कानपुर एनकाउंटर: विकास दुबे के पास थी पुलिस के हर मूवमेंट की खबर, कॉल डिटेल्स में कई पुलिसवालों के नंबर!

क्राइम
किशोर जोशी
Updated Jul 04, 2020 | 11:38 IST

कानपुर में गुरुवार देर रात विकास दुबे के गैंग के साथ हुई मुठभेड़ में एक पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गये। जांच में जुटी पुलिस को कई हैरान करने वाले तथ्य हाथ लग रहे हैं।

Kanpur Encounter Vikas Dubey had the full details of police movement
विकास दुबे की कॉल डिटेल्स में कई पुलिसवालों के नंबर! 

मुख्य बातें

  • पुलिस महकमे के भेदिये ही दी थी विकास को हर मूवमेंट की जानकारी
  • जांच में जुटी पुलिस कर रही है हर एंगल से जांच, एक दारोगा पर भी नजर
  • गुरुवार रात हुए एक वारदात में विकास दुबे के गैंग के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए थे 8 पुलिसकर्मी

कानपुर: हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे और उसके गैंग के सदस्यों द्वारा जिस तरह से सुनियोजित तरीके से पुलिस वालों की हत्या की गई उससे पुलिस विभाग की गोपनीयतता पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं। एक सवाल जो सबसे पहले मन में आता है वो ये है कि आखिर कैसे विकास दुबे के पास पुलिस के हर मूवमेंट की खबर थी? इस बात के पूरे आसार हैं कि विकास का मुखबिर पुलिस महकमे में ही मौजूद था।

पुलिस में ही मौजूद है गैंगस्टर का 'खबरी'!

ज्यों ज्यों इस खौफनाक वारदात की जांच आगे बढ़ रही है इसमें कई खुलासे हो रहे हैं। खबर के मुताबिक विकास दुबे की जो कॉल डिटेल्स पुलिस के हाथ लगी है वो हैरान करने वाली है क्योंकि इसमें कई पुलिसवालों के भी नंबर हैं। वारदात से कुछ समय पहले ही विकास दुबे ने एक दारोगा से भी बात की थी। दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक, अधिकारियों को आशंका है कि महकमे के ही किसी शख्स ने विकास को पुलिस के हर मूवमेंट की जानकारी दी थी।

दारोगा और सिपाही पर नजर
खबर के मुताबिक शक के आधार पर एक थाने के दारोगा, सिपाही और होमगार्ड की कॉल डिटेल्स खंगाली जा रही है और रिपोर्ट के आधार पर कड़ी कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। हमलावरों के पास पुलिस के आने से पहले ही सूचना मिल गई थी जिसके बाद रास्ता रोकने के लिए जेसीबी लगा दी गई थी। जेसीबी को इस तरह से लगाया गया था कि अगर पुलिसवाले पैदल चलें तो वो हमलावरों के हथियारों की रेंज में आ जाएं और हुआ भी ऐसा ही।

शूटर गैंग को विशेष रूप से बुलाया था
दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक विकास दुबे ने हत्याकांड को अंजाम देने के लिए विशेष रूप से शूटर गैंग को बुलाया था जिसने निशाना साधकर फायरिंग की। पुलिस ने इस मामले में 500 मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाए गए हैं। पुलिस हत्यारों को पकड़ने के लिए लगातार दबिश दे रही है और जिले की सारी सीमाएं सील की गई हैं। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर