लगातार दूसरे साल गरजा बल्ला, अब इस बल्लेबाज ने 'विराट की कहानी' को बताया सीक्रेट

क्रिकेट
Updated Mar 27, 2020 | 06:30 IST

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली करोड़ों को प्रेरित करते हैं। सौराष्ट्र के बल्लेबाज शेल्डन जैक्सन ने भी भारतीय कप्तान से प्रेरित होते आए हैं। उन्होंने लगातार दूसरी बार रणजी ट्रॉफी में अच्छे प्रदर्शन पर बात कही।

Sheldon Jackson
Sheldon Jackson  |  तस्वीर साभार: IANS

मुख्य बातें

  • शेल्डन जैक्सन ने अपने शानदार फॉर्म पर खुलासा किया
  • विराट की कहानी को दिया बेहतरीन बल्लेबाजी का श्रेय
  • बताया किसने-किसने दिया करियर में योगदान

नई दिल्लीः सौराष्ट्र के बल्लेबाज शेल्डन जैकसन ने भारतीय कप्तान विराट कोहली से प्रेरणा लेकर अपनी फिटनेस को नये स्तर पर पहुंचाया जिसका फायदा उन्हें रणजी ट्राफी के इस सत्र में मिला जहां उन्होंने रनों का अंबार लगाया। तैतीस वर्षीय जैकसन ने रणजी ट्रॉफी में लगातार दूसरे सत्र में 800 से अधिक रन बनाये और सौराष्ट्र को पहली बार रणजी खिताब दिलाने में अहम भूमिका निभायी।

सौराष्ट्र की इस उपलब्धि में जैकसन की भूमिका अहम रही। उन्होंने इस सत्र में 50.56 की औसत से 809 रन बनाये। भावनगर के इस बल्लेबाज ने कहा कि पिछले 12 महीनों में उन्होंने अपनी फिटनेस में सुधार पर ध्यान दिया जिसका उन्हें फायदा मिला। जैकसन ने 2013 में रायल चैलेंजर्स बेंगलोर की तरफ से खेलते हुए देखा था कि कोहली फिटनेस को बहुत अधिक महत्व देते हैं।

विराट की कहानी से मिली प्रेरणा

जैक्सन ने कहा, ‘‘यह असल में विराट की कहानी थी जिससे मुझे प्रेरणा मिली। वे बेहद कुशल बल्लेबाज हैं और अगर वह तब भी उन्हें लगता है कि उन्हें और फिट होने की जरूरत है तो फिर उनके सामने हमारी क्या बिसात।’’ जैकसन ने स्वीकार किया कि 2013 में वह अपरिपक्व थे लेकिन छह सत्र बाद वह सभी प्रारूपों में सौराष्ट्र के मुख्य बल्लेबाज बन गये।

किसने-किसने की मदद

उन्होंने कहा, ‘‘जिन लोगों ने मेरी मदद की वे जिम में काम करने वाले सामान्य ट्रेनर थे। मेरे दोस्त थे जिन्होंने अहमदाबाद में मेरी मदद की क्योंकि वे समझ रहे थे कि मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूं लेकिन मुझे उसके अनुरूप परिणाम नहीं मिल रहे हैं।’’ जैकसन ने कहा, ‘‘पिछले साल तक मैं कुछ भी खा लेता था। सभी तरह के जंक फूड खा देता था लेकिन उन लोगों (जिम ट्रेनर) ने मुझे सिखाया कि अच्छा प्रदर्शन करने के लिये खाना भी बेहतर खाना होगा। इससे मुझे बहुत फायदा मिला।’’

मैं पूरी तरह से गलत था क्योंकि..

इस बल्लेबाज ने पिछले सत्र में भी 854 रन बनाये थे लेकिन उन्हें लगा कि फिटनेस के क्षेत्र में अभी उन्हें काफी कुछ करना है। बस इसके बाद वह अपनी फिटनेस सुधारने में लग गये। जैकसन ने कहा, ‘‘पहले मैं सोचता था कि क्रिकेट कौशल से जुड़ा खेल है लेकिन मैं पूरी तरह से गलत था। क्रिकेट कौशल से जुड़ा खेल है लेकिन इसमें बहुत अच्छी फिटनेस की जरूरत पड़ती है क्योंकि अगर आप फिट हैं तो आप दबाव में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं जबकि आपका शरीर थक गया हो।’’

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...