MBA, PGDM में स्‍नातक अंकों पर हो सकेगा दाखिला,  AICTE ने संस्‍थानों को दी विशेष अनुमति

एजुकेशन
आईएएनएस
Updated Aug 24, 2020 | 17:22 IST

MBA admission: कोविड-19 के कारण इस बार कई प्रवेश परीक्षाएं नहीं हो सकी हैं, जिसे देखते हुए AICTE ने संस्‍थानों को एमबीए और पीजीडीएम पाठ्यक्रमों में दाखिलों स्‍नातक के अंकों के आधार पर ही देने की अनुमति दी है।

MBA, PGDM में स्‍नातक अंकों पर हो सकेगा दाखिला,  AICTE ने संस्‍थानों को दी विशेष अनुमति
MBA, PGDM में स्‍नातक अंकों पर हो सकेगा दाखिला,  AICTE ने संस्‍थानों को दी विशेष अनुमति  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • AICTE ने MBA, PGDM में स्‍नातक अंकों के आधार पर ही दाखिले की अनुमति दी है
  • कोविड-19 के कारण कई प्रवेश परीक्षाएं नहीं हो पाई हैं, जिसे देखते हुए यह फैसला लिया गया
  • AICTE के मुताबिक, यह रियायत सिर्फ शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए है

नई दिल्ली : एआईसीटीई ने कहा है कि एमबीए और पीजीडीएम पाठ्यक्रमों की पढ़ाई कराने वाले संस्थानों को स्नातक परीक्षाओं में हासिल अंकों के आधार पर ही विद्यार्थियों को दाखिला देने की अनुमति दी गई है, क्योंकि कोविड-19 के मद्देनजर कई प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन नहीं हो सका है। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने यह भी स्पष्ट किया है कि यह रियायत सिर्फ शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए है और इसे भविष्य के शैक्षणिक वर्षों के वास्ते मिसाल के तौर पर न देखा जाए।

नहीं हो सकी हैं प्रवेश परीक्षाएं

एआईसीटीई सदस्य सचिव राजीव कुमार ने कहा, 'कैट, जैट, सीमैट, एटीएमए, मैट, जीमैट जैसी अखिल भारतीय परीक्षाएं और संबंधित राज्यों की सामान्य प्रवेश परीक्षाएं एमबीए या पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट (पीजीडीएमए) पाठ्यक्रमों के लिए दाखिला परीक्षाएं हैं। कई राज्यों में इनमें से कुछ परीक्षाएं कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के डर से आयोजित नहीं हो सकीं और इस बात के कोई संकेत नहीं हैं कि ये परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं या फिर आयोजित होंगी या रद्द कर दी गई हैं।'

स्‍नातक अंकों पर तैयार हो मेधा सूची

परिषद ने संस्थानों को निर्देश दिया है कि अगर सीटें खाली हैं तो स्नातक परीक्षाओं के अंक के आधार पर मेधा सूची तैयार की जाए और उसके अनुसार दाखिला दिया जाए। देश भर में विश्वविद्यालय और स्कूल 16 मार्च से बंद हैं। केंद्र सरकार ने कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए देशभर में कक्षाओं के आयोजन पर रोक लगा दी थी। इसके बाद देश भर में 25 मार्च से बंद लागू किया गया था। इसके बाद से प्रतिबंधों में कई तरह की छूटें दी गईं लेकिन स्कूल और कॉलेज अब भी बंद हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर