Post Delivery Changes: बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं के शरीर में आते हैं ये 5 बदलाव, बदल जाती हैं कई चीजें

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के हॉर्मोनल बदलाव होते हैं। इसके साथ ही महिलाओं के शरीर में कई ऐसे बदलाव भी आते हैं जिनके बारे में आप नहीं जानते होंगे।

Post Delivery Changes in Body (Photo- iStock)
Post Delivery Changes in Body (Photo- iStock) 

मुख्य बातें

  • प्रेग्नेंसी के दौरान ही नहीं बल्कि बच्चे के जन्म के बाद भी महिलाओं के शरीर में कई बदलाव आते हैं।
  • महिलाओं के शरीर में ना केवल हॉर्मोनल बल्कि फिजिकल बदलाव भी आते हैं।
  • जानें बच्चे के जन्म के बाद महिलओं में आने वाले बदलाव के बारे में।

प्रेग्नेंसी हर महिला के लिए स्पेशल समय होता है। अपने प्रेग्नेंटो होने के बारे में पता चलते ही महिलाएं यह समझ जाती हैं कि उनकी लाइफ पूरी तरह बदलने वाली है। वो अपने बच्चे से जुड़ी चीजें प्लान करने लगते हैं, अपनी जिंदगी को अपने होने वाले बच्चे को मुताबिक ढालने लगते हैं।

जिंदगी में ये बदलाव तो होते ही हैं साथ ही कुछ अन्य ऐसी चीजें भी हैं जो प्रेग्नेंसी के बाद बदल जाती हैं। आज हम आपको बता रहे हैं प्रेग्नेंसी के बाद होने वाले उन बदलावों के बारे में जिनके बारे में नहीं जानते होंगे आप। 

जानें डिलीवरी के बाद शरीर में होने वाले इन 5 बड़े बदलावों के बारे में।

सेक्स इच्छा में कमी

प्रेग्नेंसी के बाद महिलाओं में अक्सर सेक्स-इच्छा में कमी आ जाती है। एक रिपोर्ट के मुताबिक डिलीवरी के बाद महिलाओं में फिर से सेक्स की इच्छा पैदा होने में करीब एक साल तक का समय भी लग सकता है। दरअसल प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं में एस्ट्रोजन लेवल बढ़ता है और डिलीवरी के बाद इसमें तेजी से कमी आती है, जिसके चलते महिलाओं में सेक्स- इच्छा की कमी होती है। हालांकि यह नॉर्मल हो जाता है, लेकिन इसमें कुछ समय लगता है।

पैरों के साइज में बदलाव

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं जिसके चलते उन्हें कुछ परेशानियां भी होती हैं। प्रेग्नेंसी में कई महिलाओं के पैरों में सूजन रहती है, लेकिन बच्चे के जन्म के बाद आपके पैर के साइज में पर्मानेंट बदलाव आ सकता है। 

रिपोर्ट की मानें तो औसत से ज्यादा वजन वाली महिलाओं का प्रेग्नेंसी के दौरान 20-25 किलों तक वजन बढ़ जाता है, जिसका भार पैरों पर ही पड़ता है जिसके चलते पैर का साइज बढ़ सकता है। साथ ही शरीर में होने वाले हॉर्मोनल बदलावों के कारण भी ऐसा हो सकता है।

ब्रेस्ट साइज में बदलाव

यह बात तो सब जानते हैं कि बच्चे के जन्म के बाद ब्रेस्टफीडिंग के चलते महिलाओं का ब्रेस्ट साइज बढ़ जाता है। लेकिन बच्चे को ब्रेस्टफीड करवाना बंद करने के बाद ब्रेस्ट का साइज पहले से कम हो जाता है। 

बढ़ी हुई बेली

बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं का पेट फिर से अंदर चला जाता है, लेकिन उतनी जल्दी नहीं जितना जल्दी वो सोचती हैं। बच्चे के जन्म के बाद ज्यादातर महिलाएं यही सोचती हैं कि तुरंत उनका पेट पहले जैसा हो जाएगा, लेकिन बता दें कि ऐसा नहीं होता। बेली के फिर से पहले जैसा होने में 6 से 8 हफ्ते का समय लगता है। 

बालों का झड़ना

प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादातर महिलाओं के बाल हेल्दी और शाइनी हो जाते हैं लेकिन डिलीवरी के बाद वो फिर से पहले जैसे होने लगते हैं। इतना ही नहीं कई बार महिलाओं के बाल आम दिनों की तुलना में ज्यादा भी झड़ते हैं। प्रेग्नेंसी में बढ़े हुए एस्ट्रोजन लेवल के चलते बाल नहीं झड़ते लेकिन डिलीवरी के बाद इसमें कमी होने से बाल गिरने लगते हैं। जानकारी के मुताबिक बच्चे के जन्म के बाद 3-4 महीने में महिलाओं के बाल सबसे ज्यादा झड़ते हैं लेकिन यह अस्थायी तौर पर होता है। 6-12 तक यह नॉर्मल होने लगते हैं। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर