Fit India में प्रधानमंत्री मोदी ने ल‍िया सहजन का नाम, जानें आयुर्वेद में मोर‍िंगा को क्‍यों कहा गया है अमृत

Sahjan ke Fayde : सहजन को आयुर्वेद में अमृत समान माना गया है। ये कई तरह के पोषक तत्‍वों से भरपूर होता है। जानें ये फ‍िट इंड‍िया डायलॉग में जगह पाने वाले सहजन की खूब‍ियों के बारे में।

sahjan moringa or drumstick ke fayde pm modi talk about its benefits in Fit India dialogue
sahjan ke fayde 

मुख्य बातें

  • सहजन की पत्तियों में विटामिन-सी भरपूर होता है
  • इसका सेवन बीपी कम करने वाला माना जाता है
  • वजन घटाने में भी सहजन का सेवन मददगार रहता है

फ‍िट इंड‍िया डायलॉग में प्रधानमंत्री मोदी ने सहजन का उल्‍लेख क‍िया है। इसे मोंग‍िया या फ‍िर ड्रमस्‍ट‍िक के नाम से भी जाना जाता है। जहां इसकी सब्‍जी बेहद स्‍वाद‍िष्‍ट बनती है, वहीं इसका सूप भी खासा पसंद क‍िया जाता है। दक्षिण भारतीय घरों में सहजन का प्रयोग बहुत ज्यादा होता है। स्‍वाद के अलावा सेहत को लेकर इसके कई फायदे हैं। 

सहजन को 300 से ज्यादा बीमारियों की दवा माना गया है। इसल‍िए आयुर्वेद में इसे अमृत समान मानते हैं। इसकी नर्म पत्तियां और फल, दोनों ही सब्जी के रूप में प्रयोग किए जाते हैं। सहजन की फली, हरी पत्तियों व सूखी पत्तियों में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, मैग्नीशियम, विटामिन-ए, सी और बी कॉम्‍प्लेक्स भरपूर मात्रा में पाया जाता है। 

यहां जानें सहजन कैसे आपको फ‍िट रख सकता है (Sahjan for Health and Fitness) : 

  1. सहजन आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाने में भी मदद करता है। शरीर की प्रत‍िरोधक क्षमता मजबूत होती है तो हर तरह की संक्रामक बीमारी आपसे कोसों दूर ही रहती हैं। 
  2. कैल्‍श‍ियम में भरपूर होने की वजह से साइटिका, गठिया आदि में सहजन का प्रयोग करना बहुत ही फायदेमंद होता है। इन समस्‍याओं के इलाज में इसकी छाल और पत्तियों का काढ़ा पीना शुरू कर दें। साथ ही इसकी सब्जी भी खाएं। 
  3. सुपाच्‍य होने की वजह से सहजन लि‍वर को स्वस्थ रखने में भी ये बहुत कारगर होता है।
  4. पेट दर्द या पेट से जुड़ी गैस, अपच और कब्ज आदि समस्‍याओं में सहजन के फूलों का रस पीएं या इसकी सब्जी खाएं। ये पेट की हर समस्या को दूर करता है।
  5. आंखों के ल‍िए भी सहजन अच्‍छा है। इसकी रोशनी कम हो रही है हो तो सहजन की फली, इसकी पत्तियां और फूल का प्रयोग अधिक से अधिक करना चाहिए।
  6. यदि मोच आ गई हो तो सहजन की पत्तियों को पीस कर उसे सरसों के तेल में पकाएं और उसे मोच वाली जगह पर बांध दें। इससे मोच का दर्द भी दूर होगा और सूजन भी कम होगी।
  7. कान में होने वाले दर्द को दूर करने में भी सहजन बहुत काम आता है। इसके लिए इसकी ताजी पत्तियों को तोड़ कर उसका रस कान में कुछ बूंद डाल दें।
  8. जिन लोगों को किडनी में पथरी की समस्या हो उन्हें सहजन की सब्जी और सहजन का सूप जरूर पीना चाहिए। इससे पथरी बाहर निकल जाती है। इसकी जड़ की छाल का काढा सेंधा नमक और हींग मिला कर पीएं इससे भी पथरी बाहर निकल जाती है।
  9. छोटे बच्चों के पेट में यदि कीड़े हों तो उन्हें सहजन के पत्तों का रस देना चाहिए। साथ ही दस्त होने पर भी इस रस को पिलाएं। दांतों में कीड़े हो तो इसकी छाल का काढ़ा पीना चाहिए।
  10. सहजन ब्लडप्रेशर को सामान्य करता है। ये दिल की बीमारी में भी बहुत फायदेमंद होता है। कोलेस्ट्रॉल भी कम करता है। साथ ही इसकी पत्तियों का रस पीने से वेट भी कम होता है। इसमें कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है जिससे हड्डियां मजबूत बनती है।
  11. अगर आप वजन घटना चाहते हैं तो इस मामले में सहजन काफी कारगर साबित हो सकता है। इसमें मौजूद फॉस्फोरस शरीर से फैट कम करने में मदद करता है। इसलिए वेट लॉस के ल‍िए आप मोरिंगा की पत्तियों का रस का सेवन करे। 
  12. इस तरह सहजन आपकी सेहत के ल‍िए कई तरीके से फायदेमंद साब‍ित हो सकता है। हालांक‍ि इन समस्‍याओं के ल‍िए आपको डॉक्‍टर से भी परामर्श जरूर करना चाह‍िए। 
     
Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर