बच्चा गोद दिलाने के नाम पर दिव्यांग विधवा महिला से लाखों की ठगी, पकड़े जाने पर किया मर्डर

एक ही परिवार के तीन लोगों के गिरोह ने एक दिव्यांग महिला से बच्चा गोद दिलाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी की। साथ ही पकड़े जाने पर एक हत्या को भी अंजाम दिया।

Jail
प्रतीकात्मक तस्वीर 

नई दिल्ली: शायद वह दिव्यांग महिला अपने जीवन के लिए सहारा ढूंढ रही थी और तभी अपनी भावनाओं के वशीभूत होकर अपने साथ हो रहे ठगी के खेल का अंदाजा नहीं लगा सकी। एक ही परिवार के तीन लोगों ने उसके साथ लाखों रुपए की ठगी कर ली और साथ ही पकड़े जाने पर एक युवक की हत्या कर दी। फिलहाल पुलिस ने मामले को सुलझा लिया है और तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली गई है।

ठगी करने वाले एक ही परिवार के सदस्य मां-पिता और उनका बेटा हैं। महिला दिव्यांग होने के साथ ही विधवा भी है और एक बच्चा गोद लेना चाहती थी। ठगी करने वाले गिरोह को इस बात का पता लगा और उन्होंने बच्चा गोद दिलाने की प्रोसेसिंग फीस के बहाने महिला से 4 लाख रुपए, गहने और जमीन के कागजात अपने पास रख लिए।

महिला इस साजिश को नहीं समझ सकी लेकिन इस बीच एक अन्य युवक को इसके बारे में पता चल गया। उसने आरोपियों से 1 लाख रुपए की मांग की और ऐसा नहीं करने पर साजिश का खुलासा करने की धमकी दी। पकड़े जाने पर आरोपियों ने युवक को मौत के घाट उतार दिया। महिला को ठगी की जानकारी होने पर उसने पुलिस को सूचित किया और पुलिस जांच के दौरान हत्या का मामला भी सामने आ गया।

आरोपियों के नाम आदर्श (22) और प्रदीप कुमार उर्फ राज (पिता) हैं। शुरुआत में फीस के नाम पर 52 हजार रुपए, गहने, एटीएम और प्रॉपर्टी के कागजात अपने पास रख लिए और फिर हेरफेर करके 4 लाख रुपए खाते से निकाल लिए। महिला अपने अकाउंट की पासबुक अपडेट कराने  के लिए बैंक पहुंची तो उसे पता चला कि उसके अकाउंट में महज 300 रुपए ही बचे हैं। महिला ने पुलिस को सूचित किया। पुलिस को कुछ नंबर मिले, कॉल डिटेल की जांच की गई और आरोपी आदर्श पकड़ा गया। बाद में तीनों आरोपियों को पकड़ लिया गया।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर