Goa: गरीबी से तंग आकर बीमार पत्नी को जिंदा दफनाया, पुलिस ने किया गिरफ्तार

क्राइम
Updated Dec 06, 2019 | 13:13 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

बीमारी, गरीबी और तंगी से परेशान होकर एक शख्स ने अपनी पत्नी को जिंदा ही दफना दिया। हालांकि उसने पुलिस को बताया कि उसने उसकी हत्या की थी फिर उसे दफनाया था।

man buried wife alive
शख्स ने पत्नी को जिंदा दफनाया  |  तस्वीर साभार: Representative Image

पणजी : एक शख्स ने अपनी बीमार पत्नी को जिंदा ही दफना दिया। दिल दहला देने वाली ये घटना गोवा के पणजी शहर से सामने आई है। खबर के मुताबिक बुधवार रात की इस घटना में 46 वर्षीय शख्स ने अपनी बीमार पत्नी को जिंदा दफना दिया। बिचोलिम में तुकाराम शेतगांवकर ने अपनी पत्नी को तिल्लारी सिंचाई परियोजना के पास कंस्ट्रक्शन साइट पर ले जाकर जिंदा दफना दिया। 

इस मामले का खुलासा तब हुआ जब गुरुवार को सुबह 10 बजे के करीब कुछ मजदूर कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करने के लिए गए। बिचोलिम पुलिस ने बताया कि जब मशीन की मदद से मिट्टी को हटाने का काम किया जा रहा था तब शेतगांवकर को जमीन के अंदर कुछ अजीब सा एहसास हुआ जिसके बाद उसने अपने साथियों को काम रोकने के लिए कहा।

लेकिन मजदूरों ने उसकी बात सुने बिना काम करना जारी रखा। इसके बाद शेतगांवकर ने मिट्टी से भरा हुआ एक बाल्टी बाहर निकाला। बाल्टी में एक महिला का शव पड़ा हुआ था जिसे जमीन के अंदर दफनाया गया था। शेतगांवकर ये देखकर फौरन वहां से भाग गया।  

पुलिस को इस बारे में सूचना दी गई जिसके बाद पुलिस टीम घटनास्थल पर पहुंची। घटनास्थल पर पहुंच कर पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया जिसे गोवा मेडिकल कॉलेज व हॉस्पीटल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

शक के आधार पर शेतगांवकर को पुलिस ने पूछताछ के लिए थाने में बुलाया जहां उसने हत्या का जुर्म कबूल कर लिया। उसने बताया कि उसने 44 वर्षीय अपनी पत्नी तन्वी की हत्या की। उसने बताया कि वह काफी दिनों से बीमार थी और बिस्तर पर थी। वे गरीबी के कारण काफी परेशान रहते थे जिसके कारण उसने अपनी पत्नी की हत्या करने का मन बनाया।

लेकिन उसे पता नहीं था कि उसकी पत्नी जिंदा है और उसने उसे दफना दिया। उसने बताया कि उसका 14 साल का बेटा बी बीमार है और इस कारण उसने स्कूल जाना छोड़ दिया है। पुलिस ने शेतगांवकर को गिरफ्तार कर लिया है।

अधिकारी ने बताया कि आरोपी छोटे-मोटे काम करके आजीविका कमाता था। उसने अपनी पत्नी की कथित रूप से हत्या कर दी क्योंकि वह उसके इलाज पर होने वाला खर्च वहन नहीं कर पा रहा था।

उन्होंने बताया कि बिचोलिम पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 302 (हत्या) और 201 (अपराध के सबूत छुपाने) के तहत मामला दर्ज किया है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर