Mukhtar Ansari: बांदा जेल में बंद  मुख्तार अंसारी हुआ बेहाल, कहा कमर में दर्द है बेड-तकिया और कूलर दें

क्राइम
रवि वैश्य
Updated Apr 14, 2021 | 06:45 IST

Mukhtar Ansari latest news:मुख्‍तार अंसारी को बांदा जेल में प्रॉब्लम हो रही है बताते हैं कि मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मऊ की कोर्ट में हुई पेशी के दौरान मुख्‍तार ने कुछ सामान की मांग की है।

Mukhtar Ansari in banda jail
जेल के आम कैदियों की तरह ही मुख्तार का बिस्तर जमीन पर लगा हुआ है 

मुख्य बातें

  • मुख्‍तार ने कोर्ट को बताया कि उन्‍हें कमर में दर्द की शिकायत है
  • बताते हैं कि शुगर और ब्लड प्रेशर के मरीज मुख्तार को आंखें भी परेशान कर रही हैं
  • मुख्तार अंसारी को जेल में बना हुआ खाना ही मिल रहा है

हाल ही में पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल शिफ्ट किए गए विधायक मुख्‍तार अंसारी की मंगलवार को मऊ सीजेएम कोर्ट में पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए की गई। यह पेशी फर्जी शस्त्र लाइसेंस के मामले हुई, इस मामले में मुख्‍तार अंसारी को साजिशकर्ता बनाया गया है वहीं पुलिस प्रशासन द्वारा कोर्ट से मांग की गई थी कि मुख्तार अंसारी को व्यक्तिगत रूप से मऊ न्यायालय में उपस्थित किया जाए।

लेकिन कोर्ट ने पुलिस की मांग को खारिज करते हुए 60 दिनों की ज्यूडिशियल रिमांड दे दी है अगली तारीख 11 जून 20121 है वहीं मुख्तार अंसारी ने पेशी के दौरान कोर्ट से  मांग की है कि चिकित्सकीय परीक्षण के अनुसार मुझे तकिया, बेड, कुर्सी, कूलर व फिजियोथेरेपी की व्यवस्था उपलब्ध कराई जाए। 

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मऊ की कोर्ट में हुई पेशी के दौरान मुख्‍तार ने तकिया, हार्ड बेड या तख्‍त और कुर्सी की मांग की।

मुख्‍तार ने कोर्ट को बताया कि उन्‍हें कमर में दर्द की शिकायत है, इसके लिए डॉक्‍टर ने फिजियोथेरेपी की सलाह दी है उन्‍होंने जेल में एक फिजियोथेरेपिस्‍ट उपलब्‍ध कराने की भी मांग की बताते हैं कि गैंगस्टर कोर्ट ने बांदा जेल को आदेशित करते हुए कहा कि ये सब व्यवस्था की जाएं।

मुख्तार अंसारी को इस बार जेल मैन्युअल के हिसाब से रहना पड़ रहा है

बताते हैं कि शुगर और ब्लड प्रेशर के मरीज मुख्तार को आंखें भी परेशान कर रही हैं उसे कम दिखाई देने लगा है।मुख्तार अंसारी को इस बार जेल मैन्युअल के हिसाब से जेल में रहना पड़ रहा है जेल के आम कैदियों की तरह ही मुख्तार का बिस्तर जमीन पर लगा हुआ है।

मुख्तार यहां के मच्छरों से बेहद परेशान है

मुख्तार को जेल में बना हुआ खाना ही मिल रहा है और उसे जो खाना दिया गया है, जेल सूत्रों के मुताबिक उसे जेल का खाना पसंद नही आया। वहीं वो यहां के मच्छरों से बेहद परेशान है और उसे नींद नहीं आ रही है, हालांकि बताते हैं कि अब उसकी मांग पर जेल प्रशासन ने नियमों के तहत उसे मच्छर दानी दे दी है।

अपराध की दुनिया में अंसारी का नाम 1990 के दशक में शुरू हुआ

मुख्तार अंसारी यूपी पुलिस के हत्थे न चढ़े इसके लिए तमाम हथकंडे अपनाए लेकिन सुप्रीम कोर्ट में उसकी हर चाल धरी की धरी रह गई। शीर्ष अदालत के आदेश के बाद पंजाब की सरकार ने उसे यूपी पुलिस को सौंपा।अंसारी अब बांदा की जेल में बंद है कोर्ट में यूपी सरकार ने दलील दी थी कि अंसारी के खिलाफ  गुनाहों की फेहरिस्त लंबी है जिनका निपटारा किया जाना है।

फिरौती के एक मामले में यह गैंगस्टर पंजाब की रूपनगर जेल में जनवरी 2019 से बंद था। अपराध की दुनिया में अंसारी का नाम 1990 के दशक में शुरू हुआ। शुरुआत में वह प्रॉपर्टी एवं ठेके का काम करना शुरू किया और फिर धीरे-धीरे जरायम की दुनिया में कदम रखा। नवंबर 2005 में उस पर भारतीय जनता पार्टी  के विधायक कृष्णानंद राय की हत्या कराने के आरोप उस पर लगे।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर