BCCI अध्‍यक्ष का पद संभालते ही सौरव गांगुली ने कहा- क्रिकेट की बेहतरी के लिए लगाएंगे पूरा जोर

क्रिकेट
Updated Oct 23, 2019 | 17:57 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

सौरव गांगुली ने बुधवार को बीसीसीआई के 39वें अध्यक्ष पद के रूप में पदभार ग्रहण करने के बाद प्रेस को संबोधित किया जानिए उन्होंने क्या क्या कहा। जानिए क्या है उनका बीसीसीआई के लिए विजन...

Saurav Ganguly BCCI Chief
Saurav Ganguly BCCI Chief( ANI)  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुंबई: बीसीसीआई का 39वां अध्यक्ष बनने के बाद टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने अपनी नई भूमिका के बारे में प्रेस के सामने खुलकर बात रखी। जानिए उन्होंने क्या कहा....

-मैं बेहद सौभाग्यशाली हूं कि जहां मैं कुछ बदलाव कर सकता हूं। लेकिन ये एक चुनौती है। मैं ये उसी तरीके से करूंगा जो मैं जानता हूं और मुझे लगता है कि जो बीसीसीआई के लिए सर्वश्रेष्ठ होगा। 

 

 

 


-मैं क्रेडिबिलिटी के साथ किसी तरह से समझौता नहीं करूंगा। भ्रष्टाचार मुक्त और सबसे लिए एक जैसा बीसीसीआई बनाने की कोशिश करूंगा। जिस तरह मैंने भारत का प्रतिनिधित्व किया वैसे ही मैं उसी तरह इस संगठन को आगे ले जाने की कोशिश करूंगा। मेरे पास जो भी वक्त हो उसका सदोपयोग करूंगा।

-मेरे पास बहुत युवा टीम है हमें बहुत सभी मसलों को समझने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। हमें नहीं मालूम कि पिछले तीन साल में क्या हुआ। हम उसका हिस्सा नहीं था। तब न ही वार्षिक बैठकें(एजीमए मीटिंग) हुई, बीसीसीआई वर्किंग कमिटी की मीटिंग नहीं हुई, न अन्य कमेटियों की बैठकें हुई। तो हमें इस बात का कोई अंदाजा नहीं है कि उस दौरान क्या हुआ। पहले हम सभी चीजों के बारे में जानकारी लेंगे उसके बाद काम शुरू करेंगे।  

-हम सभी को ये बात समझना चाहिए कि हम यहां भारतीय क्रिकेट के लिए काम करने के लिए हैं। और जो कुछ हमारा उद्देश्य है यही है। यही बीसीसीआई का काम है। घरेलू क्रिकेट, अंतरारष्ट्रीय क्रिकेट और आईपीएल की बेहतरी के लिए हम अपनी तरफ से अपनी क्षमता के अनुरूप पूरी कोशिश करेंगे। 

-ऑफिस के पहले दिन के बारे में उन्होंने कहा कि पहला दिन अच्छा रहा। एक बार चुनाव खत्म हो गए और नामांकन प्रक्रिया पूरा हो गई उसके बाद सबकुछ आसान हो गया। जूब मैं पहली बार टीम का कप्तान बना था। तब मुझे जैसा लगा था और मुझे कप्तान का ब्लेजर दिया गया था। मुझसे पहले कई दिग्गजों ने टीम की कमान संभाली थी। ऐसा ही यहां भी है मुझे नई भूमिका मिली है और मुझे अपनी क्षमता का अनुरूप इसका निर्वहन करना है। 

-विराट कोहली भारतीय टीम के कप्तान हैं। मैं उनसे कल बात करूंगा। वो भारतीय क्रिकेट से सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं। मैं इसे इस रूप में देखता हूं। मैं उनसे बात करूंगा और जैसा कि मैंने कहा हम उनका हर संभव तरीके से सहयोग करने की कोशिश करेंगे। वो इस टीम को दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम बनाना चाहते हैं। ईमानदारी से कहूं तो ये टीम बेहतरीन है। पिछली तीन से चार साल में उन्होंने जैसी क्रिकेट खेली है। आप ये कह सकते हैं कि उन्होंने वर्ल्ड कप नहीं जीता लेकिन आप हर बार वर्ल्ड कप नहीं जीतते हैं। आशा करते हैं कि हम उनका समर्थन करेंगे। जो कुछ उन्हें चाहिए होगा जिससे कि भारतीय क्रिकेट आसानी से आगे की ओर अग्रसर हो। 

-
विराट ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट वेन्यू की संख्या को अधिकतम पांच तक सीमित करने की बात रांची में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जीत हासिल करने के बाद कही थी इसके जवाब में गांगुली ने कहा, हमारे पास बहुत से राज्य हैं। बहुत से टेस्ट वेन्यू हैं। हम विराट के साथ बैठकर इस बारे में बात करेंगे कि इस दिशा में वो क्या करना चाहते हैं और उसके बाद कोई निर्णय करेंगे। 

