उन्नाव रेप पीड़िता की हालत नाजुक, परिजन चाहते हैं हैदराबाद की तरह हो आरोपियों का एनकाउंटर

क्राइम
Updated Dec 06, 2019 | 18:08 IST | रामानुज सिंह

यूपी के उन्नाव में रेप बलात्कार पीड़िता को जिंदा जला दिया गया। वह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में जिंदगी के लिए जंग लड़ रही है। 

Unnao rape: उन्नाव रेप पीड़िता की हालत नाजुक, परिजन चाहते हैं हैदराबाद की तरह हो आरोपियों का एनकाउंटर
Unnao rape survivor  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • उन्नाव रेप पीड़िता को 5 लोगों ने किरोसिन डालकर जला दिया था, वह 90% से अधिक जल चुकी है
  • दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है, डॉक्टरों का कहना है कि बचने की संभावना बहुत कम है
  • मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है, उधर पीड़िता के परिजनों को जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं

नई दिल्ली : उन्नाव बलात्कार पीड़िता की हालत गंभीर है और उसके बचने की संभावना कम है। सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल सुप्रीडेंट (एमएस) डॉ. सुनील गुप्ता ने कहा कि उसकी हालत बहुत गंभीर है। हालांकि, कुछ वाइटल्स ठीक चल रही हैं। लेकिन कभी-कभी यह बिगड़ जाता है। उन्होंने कहा कि चूंकि वह 90% से अधिक जल चुकी हैं, इसलिए उनके बचने की संभावना कम है। बर्न और प्लास्टिक विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार इस मामले की बारीकी से निगरानी रख रहे हैं। 23 वर्षीय इस पीड़िता को गुरुवार रात लखनऊ के एसएमसी सरकारी अस्पताल से राष्ट्रीय राजधानी के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

गौर हो कि इस महिला ने इस साल मार्च में एक बलात्कार का मामला दर्ज कराया था, जो उन्नाव में एक स्थानीय कोर्ट में चल रहा है। पुलिस के अनुसार, शुभम, शिवम, हरिशंकर, उमेश और राम किशोर के रूप में पहचाने गए पांच लोगों ने कथित तौर पर महिला पर केरोसिन फेंका और जला दिया था। उस समय वह बलात्कार के मामले में सुनवाई के लिए कोर्ट जा रही थी। गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना का संज्ञान लिया था और कहा कि पीड़िता के इलाज का खर्च सरकार उठाएगी और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

जांच के लिए एसआईटी का गठन
लखनऊ के कमिश्नर मुकेश मेश्राम ने एडिशनल एसपी के नेतृत्व में 5 सदस्यीय एसआईटी का गठन किया है और पूरी घटना के बारे में रिपोर्ट जल्द प्रस्तुत करने को कहा है। कमिश्नर ने कहा कि गुरूवार शाम को मैंने सीनियर अधिकारियों के साथ घटनास्थल का दौरा किया और उन्नाव के एडिशनल एसपी विनोद पांडेय के नेतृत्व में 5 सदस्यीस एसआईटी का गठन किया। इस टीम को पूरे मामले की गहन जांच पड़ताल कर जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट सौंपने को कहा है। जांच रिपोर्ट जल्द ही उनके पास आ जाएगी जिसे शासन को भेज दिया जाएगा।

परिजनों ने हैदराबाद की तरह एनकाउंटर की मांग की 
हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर की रेप के बाद हत्या मामले के चारों आरोपियों के एनकाउंटर में मारे जाने से उन्‍नाव के बिहार थाना इलाके में रेप पीड़ित उस युवती के परिजनों ने कहा कि इसी तरह का न्‍याय हमें भी चाहिए। पीड़िता के पिता और चाचा ने कहा कि इससे अपराधियों में डर बैठेगा नहीं तो आज हमारे साथ हुआ, कल किसी दूसरे के साथ होगा और फिर किसी और के साथ, ऐसे इस तरह की घटनाओं का सिलसिला चलता रहेगा। 

पीड़िता के परिजनों को जान से मारने की मिली धमकी
पीड़िता को जिंदा जलाने वाले एक आरोपी के रिश्तेदार ने पीड़िता के चाचा-चाची को जान से मारने की धमकी दी। पीड़िता के चाचा गंगाघाट थाना इलाके के सीताराम कालोनी में किराए के मकान में रहकर एक छोटी सी दुकान चलाते हैं। पीड़िता के चाचा के मुताबिक आरोपी शिवम के फूफा ने फोन करके धमकी दी कि वे उनकी दुकान जला देंगे और जीने नहीं देंगे। 

गौर हो कि उन्नाव के बिहार पुलिस स्टेशन के इलाके में रेप पीड़िता को गुरुवार तड़के 5 लोगों ने आग के हवाले कर दिया था। घटना में शामिल सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया था। युवती ने शिवम और शुभम नामक युवकों पर 12 दिसंबर 2018 को बलात्कार का मामला दर्ज करवाया था। युवती केस की पैरवी मैं रायबरेली जाने के लिए सुबह करीब 4 बजे बैसवारा रेलवे स्टेशन जा रही थी। तभी रास्ते में बिहार-मौरांवा मार्ग पर शिवम और शुभम ने अपने साथियों की मदद से उस पर किरोसिन उड़ेलकर आग लगा दी। इससे पीड़िता 90 प्रतिशत तक झुलस गई।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर