UP: आगरा में रिटायर्ड सैन्य अधिकारी से 10 लाख की धोखा-धड़ी, साइबर सेल ने ऐसे किया खुलासा

Online cheats dupe retired army general in Agra: आगरा पुलिस ने दिल्ली में रहने वाले एक सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी से ठगे गए करीब 10 लाख रुपए पुलिस बरामद कर लिए हैं।

Online Cheating Representational Image
जालसाज ने लिंकडिन पर दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में रहने वाले पूर्व सेना अधिकारी से संपर्क किया 

मुख्य बातें

  • जालसाज ने लिंकडिन पर पूर्व सैन्य अधिकारी से संपर्क किया
  • उस व्यक्ति की पहचान कियोशी निजुगुची के रूप में की गई
  • जालसाजों ने खनिज की खरीद पर पूर्व सैन्य अधिकारी को कमीशन का आश्वासन दिया

नई दिल्ली: एक बड़ी सफलता में, आगरा पुलिस के साइबर सेल ने नई दिल्ली में रहने वाले एक सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी से ऑनलाइन ठगे गए 10.50 लाख रुपये बरामद किए हैं। जालसाजों ने फर्जी व्यापार प्रस्ताव के बहाने सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल को धोखा दिया था, जालसाजों ने उन्हें विदेशी दवा कंपनियों को खनिज निर्यात करने का बिजनेस स्थापित करने का वादा किया था।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, जालसाज ने लिंकडिन पर दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में रहने वाले रिटायर्ड सैन्य अधिकारी से संपर्क किया। उस व्यक्ति की पहचान कियोशी निजुगुची के रूप में की गई थी जो एक फार्मा फर्म से जुड़ा था।

रिपोर्ट में अधिकारी की प्राथमिकी के हवाले से कहा कि दिसंबर 2019 में निजुगुची ने मुझे अपनी कंपनी का प्रतिनिधित्व करने और पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में स्थित सानू खनन समूह से कुछ खनिज खरीदने के लिए कहा। खनन समूह नकली निकला। रिटायर्ड सैन्य अधिकारी ने कहा कि बाद में आरोपियों ने मुझे फर्जी खनन कंपनी की आरती मुखर्जी नामक एक महिला से संपर्क करने के लिए कहा।  

कोर्ट की अनुमति मिलने के बाद यह पैसा पूर्व-सेना अधिकारी को सौंप दिया जाएगा

कुछ संपर्क और ई-मेल एक्सचेंजों के बाद धोखेबाजों ने पूर्व सैन्य अधिकारी को इस बात के लिए राजी कर लिया कि वह आरती से 10.50 लाख रुपये के खनिजों की खेप खरीदेंगे।निज़ुगुची ने यह भी बताया कि उनकी फर्म के कर्मचारी खनिज की खेप लेने आएंगे। जालसाजों ने खनिज की खरीद पर रिटायर्ड सैन्य अधिकारी को 7 प्रतिशत कमीशन का आश्वासन दिया। जब कोई खेप लेने नहीं पहुंचा, तो उन्होंने दिल्ली पुलिस से संपर्क किया।

आगरा आईजी रेंज साइबर सेल प्रभारी शैलेश कुमार ने कहा कि जांच के दौरान हमने पैसे का एक हिस्सा बैंक खाते में बरामद कर लिया, जिसे फ्रीज कर दिया गया और वह रकम करीब 10.50 लाख रुपए थी। आगरा में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि अदालत की अनुमति मिलने के बाद यह पैसा रिटायर्ड सैन्य अधिकारी को सौंप दिया जाएगा।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर