दिल्ली के शाहीन बाग से आया जिन्ना वाली आजादी का वीडियो, कांग्रेस को बीजेपी पर है शक

JNU में कभी भारत से लड़कर लेंगे आजादी के नारे लग थे। कुछ वैसा ही वीडियो बीजेपी मे शाहीन बाग इलाके का जारी किया है जिसमें कुछ लोग जिन्ना वाली आजादी बोलते हुए सुनाई दे रहे हैं। लेकिन कांग्रेस को वीडियो पर शक है।

दिल्ली के शाहीन बाग से आया जिन्ना वाली आजादी का वीडियो, कांग्रेस को बीजेपी पर है शक
कांग्रेस सांसद हैं शशि थरूर 

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हंगामा बरपा हुआ है। अलग अलग विश्वविद्यालयों के छात्र सड़कों पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं तो विपक्षी दलों को भी लगता है कि उन्हें एक ऐसा मु्द्दा हाथ लग गया जिसकी मदद से वो अपनी खोई जमीन को वापस पा सकते हैं। जामिया से सटे शाहीन बाग इलाके में कुछ नारे गूंजे में जिसमें सुनाई पड़ रहा है कि कुछ लोग कह रहे हैं कि उन्हें जिन्ना वाली आजादी चाहिए। इसके साथ ही वो कहते हैं कि हम मार के लेंगे आजादी।

इस वीडियो को बीजेपी की तरफ से जारी किया गया जिसमें आरोप लगाया जा रहा है कि कांग्रेस के लोग छात्रों और लोगों को बरगलाने का काम कर रहे हैं। लेकिन कांग्रेस को वीडियो की प्रामणिकता पर शक है। वीडियो की शुरुआत गांधी वाली आजादी, नेहरू वाली आजादी, अशफाकउल्ला वाली आजादी से शरू होती और उसमें जिन्ना वाली आाजदी का नारा भी बुलंद होने लगता है। बीजेपी का कहना है कि वो देश को बताए कि क्या उसे जिन्ना से मोहब्बत है। क्या उसे ऐसा लगता है कि इस देश को जिन्ना की विचारधारा पर चलना चाहिए। 

वीडियो के विरोध और अपनी पार्टी के बचाव में कांग्रेस सांसद शशि थरूर उतरे और कहा कि बीजेपी की तरफ से डॉक्टर्स वीडियो जारी किया गया है। यही नहीं बीजेपी पूरे आंदोलन को बदनाम करने में जुट गई है। बीजेपी को पता है इस समय जनमानस उनके खिलाफ है तो वो ध्रुवीकरण की राजनीति में जुट गए हैं। शशि थरूर ने कहा कि आप ने देखा होगा कि पहले भी बीजेपी इस तरह की मुहिम चलाती रही है। जेएनयू में जो नारेबाजी हुई थी उसके पीछे कौन लोग सही माएने में जिम्मेदार थे पता नहीं चल सका। दरअसल बीजेपी अपनी ही बुनी जाल में फंस चुकी है। इसलिए कांग्रेस को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है। 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...