मेडिकल स्टोर पर लगाया गलत इंजेक्शन, मासूम बच्चे की गई जान

क्राइम
Updated Aug 05, 2019 | 10:51 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर में गलत इंजेक्शन देने की वजह से एक 9 महीने के बच्चे की मौत हो गई। पुलिस फरार आरोपियों की तलाश कर रही है।

9 month baby death
गलत इंजेक्शन की वजह से हुई 9 महीने के बच्चे की मौत  |  तस्वीर साभार: Representative Image

मुख्य बातें

  • सूरजपुर में गलत इंजेक्शन की वजह से एक मासूम की जान चली गई
  • मेडिकल संचालक ने खुद को डॉक्टर बताकर किया इलाज
  • पुलिस कर रही है फरार आरोपियों की तलाश

ग्रेटर नोएडा।  9 month baby death after given wrong injection: उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है, यहां गलत इंजेक्शन देने की वजह से एक 9 महीने के बच्चे की मौत हो गई। ये घटना ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर की है। पुलिस ने बताया बुलंदशहर के डिबाई निवासी कुमर सैन ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर में किराए के मकान पर रहते है। शनिवार को उनकी बेटे पुष्पेंद्र  की अचानक तबीयत खराब हो गई वो उसके एक मेडिकल स्टोर पर लेकर गए।

वहां उन्होंने मेडिकल स्टोर संचालक से किसी अच्छे डॉक्टर के बारे में पूछा, लेकिन स्टोर संचालक ने खुद को ही डॉक्टर बताया और उनसे कहा वो उनके बेटे को बिल्कुल ठीक कर देगा। थोड़ी देर में मेडिकल संचालक ने अपने यहां काम करने वाले कर्मचारी से बच्चे को इंजेक्शन लगाने के लिए बोला। इसके बाद पीड़ित परिवार अपने 9 महीने के बच्चे को घर ले जाने के लिए निकल गया।

बच्चा जब घर पुहंचा तो उसी के थोड़ी देर बाद बच्चे की तबीयत ज्यादा बिगड़ने लगी, जिसके बाद उसके पिता कुमर सैन बच्चे को अस्पताल ले जाने के निकले, लेकिन बच्चे ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। घटना के बाद पीड़ित परिवार ने मेडिकल स्टोर संचालक पर गलत इंजेक्शन लगाने का आरोपी लगाया है। घटना के बाद पीड़ित परिवार ने सूरजपुर कोतवाली पहुंचकर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा किया। बच्चे की मौत से पीड़ित परिवार के परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है। इस घटना से पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। 

पुलिस ने आरोपी स्टोर संचालक और उसके कर्मचारी नीरज पर आईपीसी (IPC) की धारा 304 ए (लापरवाही के कारण मौत) के तहत लापरवाही का मामला दर्ज किया है। दोनों आरोपी स्टोर बंद कर वहां से फरार हो गए। पुलिस फरार आरोपियों की तलाश में जुटी है। डॉक्टरों की लापरवाही के चलते हर दिन ऐसे मामले सामने आते है। काफी बार ऐसा होता है कि पैसों की तंगी के चलते डॉक्टर इलाज करने से मना कर देते है, जिससे समय पर इलाज न हो पाने की वजह से जान चली जाती है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर