Anup Jalota Facts: कम ही लोग जानते हैं अनूप जलोटा की ये 6 बातें, भजन सम्राट ने की हैं 3 शादियां

Anup Jalota Birthday and Facts: भजन सम्राट के नाम से मशहूर अनूप जटोला एक समय पर बतौर बल्लेबाज अपने क्रिकेट के लिए मशहूर रहे हैं। यहां जानिए उनसे जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें।

Anup Jalota and Jasleen Matharu
अनूप जलोटा और जसलीन मथारू  |  तस्वीर साभार: Instagram

मुख्य बातें

  • बतौर भजन गायक अनूप जलोटा ने बनाई है अपनी पहचान
  • भजन सम्राट कहलाने वाले गायक को मिल चुका है पद्मश्री सम्मान
  • 3 शादियों और जसलीन मथारू से अफेयर को लेकर निजी जिंदगी में भी बटोरी सुर्खियां

मुंबई: भजन सम्राट अनूप जलोटा एक गायक और संगीतकार दोनों के रूप में संगीत के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए लोकप्रिय हैं। उनके कुछ लोकप्रिय भजनों में 'ऐसी लगी लगन', 'मैं नहीं माखन खायो', 'रंग दे चुनरिया' और कई जैसे गीत शामिल हैं। वह 29 जुलाई को अपना 68वां जन्मदिन मना रहे हैं।

क्या आप जानते हैं कि अनूप जलोटा ने गाने के अलावा टेलीविजन प्रजेंटर के रूप में भी कुछ समय के लिए काम किया है। मशहूर भजन गायक अनूप जलोटा के बारे में ऐसे और भी कई तथ्य हैं जो कम ही लोग जानते हैं। जानने के लिए नीचे स्क्रॉल करें:

1. अनूप जलोटा की 3 शादियां और जसलीन मथारू से रिलेशनशिप:

अनूप जलोटा के अपनी 28 वर्षीय जसलीन मथारू के साथ कथित संबंधों की अफवाहें कुछ समय पहले ही काफी चर्चा में रही थीं, जब दोनों टीवी रियलिटी शो बिग बॉस में नजर आए थे। हालांकि, अगर आपको लगता है कि यह पहली बार है जब अनूप अपनी लव लाइफ हलचल में रही, तो आप गलत हैं। जसलीन मथारू से पहले अनूप जलोटा की तीन शादियां हुई थीं।

anup jalota and jasleen matharu

अनूप जलोटा की पहली पत्नी का नाम सोनाली सेठ है। वह एक गुजराती लड़की थी, जिसे अनूप के परिवार से कभी मंजूरी नहीं मिली। पेशेवर आधार पर वे सबसे अच्छे जोड़ियों में से एक बन गए। हालांकि, यह भी लंबे समय तक नहीं चला, और दोनों अलग हो गए। इसके बाद सोनाली ने रूप कुमार राठौड़ से शादी कर ली। इसके बाद पारंपरिक तरीके को अपनाते हुए अनूप जलोटा ने बीना भाटिया से शादी कर ली। हालांकि इसके बाद दोनों का तलाक हो गया।

अनूप जलोटा फिर तीसरी बार आकर्षण का केंद्र बने जब उन्होंने मेधा गुजराल से शादी की। वह भारत के पूर्व प्रधानमंत्री आई.के. गुजराल की भतीजी थीं। दोनों ने एक प्यारे बेटे आर्यमन को जन्म दिया और माता-पिता बन गए। दुर्भाग्य से, नियति ने फिर से अपना खेल खेला और मेधा का लीवर फेल होने के कारण निधन हो गया।

2. घर पर शुरू हुआ प्रशिक्षण:

अनूप जलोटा अपने परिवार में भक्ति और शास्त्रीय गायन को अपनाने वाले पहले व्यक्ति नहीं हैं। उनके पिता स्वर्गीय पुरुषोत्तम दास जलोटा अपने समय के एक प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक थे। वह अपने सीखने के दिनों में अनूप के पहले शिक्षक थे। वर्तमान भजन सम्राट ने सात साल की छोटी उम्र से ही अपना प्रशिक्षण शुरू कर दिया था।

3. एक समय क्रिकेट से भी थी अनूप जलोटा की पहचान:

जो लोग अनूप जलोटा को जानते हैं, वे उनकी कल्पना गायक के अलावा किसी और रूप में नहीं कर सकते हैं। वह लोगों के दिलो दिमाग में सिर्फ हारमोनियम बजाने की छवि रखते हैं। लेकिन उनके कॉलेज के दिनों में संगीत के अलावा भी कुछ ऐसा था जो उन्हें चर्चा में रखता था। अनूप जलोटा अपने कॉलेज के दिनों में क्रिकेट खेलते थे और तब उनकी गिनती अच्छे बल्लेबाजों में होती थी।

Anup Jalota Facts in Hindi

4. अनूप की रेडियो से बनी पहचान:

जब अनूप जलोटा शुरू में मुंबई में थे तो उनके साथ भी दूसरे संघर्षरत कलाकार की तरह व्यवहार किया गया। हालांकि, चीजों ने एक अलग मोड़ लिया जब उन्हें एक राष्ट्रीय रेडियो स्टेशन में एक कोरस गायक के रूप में अपनी पहली नौकरी मिली। गिटारवादक, वायलिन वादक, संतूर, ढोलक, सरोद, सारंगी, सितार और तबला वादक की एक टीम आमतौर पर उनका समर्थन करती थी। यहीं से संगीत की दुनिया में उनका सफर शुरू हुआ।

5. सफलता की बुलंदियां:

अनूप जलोटा ने कई गाने रिकॉर्ड किए जिन्होंने मार्केट में अच्छा प्रदर्शन किया। फिर भी, कोई बड़ी पहचान शुरू में नहीं मिल पाई। यह 'शिरडी के साईं बाबा' थे जिसने उन्हें पहचान हासिल करने में मदद की। मनोज कुमार ने फिल्म के लिए अनूप के साथ चार गाने रिकॉर्ड किए और वे बहुत हिट हुए। इस सफलता ने अनूप को वह प्रसिद्धि दिलाई जिसका उन्हें इंतजार था।

6. पद्म श्री से सम्मानित हैं अनूप जलोटा:

अनूप जलोटा ने संगीत जगत को कुछ बेहतरीन भारतीय शास्त्रीय धुनें दी हैं। 2012 में उन्हें इसके लिए उचित पहचान मिली। उन्हें भारत सरकार द्वारा कला-भारतीय शास्त्रीय संगीत-गायन के क्षेत्र में पद्म श्री से सम्मानित किया गया।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Entertainment News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर