हम चीन के खिलाफ दो मोर्चों पर लड़ रहे हैं युद्ध, दिल्ली में मिल रहा हैं केंद्र का पूरा सहयोग: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में केंद्र सरकार का पूरा सहयोग मिल रहा है।

Arvind Kejriwal says Our country is fighting 2 wars against China  one at border & another against virus from China
हम चीन के खिलाफ दो मोर्चों पर लड़ रहे हैं युद्ध 

मुख्य बातें

  • कोरोना के खिलाफ मिलकर लड़ेंगे और जीतेंगे युद्ध- केजरीवाल
  • केजरीवाल बोले- आपस में लड़ेंगे तो कोरोना जीता जाएगा, यह वक्त राजनीति का नहीं
  • चीन के खिलाफ दो युद्ध लड़े जा रहे हैं, बार्डर पर सेना तो यहां स्वास्थ्यकर्मी लड़ रहे हैं- केजरीवाल

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में कोरोना से लड़ाई के लिए तमाम इंतजाम किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज हम चीन के ख़िलाफ़ दो युद्ध लड़ रहे हैं- भारत चीन बॉर्डर सैनिक पर और चीन से आए वाइरस के ख़िलाफ़। उन्होंने कहा कि बॉर्डर पर हमारे 20 वीर जवान पीछे नहीं हटे औऱ हम भी पीछे नहीं हटेंगे और दोनों युद्ध जीतेंगे।

केंद्र की मदद से हो रहे हैं एंटीजेन टेस्ट

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, 'एक हफ्ते के अंदर केवल 1 हजार केस बढ़े हैं। एक तरह से ऐसा लग रहा है कि कुछ स्टेब्लेटी आई है। पहले 5 हजार टेस्ट होते थे अब डेली 18 हजार टेस्ट हो रहे हैं। कुछ लैब्स ने गड़बड़ी की थी जिसपर हमने सख्ती बरती क्योंकि ये निगेटिव को भी पॉजिटिव बता रहे थे। केंद्र की मदद से दिल्ली में एंटीजन टेस्ट भी हो रहे हैं जिसके रिजल्ट तुरंत मिल जाते हैं।'

केंद्र का मिल रहा है सहयोग

कोरोना की स्थिति के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा, 'जिन लोगों का इलाज हम घर पर करते हैं, जिनें हल्के सिंपटम हैं उनका इलाज घर पर ही होता है। हमारी टीम डेली उनको फोन कर पूछती है कि उन्हें किस तरह की दिक्कत हो रही है और सलाह देती है कि क्या-क्या करना है। इस बीमारी में एक ही चीज सबसे अधिक होती है वह है ऑक्सीजन की समस्य़ा। अगर मरीजों को समय पर ऑक्सीजन मिल जाए तो वह तुरंत सही हो जाएगें। अब दिल्ली सरकार होम क्वारंटीन वालों को एक पल्स मीटर देगी तांकि किसी को दिक्कत ना हो। अगर इसके बाद भी आपको ज्यादा दिक्कत होती है तो आप दिए गए नंबर पर कॉल कर सकते हैं तांकि अस्पताल ले जाकर इलाज कराया जा सके। ये पल्स मीटर ठीक होने के बाद वापस करने होंगे।'

खाली हैं 7 हजार बेड
अस्पतालों के बारे में बात करते हुए केजरीवाल ने कहा, '12 दिनों में 13 हजार नए मरीज आए लेकिन 900 बेड्स की जरूरत पड़ी। इसका कारण यह है कि जितने मरीज आ रहे हैं वहीं ठीक भी हो रहे हैं। दूसरा कारण यह है कि होम आइसोलेशन पर भी इलाज हो रहा है। आज की तारीख में 7 हजार बेड खाली है जबकि 6200 बेड भरे हैं। केंद्र सरकार की तरफ से पूरा सहयोग मिल रहा है, हमें साथ मिलकर कोरोना से लड़ना है। कोई राजनीति नहीं करनी होगी।'

अगली खबर