Ghaziabad Electricity Theft: विद्युत टीम को ग्रामीणों ने बनाया बंधक, पुलिस ने इस तरह कराया बंधनमुक्त

Ghaziabad Electricity Theft: गाजियाबाद के नायफल फीडर से संबंधित गांवों में बिजली चोरी रोकने के लिए मीटर लगाने गई विद्युत निगम की टीम को बंधक बना लिया गया। ग्रामीण निगम द्वारा लगाए जा रहे मीटर का कर रहे थे विरोध। सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने टीम को कड़ी मशक्‍कत से छुड़ाया।

 Electricity Theft
ग्रामीणों ने विद्युत निगम टीम को बनाया बंधक (प्रतीकात्मक फोटो)  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • बिजली मीटर लगाने गई विद्युत निगम की टीम को बनाया बंधक
  • ग्रामीण निगम द्वारा लगाए जा रहे मीटर का कर रहे थे विरोध
  • पुलिस ने कड़ी मशक्‍कत से टीम को छुड़ाया, अब कानूनी कार्रवाई शुरू

Ghaziabad Electricity Theft: जिले के मसूरी क्षेत्र के नायफल फीडर पर पड़ने वाले गांव इकला में अनमीटर्ड घरों में मीटर लगाने गई विद्युत निगम की टीम को कुछ लोगों ने बंधक बना लिया। इस दौरान उनके साथ मारपीट और अभद्रता भी की गई। जानकारी मिलने के बाद पहुंची मसूरी थाने की पुलिस ने कड़ी मशक्‍कत के बाद विद्युत टीम को लोगों के चंगुल से बंधनमुक्त कराया। अब इस मामले में आरोपितों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

बता दें कि, जिले में अप्रैल माह से ही बिजली चोरी रोकने और बकाया बिलों की वसूली को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। विद्युत निगम द्वारा अब तक 800 से अधिक बिजली चोरियां पकड़ी गई हैं। इसी अभियान के तहत जेई संदीप चौहान के साथ विभागीय टीम इकला गांव में पिछले दो-तीन दिन से मीटर लगाने का कार्य चला रही है। इस कार्य के विरोध में कुछ लोगों ने पूरी टीम को बंधक बना लिया।

मीटर लगाने के विरोध में बनाया बंधक

एसडीओ मनोज कुमार ने बताया कि, अभियान के तहत टीम समयराज के घर मीटर लगाने पहुंची थी। टीम ने घर की दीवार पर मीटर लगा भी दिया। इससे नाराज गांव निवासी टीकम नागर ने विभागीय टीम के साथ गाली गलौज कर मीटर उखाड़ने की बात की। इस बीच गांव के कुछ अन्य लोग भी वहां आ गए और विभागीय टीम को बंधक बना लिया। सूचना मिलने के बाद पहुंची मसूरी पुलिस ने कड़ी मशक्‍कत से विभागीय टीम को बंधनमुक्त कराया। अधिकारियों द्वारा अब मसूरी थाने में आरोपियों के विरुद्ध शिकायत दर्ज करा दी गई है।

नायफल फीडर पर होती है जमकर बिजली चोरी

बता दें कि, विद्युत वितरण निगम हर माह लाइनलॉस वाले फीडरों की सूची बनाता है। जिले में ऐसे कई फीडर हैं, जहां पर लाइन लॉस 80 फीसदी से ज्‍यादा है। इसमें नायफल फीडर का नाम भी शामिल है। निगम के रिकॉर्ड अनुसार, यहां 84 प्रतिशत लाइनलॉस है। इस फीडर से लगे गांव नायफल, इनायतपुर, कचेड़ा, इकला और हसनपुर में विद्युत विभाग की टीमों को घूसने नहीं दिया जाता है। यहां पर टीम घरों में मीटर लगा कर जाती है, तो पीछे से लोग उसे उखाड़ देते हैं। विभागीय टीमों के मुताबिक, अधिकांश घरों में खुलेआम बिजली चोरी की जाती है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर