तेलंगाना : क्लास मॉनीटर के चुनाव में हारने पर 8वीं कक्षा के छात्र ने कर ली आत्महत्या

क्राइम
Updated Jul 20, 2019 | 12:44 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

तेलंगाना में आठवीं कक्षा के एक छात्र ने क्लास लीडर के चुनाव में हारने पर सुसाइड कर लिया।

8th student suicide
8वीं के छात्र ने की आत्महत्या  |  तस्वीर साभार: Representative Image

तेलंगाना : तेलंगाना में आठवीं कक्षा के 13 वर्षीय एक छात्र ने क्लास मॉनीटर के चुनाव में हारने पर आत्महत्या कर ली। हाल ही में उसके स्कूल में क्लास मॉनीटर का चुनाव कराया गया था जिसमें वह हार गया इस बात का उसे इतना गहरा धक्का लगा कि उसने आत्महत्या जैसा कठोर कदम उठा लिया। 

मृतक की पहचान चरन के रुप में हुई है और उसका शव शुक्रवार को रमन्नापेट इलाके में रेलवे ट्रैक पर पाया गया। वह गुरुवार शाम से ही लापता बताया जा रहा था। 

इलाके के डीसीपी नारायण रेड्डी ने एएनआई से बात करते हुए बताया कि 13 वर्षीय छात्र के अभिभावक की तरफ से हमें शिकायत मिली कि वह गुरुवार शाम से ही लापता है। उसके बाद फौरन थाने में इस संबंध में एक गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई और उसी शाम उसका शव रेलवे ट्रैक के पास पाया गया। 

ऐसा बताया जाता है कि वह क्लास के मॉनीटर के चुनाव में हार गया था और पिछले कुछ दिनों से काफी तनाव में चल रहा था। वह आठवीं कक्षा का छात्र है, तीन दिनों पहले ही स्कूल प्रबंधन ने उसकी कक्षा में क्लास लीडर का चुनाव कराया था और वह एक छात्रा के विरुद्ध ये चुनाव हार गया। इसी बात से वह काफी डिस्टर्ब था और उसने सुसाइड कर लिया। 

मृतक छात्र के शव को स्थानीय सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस ने बताया कि अगर उसके अभिभावक स्कूल प्रबंधन के खिलाफ शिकायत दर्ज कराना चाहते हैं तो हम इस संबंध में मामला दर्ज कर इसकी तहकीकात शुरू करेंगे। 

उसके शव को चित्याल और रामन्नापेट स्टेशन के बीच पाया गया। नालगोडा रेलवे पुलिस सब इंस्पेक्टर बी अच्युतम ने बताया कि 16 जुलाई को उसके स्कूल में क्लास रिप्रेजेंटेटिव चुनने के लिए चुनाव कराया गया। चुनाव में हारने के बाद वह अवसाद में चला गया था। 

उसने घर पर बताया कि वह छह वोटों से चुनाव हार गया था। गुरुवार को उसने स्कूल छात्रों के बीच मिठाई बांटी और बताया कि वह क्लास का सेकेंड लीडर चुना गया है। चरन की मां विजय लक्ष्मी ने बताया कि मैंने उसके दोस्तों से सुना की दूसरा लीडर जैसा कोई भी नेता नहीं चुना गया है।

घर आने के बाद उसने कहा था कि वह कुछ काम से किराने के दुकान जा रहा है। उसकी मां ने बताया कि वह रात 8 बजे तक भी घर वापस नहीं लौटा तो हम उसकी तलाश में निकले। उसने बताया कि उसका चेहरा काफी उदास दिख रहा था। हमें लगता है कि स्कूल में क्लास चुनाव में हारने के बाद उसने आत्महत्या कर ली होगी। 

 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर