देहरादून में हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, दिल्ली-NCR से जुड़े हैं तार

क्राइम
Updated Sep 19, 2019 | 13:00 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

देहरादून पुलिस ने हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है जिसके तार दिल्ली-एनसीआर से जुड़े हैं। पुलिस ने इससे जुड़े कई हैरानी भरे खुलासे किए हैं।

dehradoon police busted sex racket
देहरादून पुलिस ने सेक्स रैकेट का किया भंडाफोड़ (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: BCCL

देहरादून : उत्तराखंड पुलिस राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से चलाए जा रहे एक सेक्स रैकेट की तलाश कर रही है। हिल स्टेशन देहरादून में इस रैकेट का पर्दाफाश हुआ जहां से पता चला कि इसे दिल्ली से चलाया जा रहा है। पुलिस को अब हाई-प्रोफाइल इस सेक्स रैकेट और इसके पीछे के उन सफेदपोश लोगों की तलाश है।

सूत्रों के मुताबिक देहरादून पुलिस हालांकि दिल्ली पुलिस की मदद किए बिना ही ये तलाशी अभियान चला रही है। बुधवार की रात उत्तराखंड पुलिस की कुछ टुकड़ी सफेद कपड़ों में राजधानी के एनसीआर (दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश) इलाके में घूम रही थी। 

कुछ दिन पहले ही देहरादून पुलिस ने एक हाई-प्रोफाइल सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया था जिसमें कई लड़कियों को वेश्यावृत्ति के धंधे में पकड़ा गया था। इनमें से कई लड़कियां दिल्ली से हैं। इस संबंध में उत्तराखंड के राजपुर में थाने में एक मामला दर्ज किया गया था।  

गिरफ्तार किए गए लोगों ने उन्हें कई हैरान करने वाली जानकारी दी जिसके आधार पर पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू की है। देहरादून पुलिस दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में अपनी पैनी नजर रख रही है। गिरफ्तार की गई लड़कियों को ब्रोकर्स के जरिए दिल्ली से लाकर देहरादून के होटल्स और गेस्ट हाउस में पहुंचाया जाता था। उन्हें एक रात के लिए 10,000 से लेकर 20,000 रुपए दिए जाते थे।

ये लड़कियां विशेष मांग पर दिल्ली से महंगी लग्जरी कारों और बसों से देहरादून लाया जाता था। एक रात के लिए इतनी बड़ी रकम दिए जाने वाली बात पर पुलिस को संदेह है कि इस रैकेट के पीछे किसी बड़े नाम का हाथ होगा। 

राजपुर थाना सूत्रों के मुताबिक लड़कियों और उनके ब्रोकर्स से मिले जानकारियों से पता चलता है कि इस रैकेट के पीछे दिल्ली औऱ देहरादून के बड़े लोगों के नाम होने का संकेत है। प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रुप से वे इस अवैध धंधे में शामिल हैं। देहरादून पुलिस का मानना है कि उन बड़े नामों का पर्दाफाश करना उनका लक्ष्य है क्योंकि वे इस रैकेट को बंद करवाना चाहते हैं। 

दिल्ली पुलिस को क्यों नहीं इस केस में शामिल किया गया, इस सवाल पर देहरादून पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि अभी फिलहाल हम इसकी बारीकियों तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं। अगर हमें किछ पुख्ता मिलता है तो हम इसमें दिल्ली हरियाणा और उत्तर प्रदेश की पुलिस की मदद लेंगे। अगर हमें एनसीआर में रेड करने की जरूरत पड़ी तो हम स्थानीय पुलिस की मदद लेंगे 

उन्होंने बताया कि इसमें हालांकि कोई दो राय नहीं है कि इस राकेट के पीछे किसी बड़े का हाथ है। उन्होंने बताया कि इस रैकेट के पीछे कुछ टैक्सी ड्राइवर भी शामिल हैं। जब लड़कियों के एक रात की कीमत पुलिस को पता लगी तो वे हैरान रह गए।

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...