस वैक्सीन का असर अच्छी तरह से हो रहा है। ‌वहीं कुछ ऐसी खबरें भी सुनने में मिली हैं कि महिलाओं के अंदर कोरोनावायरस वैक्सीन का साइड इफेक्ट असाधारण है।

महिलाओं में किस तरह का देखा जा रहा है साइड इफेक्ट?

कोरोनावायरस वैक्सीन लगवाने वाली कुछ महिलाओं का यह दावा है कि यह वैक्सीन लगाने के बाद उनका पीरियड्स या तो ज्यादा भारी हो रहा है या समय से पहले आ रहा है। यह माना जा रहा है कि क्लिनिकल ट्रायल्स के दौरान यह साइड इफेक्ट गलती से नजरों में नहीं आया। एक शोध के अनुसार यह पता चला है कि 56,000 कोरोनावायरस वैक्सीन लगाने वाली महिलाओं में 32 ऐसे केस दर्ज किए गए हैं जिसमें महिलाओं के पीरियड्स प्रभावित हुए हैं। भले ही यह आंकड़ा बहुत छोटा है लेकिन कोरोनावायरस वैक्सीन और पीरियड्स के मिस होने के बीच में कोई संबंध जरूर है।

कोरोनावायरस वैक्सीन महिलाओं के पीरियड्स को कैसे प्रभावित कर रहा है?

इस विषय पर थोड़ा रिसर्च अभी भी बचा है लेकिन एक्सपर्ट्स यह मानते हैं कि वैक्सीन का काम इम्यून सिस्टम को दृढ़ करना है जिसके वजह से मासिक धर्म में थोड़ा बदलाव हो सकता है। कोरोनावायरस वैक्सीन के वजह से या तो मासिक धर्म में खून का प्रवाह ज्यादा हो सकता है या तो समय से पहले मासिक धर्म आ सकते हैं। स्ट्रेस, एक्सरसाइज, खानपान और नींद के वजह से आम तौर पर महिलाओं के मासिक धर्म में बदलाव होते रहते हैं। लेकिन कोरोनावायरस वैक्सीन की वजह से महिलाओं के मासिक धर्म में बदलाव आना थोड़ा असाधारण और चिंताजनक है।

क्या इस चीज से डरना चाहिए?

एक्सपर्ट्स का मानना है कि मासिक धर्म में यह बदलाव कोरोनावायरस वैक्सीन में मौजूद ननोपार्टिकल्स के वजह से हो सकता है जो पीरियड्स को प्रभावित कर रहे हैं। यह ननोपार्टिकल्स टेंपरेरी इम्यून रिएक्शन कर सकते हैं जिसके वजह से महिलाओं के कुछ प्लेटलेट्स में कमी आ रही है। इसमें परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह सेल्स रीजेनरेट हो जाते हैं लेकिन मंथली साइकिल के दौरान पीरियड्स में कुछ बदलाव आ सकते हैं। एक्सपर्ट्स इसे कोरोनावायरस वैक्सीन को लेकर शरीर की प्रतिक्रिया मान रहे हैं जिससे घबराने की जरूरत नहीं है। उनका मानना है कि इससे महिलाओं की फर्टिलिटी में कोई असर नहीं पड़ेगा।

हेवी पीरियड्स, समय से पहले पीरियड्स का आना या पीरियड्स के वजह से ऐंठन होना कोरोनावायरस वैक्सीन के कुछ आम साइड इफेक्ट्स हैं। ‌यह बुखार और सिर दर्द की तरह आम हैं और इनसे घबराने की जरूरत नहीं है। अगर किसी महिला को कोरोनावायरस वैक्सीन लगवाने के बाद पीरियड के दौरान 5 दिन से ज्यादा असहनीय दर्द हो रहा है तो उन्हें अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लेनी चाहिए।

(ये लेख टाइम्‍स ऑफ इंड‍िया की एक र‍िपोर्ट के आधार पर तैयार क‍िया गया है।)

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर