विराट ने किया खुलासा, टी-20 विश्व कप और टेस्ट चैंपियनशिप के लिए कैसे तैयारी कर रही है टीम इंडिया 

क्रिकेट
Updated Sep 15, 2019 | 20:18 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Virat kohli in T20 World Cup Preparation: भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने साल 2020 में होने वाले टी-20 विश्व कप और आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप की तैयारी के बारे में टीम इंडिया के प्लान का खुलासा किया है

virat Kohli
विराट कोहली (साभार BCCI)  |  तस्वीर साभार: Twitter

धर्मशाला: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-20 सीरीज के धर्मशाला में आगाज के साथ ही भारतीय टीम के घरेलू सीरीज की शुरुआत हो गई। विराट कोहली वाली टीम इंडिया के विश्व कप 2019 में सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार के साथ थम गया था। ऐसे में भारतीय क्रिकेट प्रेमियों की नजरें साल 2020 में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप पर टिक गई हैं। भारतीय टीम मैनेजमेंट भी टी-20 विश्व कप की तैयारी में जुट गया है। ऐसे में विराट कोहली ने घरेलू सीजन की शुरुआत से पहले स्टार स्पोर्ट्स के साथ स्पेशल इंटरव्यू में खुलासा किया कि टीम इंडिया टी-20 विश्व कप की किस तरह तैयारी कर रही है। 

विराट कोहली ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि हम युवा खिलाड़ियों को ज्यादा से ज्यादा मौके देना चाहते हैं। उन्होंने कहा, हमारा बहुत सा ध्यान टी-20 और टेस्ट मैचों पर है क्योंकि अगले साल वर्ल्ड टी-20 और आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप है। ऐसे में हम युवा खिलाड़ियों को ज्यादा से ज्यादा मौके देकर सही टीम संयोजन तैयार करना बेहद जरूरी है।

विराट ने कहा, हम सभी को लगता है कि टी-20 वर्ल्ड कप तक पहुंचने नें अभी टाइम है इस दौरान हमें बहुत से टी-20 खेलने हैं, फोकस टेस्ट मैच खेलने पर भी है क्योंकि दो बड़े माइलस्टोन्स( टी-20 वर्ल्ड कप और आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप ) हमारे सामने हैं। ऐसे में समय-समय पर युवा खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया जाएगा। ऐसा करना सही टीम संयोजन बनाने के लिए बहुत जरूरी होता है। इसी दौरान आपको भविष्य के खिलाड़ियों को भी चिन्हित करना है। ऐसे कौन से खिलाड़ी हैं जो खेल को आगे लेकर जाएंगे। हमारा ध्यान इस चीज पर भी रहता है कि किन खिलाड़ियों की मेंटलिटी, कैरेक्टर और मनोदशा इसे मेंटेन करने की है और जो खेल को आगे ले जा सकें।' 

विश्व कप से पहले भारतीय टीम को 30 मैच खेलने हैं। इस दौरान खिलाड़ियों को मौका देना और जीत के बीच संतुलन बनाने के बारे में उन्होंने कहा, टीम मैनेजमेंट के नजरिए से एक बात पूरी तरह साफ है कि युवा खिलाड़ियों को जो भी मौके मिलें उन्हें उनका फायदा उठाना होगा। विराट ने अपने शुरुआती करियर का उदाहरण देते हुए कहा, जब मैं भी टीम में आया था तब भी ऐसा नहीं था मुझे 15 मौके मिलेंगे और इसमें मुझे खुद को साबित करना है।' 

विराट ने युवा खिलाड़ियों को सीधा संदेश दिया कि आपको 4 से पांच मौके मिलेंगे इसी में आपको खुद को साबित करना होगा। हम जिस तरह की प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेल रहे हैं उसमें जो भी खिलाड़ी टीम में आ रहे हैं उन्हें ये बात ध्यान में रखनी होगी कि उन्हें जो मौके मिल रहे हैं उन्हें अधिकांश मौकों पर खुद को साबित करना होगा। जो खिलाड़ी मौकों का जल्दी फायदा उठाएगा उसकी टीम में जगह बनेगी।'

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...