Delhi : दिल्ली में चिता के लिए कम पड़ने लगी लकड़ी, 10 दिनों में 5100 से ज्यादा शव जलाए-दफनाए गए

Covid 19 Cases in Delhi : दिल्ली नगर निगम के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 10 दिनों में राजधानी के अलग-अलग शवदाह गृहों एवं कब्रिस्तानों में 5100 से ज्यादा शवों को जलाया और दफनाया गया है।

Corona Deaths : Delhi could face a shortage of wood for pyre
दिल्ली में चिता के लिए कम पड़ने लगी लकड़ी। 

मुख्य बातें

  • कोरोना से हो रही ज्यादा मौतें, दिल्ली में चिता के लिए कम पड़ने लगी है लकड़ी
  • उत्तरी दिल्ली के महापौर ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर मदद मांगी
  • दिल्ली में पिछले 10 दिनों में 5100 से ज्यादा शव जलाए और दफनाए गए हैं

नई दिल्ली : दिल्ली में कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा इतना बढ़ गया है कि राजधानी के श्मशान गृहों में चिता के लकड़ी कम पड़ने लगी है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए उत्तरी दिल्ली के महापौर जय प्रकाश ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर लकड़ी की व्यवस्था करने की अपील की है।

बीते 10 दिनों में जलाए गए 5100 से ज्यादा शव
दिल्ली नगर निगम के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 10 दिनों में राजधानी के अलग-अलग शवदाह गृहों एवं कब्रिस्तानों में 5100 से ज्यादा शवों को जलाया और दफनाया गया है। उत्तरी दिल्ली के मेयर का कहना है कि कोरोना  जिन लोगों की मौत उनके घर पर हो रही है। उन्हें श्मशान गृह तक लाने के लिए शव वाहनों की जरूरत है। महापौर ने केजरीवाल से 100 शव वाहन उपलब्ध कराने की मांग की है। 


शव उठाने के लिए एंबुलेंस की मांग
महापौर ने घरों से शवों को उठाने के लिए शव वाहन उपलब्ध कराने की भी मांग की है। उत्तरी दिल्ली के मेयर ने मुख्यमंत्री को लिखी चिट्ठी में कहा है कि राजधानी में कोरोना से बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो रही है। निगम के श्मशान गृहों में चिता के लिए किसी भी समय लकड़ी समाप्त हो सकती है। ऐसे में सीएम को वन विभाग को लकड़ी उपलब्ध कराने के लिए निर्देश देना चाहिए।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर