दिल्‍ली में थम नहीं रहे संक्रमण के मामले, कंटेनमेंट जोन अब 122 , अभी नहीं चलेगी मेट्रो

Delhi coronavirus cases : राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में पिछले दो दिनों में लगातार 1100 से अधिक पॉजिटिव केस दर्ज किए गए हैं। इस बीच दिल्‍ली में फिलहाल मेट्रो सेवा शुरू किए जाने की अटकलों पर भी विराम लग गया है।

दिल्‍ली में थम नहीं रहे संक्रमण के मामले, कंटेनमेंट जोन अब 122 , अभी नहीं चलेगी मेट्रो
दिल्‍ली में थम नहीं रहे संक्रमण के मामले, कंटेनमेंट जोन अब 122 , अभी नहीं चलेगी मेट्रो  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • दिल्‍ली में संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, बीते 24 घंटों के दौरान यहां रिकॉर्ड 1163 नए मामले दर्ज किए गए हैं 
  • राष्‍ट्रीय राजधानी में यह लगातार दूसरा दिन है, जब यहां संक्रमण के मामले 24 घंटों में 1100 से अधिक दर्ज किए गए हैं
  • दिल्‍ली में कंटेनमेंट जोन 122 हैं, जहां लॉकडाउन 30 जून तक जारी रहेंगे, हालांकि अन्‍य क्षेत्रों में गतिविधियां संचालित होंगी


नई दिल्‍ली : राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। शनिवार को भी यहां संक्रमण के रिकॉर्ड 1163 नए मामले दर्ज किए गए, जिसके बाद दिल्‍ली में संक्रमण का कुल आंकड़ा बढ़कर 18 हजार के पार हो गया। यहां बीते 24 घंटों में 18 लोगों की जान इस घातक संक्रमण से गई है, जिसके बाद मृतकों की संख्‍या बढ़कर बढ़कर 416 हो गई है। दिल्‍ली में बढ़ते संक्रमण के बीच लोगों में जहां चिंता बढ़ती जा रही है, वहीं मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह कहते हुए आश्‍वस्‍त करने का प्रयास किया है कि यहां बीते कुछ दिनों नें केस तेजी से बढ़े जरूर हैं, लेकिन इसे लेकर घबराने की जरूरत नहीं है।

24 घंटों संक्रमण के रिकॉर्ड मामले

दिल्‍ली सरकार की ओर से शनिवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, राष्‍ट्रीय राजधानी में अब संक्रमण के मामले बढ़कर 18,549 हो गए हैं, जबकि अब तक 416 लोगों की जान इस घातक संक्रमण से गई है। दिल्‍ली में दो दिन पहले 28 मई को पहली बार 24 घंटों के भीतर 1000 से अधिक मरीज सामने आए थे, जिसके बाद यह संख्‍या लगातार बढ़ रही है। शुक्रवार, 29 मई को भी यहां संक्रमण के 1106 नए मामले दर्ज किए गए थे। दिल्‍ली में यह लगातार दूसरा दिन है, जब संक्रमण के 1100 से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं।

सीएम ने दिलाया लोगों को भरोसा

संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि उनकी सरकार कोरोना संकट से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्‍होंने यह भी कहा कि लॉकडाउन स्थायी नहीं हो सकता और अगर मामले बढ़ते भी हैं तो फिलहाल इस पर ध्‍यान देने की जरूरत है कि मौतों की संख्या कम से कम की जा सके। उन्होंने कहा, 'मैं मानता हूं कि मामले तेजी से बढ़े हैं। यह चिंता की बात है, लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है। हम कई इंतजाम कर रहे हैं, जो आवश्यकता से कहीं अधिक हैं। हम इससे निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।'

दिल्‍ली में अब 122 कंटेनमेंट जोन

इस बीच केंद्र सरकार ने 31 मई को समाप्‍त हो रहे लॉकडाउन के बाद के कदमों का ऐलान कर दिया है। सरकार ने 1 जून से 30 जून के बीच लॉकडाउन सिर्फ कंटेनमेंट जोन में रखे जाने की घोषणा की है, जबकि अन्‍य क्षेत्रों में चरणबद्ध तरीके से गतिविधियां शुरू किए जाने की बात कही है। दिल्‍ली में फिलहाल 122 कंटेनमेंट जोन हैं, जहां लॉकडाउन 30 जून तक जारी रहेगा, जबकि अन्‍य क्षेत्रों में गतिविधियां संचालित होंगी। यहां सबसे अधिक 24 कंटेनमेंट जोन नॉर्थ दिल्‍ली में हैं, जबकि सबसे कम 3 कंटेनमेंट जोन नई दिल्‍ली के अंतर्गत हैं।

अभी नहीं चलेगी मेट्रो

कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन 5.0 के ऐलान के साथ ही सरकार ने अन्‍य क्षेत्रों में जो गतिविधियां शुरू करने की बात कही है, उसे अनलॉक-1 नाम दिया गया है, जिसके तहत तीन चरणों में विभिन्‍न गतिविधियां शुरू की जाएंगी। इसके साथ ही दिल्‍ली में मेट्रो ट्रेन का संचालन फिर से शुरू किए जाने की अटकलों पर भी विराम लग गया है, क्‍योंकि गृह मंत्रालय की ओर से जो दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं, उसके मुताबिक, अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों, दिल्‍ली मेट्रो के परिचालन का फैसला तीसरे चरण में उस समय की परिस्थितियों के आधार पर लिया जाएगा। गृह मंत्रालय की ओर से अनलॉक-1 को लेकर दिशा-निर्देश जारी होने के बाद DMRC की ओर से कहा गया है कि अगले नोटिस तक दिल्‍ली में मेट्रो सेवा बंद रहेगी।

अगली खबर