-प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलने वाले खिलाड़ियों का ध्यान एपेक्स काउंसिल करेगी। 

-समय बहुत तेजी से बदलता है। मैं मुंबई में एक युवा खिलाड़ी के रूप में आया था। वानखेड़े स्टेडियम में पाकिस्तान के खिलाफ अंडर 19 क्रिकेट में मैने शतक जड़ा था। तब गम सी ग्रीन होटस में रूके थे। इस शतकीय पारी के बाद मेरे क्रिकेट करियर की शुरुआत हुई। इसके बाद मुझे रणजी ट्रॉफी के लिए टीम में चुना गया। इस मैदान पर मैंने टेस्ट मैंच में शतक जड़ा, टेस्ट में जीत हासिल की। पिछले साल दिल्ली के साथ जुड़ा और आईपीएल मैच खेलने यहां आया और उसमें जीत हासिल की। भारतीय कप्तान के रूप में बहुत सारे मैच खेले और अब बीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में यहां आया हूं। ये क्रिकेट खेलने के लिए बेहतरीन शहर है। मुंबई ने भारतीय क्रिकेट को बड़ी संख्या में क्रिकेटर दिए हैं। उसका ये योगदान अतुलनीय है। यहां का क्रिकेट परिवार मजबूत बना रहा है और कई महान खिलाड़ी दिए हैं। इस शहर ने गावस्कर, तेंदुलकर, वेंसरकर, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे और अजीत वाडेकर जैसे क्रिकेटर दिए हैं। इस मैदान ने मुझे कभी नीचा नहीं दिखाया। अब मैं एक भारतीय क्रिकेट को नई प्रशासनिक भूमिका में और मजबूत बनाने की कोशिश करेंगे। 

--कॉन्फ्लिक्ट ऑफ इन्ट्रेस्ट अभी भी मुद्दा है। इसके बारे में  प्रशासनिक समिति( सीओए) ने स्टेटस रिपोर्ट जारी की थी उसमें इसका जिक्र था। मुझे नहीं मालूम कि इस बारे में सुनवाई कब होगी और कब ये मामला सुलझेगा। हमें सीएसी का गठन करना होगा क्योंकि क्रिकेट एडवाइजरी कमिटी के पास बहुत सी जिम्मेदारियां हैं उसे सेलेक्टर्स और अन्य सदस्यों का चुनाव करना है। तो हम वो करेंगे और इस बात का ख्याल रखेंगे कि वहां हितों का टकराव न हो। 

--मुझे नहीं मालूम की सीओए विराट और रवि शास्त्री के बीच क्या संबंध थे। अब नए अधिकारियों ने अपने पद संभाल लिए हैं। अब हर चीज के बार में चर्चा होगी और आपसी सहमति के बाद निर्णय लिए जाएंगे। लेकिन मैं एक बात स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि हम यहां पर उनके लिए स्थितियों को आसान बनाने के लिए हैं। उनकी जिंदगी को मुश्किल नहीं बनाना है। और सबकुछ यहां प्रदर्शन पर निर्भर करेगा। प्रदर्शन सबसे महत्वपूर्ण चीज है। इससे ही भारतीय क्रिकेट का भविष्ट निर्धारित होगा। मैं जैसे कि पहले ही कह चुका हूं कि विराट भारतीय क्रिकेट का सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति है। हम वहां उनका समर्थन करेंगे। हम उनकी बात सुनेंगे क्योंकि मैं खुद भी कप्तान रह चुका हूं ऐसे में मैं उनकी स्थिति को भी समझता हूं। आपसी सम्मान वहां रहेगा और सबकी बातें सुनी जाएंगी और हम वही करेंगे जो खेल के लिए बेहतर होगा। 

-
मेरी धोनी से अभी बात नहीं हुई है। मैंने आज ही पद संभाला है। आशा करता हूं जल्दी ही उनसे बात करूंगा। धोनी भारतीय क्रिकेट के महान खिलाड़ियों में से एक हैं। 

--
आईसीसी से भारत को पांच साल के अंतराल में 372 मिलियन डॉलर मिलेंगे। पहले की तुलना में ये राशि काफी बड़ी है। हमें इस दौरान दो बड़े वर्ल्ड टूर्नामेंट खेलने हैं। पहला 2020 में ऑस्ट्रेलिया में टी-20 विश्व कप होना है। दूसरा 2021 में भारत में चैंपियंस ट्रॉफी होनी है जिसे इस बार टी-20 में तब्दील कर दिया गया है। इसके बाद विश्व कप होगा। इसलिए बहुत सार आईसीसी से मिलने वाला पैसा बैकहैंड मनी है। अब तक हमें कुछ पैसा मिल चुका है हमें यह सुनिश्चित करना है कि हमारा बकाया हमें मिले। हम इस बारे में आईसीसी से बात करेंगे। 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर