विराट कोहली और रवि शास्‍त्री की जिस बात पर हो रही आलोचना, वीरू ने उस पर दी धोनी की मिसाल

Virender Sehwag about MS Dhoni: विराट कोहली और रवि शास्‍त्री को हाल ही में आलोचना झेलनी पड़ी थी कि ये खिलाड़‍ियों को सीमित ओवर प्रारूप में पर्याप्‍त मौके नहीं दे रहे हैं।

virender sehwag and ms dhoni
वीरेंद्र सहवाग और एमएस धोनी 

मुख्य बातें

  • सहवाग ने कहा कि धोनी के नेतृत्‍व में खिलाड़‍ियों को ज्‍यादा मौके मिले
  • कोहली-शास्‍त्री की हाल में आलोचना हुई कि खिलाड़‍ियों को पर्याप्‍त मौके नहीं मिले
  • वीरू ने केएल राहुल के बल्‍लेबाजी क्रम पर भी अपनी राय व्‍यक्‍त की

नई दिल्‍ली: टीम इंडिया के पूर्व विस्‍फोटक ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने खुलकर स्‍वीकार किया है कि मौजूदा कप्‍तान विराट कोहली की तुलना में एमएस धोनी के नेतृत्‍व में खिलाड़‍ियों को अपनी प्रतिभा दिखाने का ज्‍यादा मौके मिले। एमएस धोनी की कप्‍तानी में कई सालों तक खेलने वाले सहवाग का मानना है कि इंटरनेशनल क्रिकेट में अपनी काबिलियत दिखाने के लिए माही ने खिलाड़‍ियों का भरपूर समर्थन किया और उनकी हौसलाअफजाई की।

भारतीय कप्‍तान विराट कोहली और हेड कोच रवि शास्‍त्री को हाल ही में आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था कि सीमित ओवर क्रिकेट में खिलाड़‍ियों को पर्याप्‍त मौके नहीं मिल रहे हैं। भारतीय टीम का कमी 2019 विश्‍व कप के सेमीफाइनल में सामने आई थी कि उसके पास गुणी मिडिल ऑर्डर क्रम नहीं था। अंबाती रायुडू, अजिंक्‍य रहाणे, श्रेयस अय्यर और मनीष पांडे को मिडिल ऑर्डर पर आजमाया गया, लेकिन कोई विश्‍व कप की टीम में जगह नहीं बना पाया।

ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय टीम के वनडे सीरीज जीतने के बाद नजफगढ़ के नवाब ने क्रिकबज से बातचीत में कहा कि अगर केएल राहुल कुछ मैचों में फ्लॉप हो जाएं तो उन्‍हें दोबारा शायद मिडिल ऑर्डर में बल्‍लेबाजी करने का मौका ही नहीं मिले।

राहुल पर क्‍या बोले सहवाग

राहुल ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज में अलग-अलग क्रम पर बल्‍लेबाजी की और बेहतर प्रदर्शन किया। वीरू ने कहा, 'अगर केएल राहुल पांचवें क्रम पर चार बार फेल हो जाएं, तो टीम प्रबंधन अगले कुछ मैचों में उनके बल्‍लेबाजी क्रम में बदलाव कर देगा। हालांकि, एमएस धोनी की कप्‍तानी में ऐसा नहीं था। धोनी को पता था कि खिलाड़‍ियों की हौसलाअफजाई करना कितना महत्‍वपूर्ण हैं।'

सहवाग ने कहा, 'धोनी जब कप्‍तान थे तो खिलाड़‍ियों में बल्‍लेबाजी क्रम को लेकर स्‍पष्‍टता थी। वह खिलाड़ी की प्रतिभा पर ध्‍यान देते थे और ऐसे व्‍यक्तिगत खिलाड़ी खोजे, जो भारतीय क्रिकेट को लेकर आगे बढ़ें।' सहवाग ने ध्‍यान दिलाया कि वनडे में मिडिल ऑर्डर के बजाय टॉप ऑर्डर के पास ज्‍यादा सफल होने के मौके रहते हैं। मिडिल ऑर्डर को समर्थन देने की जरुरत है।

बकौल सहवाग, 'सीमित ओवर क्रिकेट में शीर्ष क्रम के लिए रन बनाना आसान है। मिडिल ऑर्डर को कप्‍तान के समर्थन की जरुरत है। अगर आप खिलाड़‍ियों को ज्‍यादा मौके नहीं देंगे तो वह कैसे बड़े खिलाड़ी बनेंगे। मैं भी ओपनिंग करने से पहले मिडिल ऑर्डर बैट्समैन था। मैंने बहुत गलतियां की, जिससे टीम भी कई मैच हारी। मगर आप बेंच पर बैठकर महान खिलाड़ी नहीं बन सकते। खिलाड़‍ियों को समय की जरुरत है।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर