पकड़ुआ विवाह के तहत 2017 में कर दी जबरन शादी, फैमिली कोर्ट ने अब ठहराया अवैध

क्राइम
Updated Jul 28, 2019 | 09:25 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

बिहार में एक युवक की साल 2017 में पकड़ुआ विवाह प्रथा के तहत जबरन शादी करा दी गई थी। पटना की एक फैमिली कोर्ट ने इस पर सुनवाई करते हुए अब इस शादी को रद्द कर दिया है।

pakadua vivah
पकड़ुआ विवाह  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • बिहार में पकड़ुआ विवाह प्रथा अभी भी प्रचलन में
  • 2017 में लड़के की इस प्रथा के तहत जबरन हुई थी शादी
  • पटना फैमिली कोर्ट ने अब लिया संज्ञान
  • दो साल बाद कोर्ट ने शादी को ठहराया अवैध

पटना : बिहार की राजधानी पटना में एक फैमिली कोर्ट ने जबरन शादी जिसे पकड़ुआ विवाह कहते हैं उसे रद्द कर दिया है। बताया जाता है कि बोकारे स्टील प्लांट के एक कर्मचारी विनोद कुमार की शादी इस प्रथा के तहत जबरन कराई जा रही थी। विनोद कुमार ने कहा कि ऐसा उसके साथ साल 2017 में हुआ था जब वह पटना एक दोस्त की शादी में शामिल होने के लिए गया हुआ था। 

विनोद कुमार ने आगे बताया कि सुरेंद्र यादव नाम के एक शख्स ने उसे घर पर बुलाया उसे खूब मारा पीटा। धमकी दी और फिर बंदूक की नोंक पर अपनी बहन के साथ शादी करने पर मजबूर किया। पुलिस ने इसमें मेरा कोई साथ नहीं दिया। कोर्ट के आदेश से राहत मिली है लेकिन ये लोग अभी भी आजाद घूम रहे हैं और मुझे धमकी दे रहे हैं।

 

देश ने कितनी तरक्की कर ली है लेकिन समाज अभी भी कितनी सारी बुरी कुप्रथाओं से जूझ रहा है। ऐसी ही है बिहार की पकड़ुआ विवाह प्रथा। इसका कारण ये है कि दहेज से बचने के लिए पकड़ुआ विवाह प्रथा को लोग अपनाते हैं। दरअसल दहेज से बटने के लिए कुछ मैं-बाप ऐसे होते हैं जो अच्छे नौकरी पेशा लड़कों पर नजर बनाए रखते हैं और उन्हें अगवा कर उनसे अफनी बेटियों की जबरन शादी करवा देते हैं। 

लड़के की बिना मर्जी के उसे लड़की के साथ मंडप पर बिठा दिया जाता है और उन दोनों की शादी करवा दी जाती है। शादी के बाद में समाज के डर से लड़की को अपनी पत्नी मानने पर मजबूर होना पड़ता है।

बता दें कि 80 के दशक में पकड़ुआ विवाह के खूब सारे मामले सामने आए थे जिसमें लड़कों का अपहरण कर लड़कियों से उनकी जबरन शादी करा दी जाती थी। उस समय खास तौर पर लड़कों को हिदायत दी जाती थी कि वे घर से बाहर ना निकलें। 

 

 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर