कभी IPL में आग उगलता था इस खिलाड़ी का बल्ला, आज गुमनामी में जी रहा स्टार

Paul Valthaty was one of the major stars of the IPL: कभी इस बल्लेबाज के प्रदर्शन को देखते हुए चर्चा होती थी कि भारतीय टीम का दरवाजे अब ज्यादा दूर नहीं है। लेकिन वक्त ने पासा पलट दिया।

Paul Valthaty
पॉल वाल्थटी  |  तस्वीर साभार: Twitter

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) कई खिलाड़ियों को रातों-रात स्टार बना चुकी है। इनमें से कुछ बुलंदियों पर टिके रहे तो वहीं कुछ को अर्श से फर्श पर आने में ज्यादा वक्त नहीं लगा। ऐसे ही एक खिलाड़ी थे मुंबई के पॉल चंद्रशेखर वाल्थटी थे। वाल्थटी 9 साल पहले आईपीएल में रातों-रात स्टार बन गए थे लेकिन जल्द ही वह गुमनामी के अंधेरों ने घिर गए थे।

दाएं हाथ के इस बल्‍लेबाज ने 2011 में किंग्‍स इलेवन पंजाब के लिए जबरदस्‍त बल्‍लेबाजी की थी। वह चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के खिलाफ 63 गेंद में 19 चौकों और दो छक्कों की मदद से नाबाद 120 रन बनाकर छा गए थे। उन्होंने आईपीएल 2011 का पहला शतक जड़ा था। इसके बाद उन्होंने अगले कई मैचों में शानदार प्रदर्शन किया और फैंस की उनसे उम्मीदें बढ़ती गईं। उस सीजन उन्‍होंने 483 रन बनाए थे और वह सबसे ज्‍यादा रन बनाने वाले बल्‍लेबाजों में छठे नंबर पर रहे थे। तब उनकी उम्र 27 साल थी।

वाल्थटी ने राजस्थान के लिए खेला पहला आईपीएल मैच

वाल्थटी ने राजस्थान रॉयल्स की ओर से अपने आईपीएल करियर का आगाज किया था जो निराशाजनक रहा। उन्होंने रॉयल्स के साथ खेलते हुए 2009 में दो मैचों में सिर्फ 6 रन ही बनाए थे। वह साल 2010 में आईपीएल में कोई मैच नहीं खेली। लेकिन जब आईपीएल के चौथे सीजन में उन्होंने चेन्नई के खिलाफ धमाकेदार शतक जमाया तो उनके फैंस की तादाद एकदम से काफी बढ़ गई थी। कहा जाने लगा कि वह भारतीय टीम के दरवाजे खटखटाने के बेहद करीब हैं। गिलक्रिस्ट ने भी कहा था कि वाल्थटी असाधारण खिलाड़ी हैं और टीम इंडिया में शामिल होने के लिए तैयार हैं। 

हालांकि, यह सब चार दिन की चांदनी साबित हुआ। वह 2012 और 2013 सीजन में बुरी तहर नाकाम रहे और धीरे-धीरे आईपीएल से ही गायब हो गए। वह आईपीएल की आखिरी पांच पारियों में दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाए थे। उन्होंने आईपीएल का अपना अंतिम मैच सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेला था जिसमें वह 6 रन ही बना बना पाए थे।

आईपीएल में कोई खरीददार नहीं मिला

अब 36 वर्ष के हो चुके वाल्थटी को पिछले कई सालों से आईपीएल में कोई खरीददार नहीं मिला। उन्होंने आईपीएल में चार सीजन में कुल 23 मैच खेले जिसमें उन्होंने 22.95 के औसत से 505 रन बनाए। उन्होंने अपने पूरे आईपीएल करियर में 1 शतक और 2 अर्धशतकीय पारियां खेलीं। आईपीएल से अलग होने के बाद वह एयर इंडिया की क्रिकेट टीम से खेला करते थे। मीडिया  रिपोर्ट्स के मुताबिक, वाल्थटी अब क्रिकेट की कोचिंग देते हैं।
 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...