Back And Neck Pain: ऑफिस की कुर्सी पड़ सकती है कमर पर भारी, एक्‍सपर्ट से जानें क्‍या है 20-20 का नियम

हेल्थ
Updated Oct 14, 2019 | 12:02 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Backache: ऑफिस में ज्‍यादा देर तक कुर्सी पर बैठ कर काम करने वालों को रीढ़ की हड्डी और गर्दन के दर्द की समस्‍या पैदा हो रही है। ऐसे में दिक्‍कत और ज्‍यादा न बढ़े इसके लिये जानें किन बातों पर ध्‍यान देना जरूरी है

Back And Neck Pain
Back And Neck Pain  |  तस्वीर साभार: Getty Images

मुख्य बातें

  • गर्दन झुकाकर कई घंटों तक लगातार काम करते हैं तो सर्वाइकल स्पॉन्डिलोसिस की दिक्‍कत बढ़ जाती है
  • कुर्सी पर बैठने के समय रीढ़ की हड्डी को बिल्‍कुल सीधा रखें
  • हर 20 मिनट के अंतराल पर कुर्सी से उठने की आदत डालें

अगर आप भी रोजाना 6 से 9 घंटे ऑफिस में केवल कुर्सी पर बैठ कर काम करते हैं तो आपके लिये सर्वाइकल (गर्दन का दर्द) और बैक पेन कोई नया नाम नहीं होगा। पीठ दर्द के पीछे कई कारण हो सकते हैं जिसमें से एक मेजर कारण है कुर्सी पर गलत पॉश्चर में बैठना। लखनऊ के एम एस फिजियोथेरेपी क्‍लीनिक के फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. आर एम विश्वकर्मा ने हाल ही में टाइम्स नाउ हिंदी से खास बातचीत की जिसमें उन्‍होंने बताया कि ऑफिस में डेस्‍क टॉप पर लंबे समय तक काम करने वालों को गर्दन और पीठ से जुड़ी कई तरह की समस्‍याएं हो रही हैं। 

उन्‍होंने आगे बताया बताया कि अगर आप गर्दन झुकाकर कई घंटों तक लगातार काम करते हैं तो सर्वाइकल स्पॉन्डिलोसिस की दिक्‍कत बढ़ जाती है। ऐसे में व्‍यक्‍ति को चक्‍कर तो आते ही हैं साथ ही लक्षण बढ़ने की वजह से हाथों में सुन्नपन भी हो जाता है। अगर बैक पेन या डिस्‍क बल्‍ज की समस्‍या होती है तो वह फिजियोथेरेपी की मदद से 90% तक ट्रीट भी की जा सकती है। कुर्सी पर बैठने के दौरान किन 5 बातों का ध्यान रखना चाहिए आइये जानते हैं डॉ विश्वकर्मा से...

कुर्सी पर बैठने के दौरान रखें इन खास बातों का ध्‍यान

  1. कुर्सी पर बैठने के समय रीढ़ की हड्डी को बिल्‍कुल सीधा रखें और पैरों को जमीन पर रखें। 
  2. कुर्सी पर बैठने के दौरान ध्‍यान रखें कि आपकी बॉडी का पॉश्चर पूरी तरह से मेंटेन रहे। अपनी स्‍पाइन और गर्दन सीधी रखें और एक ही पोजिशन में न रहें। 
  3. लैपटॉप या डेस्‍कटॉप पर काम करते वक्‍त उसकी स्‍क्रीन को एडजस्‍ट कर लें, जिससे आपकी गर्दन को ज्‍यादा झुकाने की जरूरत न पड़े। 
  4. हर 20 मिनट के अंतराल पर कुर्सी से उठने की आदत डालें। इस बीच आप कमर या गर्दन की हल्‍की फुल्‍की एक्‍सरसाइज कर सकते हैं। 
  5. काम से ब्रेक लेकर डेस्‍क पर बैठे बैठे आंखों की मूवमेंट करें। कभी भी लगातार स्‍क्रीन को न देखें। 
  6. बैक पेन से बचने के लिये रोज सुबह बॉडी पॉश्चर को मेंटेन करने वाली एक्‍सरसाइज करें। 
  7. चेयर पर लंबे समय तक पैर लटका कर न बैठें। उन्‍हें हमेशा 90 डिग्री के एंगल पर ही रखें। बेहतर होगा कि आप फुट रेस्‍ट का इस्‍तेमाल करें। 
     

कुर्सी पर बैठने के दौरान कुशन का इस्‍तेमाल करना सही या गलत? 
कुर्सी पर बैठते वक्‍त हमेशा कुशन लगाएं। बहुत से लोग कुशन लगाने के बाद उसे ठीक से एडजस्‍ट नहीं कर पाते जिस वजह से उन्‍हें पीठ दर्द की शिकायत हो जाती है। कुशन को हमेशा लुंबर पोजिशन पर लगाना चाहिये जिससे व्‍यक्‍ति की रीढ़ हमेशा सीधी बनी रहे और वह स्‍ट्रेट बैठ सके। 

क्‍या पतले लोगों की तुलना में मोटे व्‍यक्‍तियों को कमर का दर्द ज्‍यादा होता है? 
यह धारणा पूरी तरह से गलत है। ऐसा बिल्‍कुल भी नहीं कहा जा सकता कि अगर व्‍यक्‍ति पतला है तो उसे कमर दर्द की शिकायत नहीं हो सकती।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर