Gurugram Crime: भाई को बचाने पहुंचे युवक की पीट-पीट कर ले ली जान, 7 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Gurugram Crime: गुरुग्राम के एक शादी समारोह में हुई हत्‍या के सात आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। शादी में आए ये आरोपित मृतक सुमित के भाई को पीट रहे थे। अपने भाई को पिटता देख सुमित उसे बचाने पहुंच गया। जिसके बाद आरोपितों ने सुमित पर लाठी-डंडों से हमला कर हत्‍या कर दी। पुलिस ने सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

 killers arrested
पुलिस गिरफ्त में आरोपी   |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • शादी-समारोह में हुए हत्‍या के सभी आरोपी गिरफ्तार
  • अपने भाई को आरोपितों से बचाते हुए गई सुमित की जान
  • आरोपितों ने लाठी-डंडों से पीट-पीट कर जान ले ली

Gurugram Crime: गुरुग्राम पुलिस ने शहर के सेक्टर 9 स्थित कम्युनिटी सेंटर में पीट-पीट कर एक युवक की हुई हत्या मामले में के 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार देर रात इन आरोपितों की सेक्टर 9 के कम्युनिटी सेंटर में आयोजित एक शादी समारोह में आए 22 साल के युवक से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी। जिसके बाद इन आरोपियों ने उस युवक को बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया। जिससे युवक की अस्‍पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

मामले में अगले दिन केस दर्ज करवाया गया। इस घटना के बाद से ही पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई थी। वहीं आरोपितों को पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमों का गठन किया गया था। गुरुग्राम पुलिस के अनुसार, आरोपी और मृतक के परिवार के बीच पहले से ही जान-पहचान थी। पुलिस ने सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर 14 दिन की न्‍यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

समझाया तो ले ली जान   

गुरुग्राम क्राइम एसीपी प्रीतपाल सिंह ने बताया कि, सेक्‍टर 9 में एक शादी समारोह का आयोजन किया गया था। जिसमें सभी आरोपी और सुमित नाम का युवक अपने भाई के साथ आया हुआ था। यहां पर किसी बात को लेकर सुमित के भाई और आरोपितों के बीच कहासुनी हो गई। जिसके बाद आरोपित सुमित के भाई को टेंट के पीछे ले जाकर पीटने लगे। अपने भाई को पिटता देख सुमित आरोपितों के पास पहुंच गया और भाई को बचाने लगा। अपने भाई को वहां से भेज सुमित आरोपियों को समझाने लगा। लेकिन आरोपियों ने सुमित को ही लाठी-डंडों से पीटना शुरू कर दिए। बाद में कुछ लोगों ने बीच-बचाव कर सुमित को छुड़ाया और अस्‍पताल में भर्ती कराया। जहां पर इलाज के दौरान सुमित की मौत हो गई। एसीपी प्रीतपाल सिंह ने बताया कि पकड़े गए सातों आरोपी दसवीं और बारहवीं तक ही पढ़े लिखे हैं और कोई खास काम धंधा भी नहीं करते हैं। इनमें से एक आरोपी पहले भी 3 साल की सजा काट चुका है। जबकि एक पर पुलिस केस चल रहा है। फिलहाल पुलिस ने आरोपियों को जिला अदालत में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।  

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर