रिद्धिमान साहा या रिषभ पंत? पूर्व दिग्‍गज विकेटकीपर ने बताया किसे मिले दूसरे टेस्‍ट में मौका

क्रिकेट
Updated Aug 27, 2019 | 17:56 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

रिषभ पंत का छोटा सा करियर बहुत अनिरंतरता वाला रहा है। पंत विश्‍व कप और मौजूदा वेस्‍टइंडीज दौरे पर खराब शॉट खेलने के कारण आलोचकों के निशाने पर हैं।

rishabh pant and wriddhiman saha
रिषभ पंत और रिद्धिमान साहा 

मुख्य बातें

  • किरमानी चाहते हैं कि दूसरे टेस्‍ट में साहा को मिले मौका
  • किरमानी ने कहा कि रिषभ पंत को अभी बहुत कुछ सीखने की जरूरत
  • धोनी के संन्‍यास पर किरमानी ने कहा कि इस पर बात करना बंद हो

नई दिल्‍ली: भारत के महान विकेटकीपरों में से एक सैयद किरमानी का मानना है कि वेस्‍टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्‍ट में रिद्धिमान साहा खेलने के हकदार हैं। किरमानी का कहना है कि रिषभ पंत पर साहा को तरजीह मिलनी चाहिए। पंत को अभी काफी कुछ सीखने की जरूरत है। पंत का छोटा सा करियर काफी अनिरंतरता वाला रहा है। विश्‍व कप और फिर मौजूदा वेस्‍टइंडीज दौरे पर खराब शॉट चयन के कारण पंत ने काफी निराश किया और वह आलोचकों के निशाने पर हैं।

भारत के लिए 88 टेस्‍ट खेलने वाले किरमानी का मानना है कि साहा चोटिल थे और उन्‍हें दोबारा मौका मिलना चाहिए जैसे दिल्‍ली के विकेटकीपर को मिल रहा है। किरमानी ने पीटीआई से बातचीत में कहा, 'ये अभी झूले में है (रिषभ पंत)। मगर वह गॉड गिफ्टेड है। उसे बहुत कुछ सीखने की जरूरत है। विकेटकीपिंग मैदान की सबसे मुश्किल पोजीशन है। ग्‍लव्‍स पहनकर हर कोई विकेटकीपिंग नहीं कर सकता।'

1983 विश्‍व कप विजेता टीम के सदस्‍य किरमानी चाहते हैं कि जमैका में होने वाले दूसरे टेस्‍ट में साहा विकेट के पीछे जिम्‍मेदारी संभालते दिखे। उन्‍होंने कहा, 'साहा को दुर्भाग्‍यवश चोट से जूझना पड़ा। उसे बराबरी का मौका मिलना चाहिए। उन्‍हें टीम में रखने का मतलब ही क्‍या अगर आप मौके ही नहीं दे। हमें अपने प्रदर्शन का आकलन खुद करना चाहिए। साहा भारतीय टीम में इसलिए आए क्‍योंकि घरेलू क्रिकेट में निरंतर उनका बेहतर प्रदर्शन था। मगर जब आप पिक्‍चर से बाहर हो और कोई आप जगह ले तो कार्तिक और पंत जैसे खिलाड़ी पिक्‍चर में आ जाते हैं।'

69 वर्षीय किरमानी ने कहा, 'अब हमें देखना होगा कि मैदान पर निरंतर बेहतर प्रदर्शन किसका है। चाहे बल्‍लेबाजी हो या फिर विकेटकीपिंग, जिसमें ऑलराउंड क्षमता हो, उसे मौका मिलना चाहिए।' 

टीम इंडिया के चयनकर्ताओं के पूर्व चेयरमैन किरमानी से जब महेंद्र सिंह धोनी के भविष्‍य के बारे में सवाल किया गया तो उन्‍होंने कहा, 'धोनी को अकेला छोड़ दो। एक समय आएगा जब वह संन्‍यास लेगा, लेकिन हमें उनके संन्‍यास के बारे में बात करना बंद कर देना चाहिए।' किरमानी चाहते हैं कि धोनी संन्‍यास से पहले युवाओं को परिपक्‍व करके जाएं। 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर