Faridabad Development News: फरीदाबाद बनेगा 'वेनिस', 75 तालाबों का ऐसा निखरेगा रूप, हो जाएगा कायाकल्प

Faridabad Development News: फरीदाबाद में तालाबों को सुंदर बनाने का कार्य शुरू हो गया है। पहले चरण में सात तालाबों का चयन किया गया है। जिन पर सोमवार से कार्य भी शुरू हो गया। अमृत सरोवर मिशन योजना के तहत जिले के 75 प्रमुख तालाबों का जीर्णोद्धार और सौदर्यीकरण किया जाएगा।

Faridabad Development
फरीदाबाद में होगा तालाबों का सौंदर्यीकरण  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • फरीदाबाद के तालाबों को सुंदर बनाने का कार्य शुरू
  • पहले चरण में सात तालाबों का किया गया चयन
  • इस साल अगस्‍त तक पूरा कर लिया जाएगा जीर्णोद्धार का कार्य

Faridabad Development News: फरीदाबाद शहर भी जल्‍द 'वेनिस' की तरह सुंदर तालाबों की नगरी बन जाएगा। यहां के तालाब विदेश की तर्ज पर विकसित किए जाएंगे। इसके लिए जिला प्रशासन का पूरा प्रोजेक्‍ट तैयार हो गया है। इस योजना के तहत जिले के करीब 75 तालाबों का जीर्णोद्धार और सौंदर्यीकरण किया जाना है। योजना के पहले चरण के तहत जिले के सात तालाबों का जीर्णोद्धार अमृत सरोवर मिशन के तहत सोमवार को शुरू हो गया।

बता दें कि, मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने बीते दिनों अमृत सरोवर मिशन योजना की शुरुआत करते हुए प्रदेश भर के प्रमुख तालाबों के जीर्णोद्धार और सौदर्यीकरण करने का प्रोजेक्‍ट लॉन्‍च किया है। इसमें फरीदाबाद के 75 तालाबों का जीर्णोद्धार और सौंदर्यीकरण किया जाएगा। सभी तालाबों का कार्य 15 अगस्त 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा।

पहले चरण में बड़े तालाबों का होगा जीर्णोद्धार

प्रशासन द्वारा जिले के सात जगहों पर अमृत सरोवर मिशन के तहत तालाबों के जीर्णोद्धार काम शुरू किया गया है। ये तालाब अटाली, तिगांव, पाली, धौज, मोहना व भनकपुर में मौजूद हैं। जिले में पहले चरण में एक एकड़ या इससे बड़े तालाबों का जीर्णोद्धार किया जाएगा। इससे जहां भूजल स्तर के सुधरने की उम्मीद रहेगी। वहीं लोग इन तालाबों के आसपास सैर-सपाटा भी कर सकेंगे। बाकि के तालाबों के जीर्णोद्धार का काम जिला उपायुक्त के निर्देश पर किया जाएगा।

खुदाई और सौंदर्यीकरण लोगों के सहयोग से होगा

इन तालाबों की खुदाई और सौंदर्यीकरण में आम लोगों का सहयोग भी लिया जाएगा। तालाबों की खुदाई, रिटर्निंग वॉल व सौंदर्यीकरण करके इसे लोगों के बैठने, घूमने व आराम करने लायक बनाया जाएगा। इसके लिए हरियाणा तालाब एवं अपशिष्ट जल प्रबंधन का गठन किया गया है, जो लोगों के सहयोग से इस योजना को अमली जामा पहनाएगा। इन तालाबों के चारो तरफ पेड़-पौधे लगाने के अलावा चलने के लिए फुटपाथ भी बनाए जाएंगे। साथ ही तालाब के किनारे पर ही बैठने व आराम करने के लिए बेच लगाई जाएंगी। इन तालाबों में बारिश का पानी संरक्षित करने के लिए भी उपाय किए जाएंगे। जिससे से ये पूरे साल पानी से भरे रहें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर