पुणे में बतौर टेस्ट कप्तान अर्धशतक पूरा करेंगे विराट कोहली, बताया क्या है उनका लक्ष्य

क्रिकेट
Updated Oct 09, 2019 | 21:01 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Virat kohli 2nd Indian captain to lead in 50 test: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली पुणे में टेस्ट मैचों में अर्धशतक पूरा करेंगे। उन्होंने इस व्यक्तिगत उपलब्धि हासिल करने से पहले प्रशंसकों को संदेश दिया है।

Virat Kohli 50th Test as captain
विराट कोहली (साभार BCCI)  |  तस्वीर साभार: Twitter

पुणे: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के लिए दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ गुरुवार को शुरू हो रहा तीन मैचों की सीरीज का दूसरा टेस्ट एक बड़ी व्यक्तिगत उपलब्धि वाला होगा। पुणे में विराट कोहली अपने करियर में पचासवीं बार टीम इंडिया की कमान संभालेंगे। वो ये उपलब्धि हासिल करने वाले दूसरे भारतीय टेस्ट कप्तान होंगे।

विराट से पहले केवल महेंद्र सिंह धोनी ऐसा कर सके हैं। धोनी ने 60 टेस्ट मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी की है। विराट को साल 2014 में धोनी के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अचानक संन्यास का ऐलान करने के बाद टीम का कप्तान बनाया गया था। तब से लेकप अबतक विराट ने अपनी कप्तानी में टीम इंडिया को सफलता के नए शिखर पर पहुंचाया। देश विदेश में जीत का डंका बजाकर टीम इंडिया को दुनिया के नंबर एक टेस्ट टीम बनाया।

विराट बतौर टेस्ट कप्तान टेस्ट मैचों का अर्धशतक पूरा करने जा रहे हैं। ऐसे में पुणे टेस्ट से पहले उन्होंने अपनी इस व्यक्ति उपलब्धि के बारे में बयान जारी किया है। बीसीसीआई टीवी के साथ बातचीत में विराट ने कहा, मुझे इतना ही महसूस हो रहा है कि मैं सौभाग्यशाली हूं कि इस मुकाम तक पहुंच सका। मैं इतने मैचों में टीम की कप्तानी करने के अलावा भारत के लिए इतने मैच खेल सका।'

 


विराट ने इस उपलब्धि को छोटी सी मंजिल बताते हुए कहा, यह एक छोटा सा पड़ाव है मेरा लक्ष्य जितना संभव हो अधिक से अधिक टेस्ट मैच जीतना है। मैं चाहता हूं कि  हम जितने मैच खेलें उनमें जीत हासिल कर सकें। हालांकि आंकड़े और नंबर मेरे लिए मायने नहीं रखते लेकिन जब टीम और बोर्ड छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर आपका सम्मान करते हैं तो ये सभी चीजें आपके लिए बतौर खिलाड़ी मायने रखती हैं। अब तक मैंने करियर में जो कुछ भी हासिल किया है उसके लिए आभार व्यक्त करता हूं।'

 

विराट की कप्तानी में टीम इंडिया ने अबतक खेले 49 टेस्ट मैचों में 29 में जीत हासिल की है जबकि 10 में उसे हार का मुंह देखना पड़ा है जबकि 10 मैच बराबरी पर समाप्त हुए हैं। उनकी कप्तानी में टीम इंडिया का जीत प्रतिशत 59.18 का रहा है जो कि एक से अधिक मैच में टीम की कमान संभालने वाले भारतीय कप्तानों में सबसे ज्यादा है। विराट की कप्तानी में भारतीय टीम ने पिछले तीन साल में घर पर केवल 1 टेस्ट मैच गंवाया है वो भी पुणे में जहां वो टेस्ट कप्तानी का अर्धशतक पूरा करने जा रहे हैं। 
    

  

 

अगली खबर