गुरुग्राम : 7 साल के बेटे के सामने कपल की चाकू मार कर हत्या, किराए के मकान से खून से लथपथ शव बरामद

क्राइम
Updated Sep 13, 2019 | 10:08 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

गुरुग्राम के उद्योग विहार में स्थित एक मकान से एक कपल की खून से लथपथ शव बरामद किए जाने से इलाके में सनसनी फैल गई। पुलिस ने इस मामले में एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया है।

couple stabbed to death
घर से कपल का शव हुआ बरामद (प्रतीकात्मक तस्वीर) 

नई दिल्ली : गुरुग्राम में एक कपल का शव उनके घर से बरामद किया गया। दोनों की उम्र 30 और 35 वर्ष के आस-पास बताई जाती है। इन दोनों के शव गुरुवार को गुरुग्राम के उद्योग विहार स्थित उनके किराए के मकान से बरामद किया गया। दोनों की पहचान विक्रम और ज्योति के रुप में हुई है। विक्रम और ज्योति की हत्या चाकू से मार कर की गई थी। खून से लथपथ उन दोनों का शव बिल्डिंग की दूसरी मंजिल से पाया गया।

पुलिस ने इस मामले में एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया है। विक्रम गुरुग्राम में ही एक प्राइवेट कंपनी में काम करता था जबकि उसकी पत्नी एक हाउसमेकर थी। यह घटना सुबह 4 बजे के आसपास घटी। इसका पता तब लगा जब उसी बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर रह रहा मकान मालिक जब उपर के फ्लोर पर किसी काम से गया तो उसने वहां जो नजारा देखा उसे देखकर दंग रह गया।

उसने उनके कमरो को चेक किया और वहां देखा कि उन दोनों का शव जमीन पड़ा है और खून की नदियां बह रही है। मकान मालिक उन दोनों को फौरन अस्पताल ले गया लेकिन वहां जाते ही डॉक्टरों ने उन दोनों को मृत घोषित कर दिया। ये दोनों मृतक उत्तर प्रदेश के कानपुर के बताए जाते हैं और पिछले 6 सालों से गुरुग्राम में रह रहे थे।

उनके एक सात साल का बेटा है। पुलिस गिरफ्तार किए गए संदिग्ध से फिलहाल पूछताछ कर रही है। उद्योग विहार के एसएचओ देवेंद्र कुमार ने बताया कि पुलिस उस परिवार के पड़ोसियों के पूछताछ कर रही है।   

पुलिस के मुताबिक उन दोनों के मर्डर के दौरान उनका 7 साल का बेटा भी घर पर ही था। हालांकि उसे किसी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचाया गया है। पुलिस ने मृतक व्यक्ति के एक कॉलेज फ्रेंड को इस संबंध में गिरफ्तार किया है। प्रारंभिक जांच में पता चलता है कि पैसों को लेकर ये झगड़ा हुआ हो सकता है। पीड़ित के परिवार के बयान के आधार पर अभिनव अग्रवाल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। 

विक्रम के साथ उसका छोटा भाई शैलेंद्र भी रहता था। उसने बताया कि अभिनव ने दो साल पहले उनसे 1.5 लाख रुपए की धोखाधड़ी की थी और कहा था कि वह उसे विदेश में नौकरी दिलवाएगा। इसके बाद विक्रम अक्सर उससे अपने पैसों की मांग करता था। काफी बहस के बाद वह आखिर घर पर उनसे बात करने के लिए आय़ा। वे दोनों छत पर शराब पीने चले गए जबकि शलैंद्र अपने कजन के घर सोने चला गया। इसी बीच रात में अभिनव ने विक्रम की चाकू मार कर हत्या कर दी उसी दौरान बीच बचाव करने आई उसकी पत्नी ज्योति की भी चाकू मार कर हत्या कर दी। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर