Vitamin D deficiency symptom: मूड स्विंग से डिप्रेशन तक, इस विटामिन की कमी के हैं ये पांच संकेत

Vitamin D Deficiency: शरीर में विटामिन की कमी का संकेत शरीर देने लगता है। बस जरूरत है इन संकेतों को पहचानने का। विटामिन डी की कमी होने पर शरीर पांच संकेत देता है। जानिए क्या हैं ये संकेत...

Vitamin D
Vitamin D 

मुख्य बातें

  • विटामिन की कमी ज्यादातर लोगों के शरीर में होती है।
  • विटामिन की कमी बेहद गंभीर परिणाम देती है।
  • विटामिन डी की कमी के संकेत शरीर दे देता है।

नई दिल्ली: हमारे रोज के खाने में कार्बोहाइड्रेट, फैट, प्रोटीन, विटामिन और मिनिरल्स का सही मात्रा में होना बहुत जरूरी होता है। किसी भी एक चीज की अधिकता या कमी शरीर में रोग का कारण बनती है। हमारा शरीर किसी पोषक तत्व की कमी या अधिकता का संकेत जरूर देता है। 

शरीर में यदि कुछ बदलाव नजर आ रहे या कोई परेशानी हो रही तो इसका मतलब यही होता है कि कोई न कोई बीमारी या पोषक तत्व की कमी हो रही है। खास बात ये है कि सारे ही विटामिन खाने के जरिये मिल जाते हैं लेकिन विटामिन डी आसानी से शरीर को नहीं मिलता।

इस विटामिन की कमी ज्यादातर लोगों के शरीर में होती है। इस विटामिन की कमी बेहद गंभीर परिणाम देती है। हालांकि इसकी कमी के संकेत शरीर दे देता है। ऐसे में पांच संकेतों से पहचानें शरीर में हो गई है विटामिन डी की कमी।  

 थकावट और कमजोरी 
 विटामिन डी की कमी शरीर में थकावट और कमजोरी ले कर आती है। यदि आपको अचानक से ज्यादा ही थकावट महसूस हो रही हो या आप बिना काम किए भी खुद को थका महसूस कर रहे हों तो विटामिन डी की जांच जरूर करा लें।

विटामिन डी की कमी से एनर्जी लेवल डाउन हो जाता है।  खाने-पीने और अच्छी नींद के बाद भी आप थका महसूस करते हो तो ये विटामिन डी की कमी का लक्षण है।  

हड्डी की कमजोरी और पैरों में दर्द 
अगर आपके घुटने में टबकन हो, कमर में दर्द हो या आपके पैरों में हमेशा फटन सी बनी रहती है तो आपको विटामिन डी की जांच करा लेनी चाहिए। मांसमेशियों की कमजोरी और दर्द का कारण विटामिन डी का कम होना होता है। यदि दांतों में भी कमजोरी दिख रही हो तो भी आपको विटामिन डी की जांच कराना चाहिए।  

घाव जल्दी न भरना 
विटामिन डी की कमी से घाव जल्दी नहीं भरता। यदि आपको कहीं चोट लगी हो, फोड़ा-फुंसी या कट गया हो तो वह दो से तीन दिन में भरने लगना चाहिए, लेकिन यदि इसे भरने में एक हफ्ते से ज्यादा वक्त लगे तो समझ लें कि ये विटामिन डी की कमी है। 

शुगर बढ़ने पर भी ऐसा होता है। इसलिए दोनों जांच कराना चाहिए। विटामिन सूजन को नियंत्रित करता है और संक्रमण से लड़ता है। इसलिए इसकी कमी से शरीर में सूजन भी होती है।  

मूड स्विंग और डिप्रेशन 
अगर आपका मूड बार-बार स्विंग हो रहा, तनाव महसूस हो या डिप्रेशन  है तो आपको अपने विटामिन डी की जांच जरूर करा लेनी चाहिए। विटामिन डी की कमी से तनाव, डिप्रेशन, मूड स्विंग बहुत होता है।  

बालों का झड़ना  
अगर आपके बाल लगातार झड़ रहे हैं तो आपको विटामिन डी युक्त चीजें खानी शुरू कर देनी चाहिए। अंडे का बीच वाला हिस्सा, मक्खन, मशरूम के अलावा कम से कम रोज 20 मिनट तक धूप में जरूर बैठें।  विटामिन डी की कमी के ये संकेत बहुत गंभीर हो सकते हैं। इसलिए आपको धूप का सेवन बढ़ा देना चाहिए। 

डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने अथवा अपनी डाइट में किसी तरह का बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर