Delhi Chunav 2020: बीजेपी की तरफ से वीडियो जारी, महिला सुरक्षा पर केजरीवाल के दावों की खोली पोल

महिला सुरक्षा के नाम पर बड़े बड़े वादे और दावे करने वाली केजरीवाल सरकार की बीजेपी ने पोल खोलने की कोशिश की है। एक वीडियो जारी कर बीजेपी ने ये बताने की कोशिश की है यह आम आदमी पार्टी का सच है।

Delhi Chunav 2020: बीजेपी की तरफ से वीडियो जारी, महिला सुरक्षा पर केजरीवाल के दावों की खोली पोल
दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी और आप में वीडियो वार 

मुख्य बातें

  • दिल्ली में आठ फरवरी को मतदान, 11 फरवरी को आएंगे नतीजे
  • बीजेपी और आम आदमी पार्टी के बीच वीडियो वार
  • महिला सुरक्षा के मुद्दे पर केजरीवाल सरकार के दावों की बीजेपी ने खोली पोल

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा की सभी 70 सीटों पर 8 फरवरी को मतदान होगा और नतीजे 11 फरवरी को आएंगे। बीजेपी जहां एक तरफ दिल्ली की सत्ता पर कब्जा करने की कोशिश में है तो आम आदमी पार्टी अपने वादों और दावों की दुहाई देते हुए लोगों से एक बार फिर मौका देने की अपील कर रही है। कुछ दिनों पहले आम आदमी पार्टी की तरफ से एक वीडियो जारी कर बताया कि उनके ऊपर बीजेपी और कांग्रेस की तरफ से तमाम तरह के हमले करने की कोशिश की गई। लेकिन वो एक मजबूत दीवार की तरफ काम करते रहे जिसे कोई गिरा न सका। लेकिन बीजेपी की तरफ से एक वीडियो जारी कर बताया जा रहा है केजरीवाल सरकार महिलाओं की सुरक्षा की बड़े बड़े वादे करती है। लेकिन उसकी हकीकत कुछ और ही है। 

बीजेपी ने महिला सुरक्षा के मुद्दे पर जो वीडियो जारी की है उसमें निर्भया केस से लेकर आप के मंत्रियों और विधायकों की फेहरिश्त दी गई है जिसमें कहा जा रहा है कि उनकी करतूतें सबकुछ बयां कर रही हैं। बीजेपी का कहना है कि आम आदमी पार्टी अगर महिला सुरक्षा के बड़े बड़े वादे कर रही है तो कुछ ऐसी घटनाएं हुई हैं जिसके बारे में केजरीवाल सरकार को बताने की जरूरत है। 


बीजेपी द्वारा जारी वीडियो की शुरुआत निर्भया केस में बरी हुए नाबालिग से है। बीजेपी का कहना है कि जो शख्स निर्भया के साथ हुए कुकृत्य में शामिल था उसे आप सरकार ने 10 हजार रुपए की मदद के साथ सिलाई मशीन दी थी। क्या यही महिला सुरक्षा है। यही नहीं आम आदमी पार्टी के एक विधायक सोमनाथ भारती ने किस तरह से अपनी पत्नी के साथ अमानवीयता की हद पार कर दी थी। इसके साथ ही केजरीवाल सरकार के एक मंत्री ने कैसे राशन कार्ड बनवाने के नाम पर महिला का शोषण करते थे। अगर यही सब महिला सुरक्षा के लिए केजरीवाल सरकार की सोच है तो जनता निश्चित तौर पर सवाल पूछ रही है जिसका जवाब मिलना चाहिए। 

 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...