शोएब अख्तर क्यों बोले- भारत क्रिकेट सीरीज खेले या पाकिस्तान से सभी संबंध खत्म कर दे

Shoaib Akhtar on India vs Pakistan Bilateral Series: पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भारत और पाकिस्तान के बीच दोबारा से क्रिकेट शुरू करने का आग्रह किया है।

India vs pakistan
फाइल फोटो 

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने एक बार फिर से भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज की बहाली की मांग की है। अख्तर ने दोनों पड़ोसी देशों से मतभेदों को सुलझाने का आह्वान किया है। भारत ने 2008 से पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है जबकि उसने राजनीतिक और कूटनीतिक संबंधों के कारण 2007 से पाकिस्तान के साथ पूर्ण द्विपक्षीय द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली है। पाकिस्तान ने सीमित सीमित ओवरों की सीरीज के लिए 2012 में भारत का दौरा किया था। आखिरी बार दोनों टीमें इंग्लैंड में आयोजित हुए आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में टकराई थीं जहां भारत ने पाकिस्तान को रौंद दिया था।

हाल ही में ‘अनधिकृत' भारतीय कबड्डी टीम कबड्डी विश्व कप में भाग लेने के लिए पाकिस्तान गई थी। हालांकि, खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने दावा किया कि भारत ने किसी भी खिलाड़ी को पाकिस्तान की यात्रा करने की अनुमति नहीं दी थी। भारत और पाकिस्तान के बीच सीरीज पर अख्तर की टिप्पणी ‘अनधिकृत' भारतीय कबड्डी टीम के देश लौटने के बाद आई है। भारतीय कबड्डी टीम सोमवार को पाकिस्तान से फाइनल में हारने के बाद वापस लौट आई।

'दोनों देशों को किसी तटस्थ स्थान पर खेलना चाहिए'

अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि अगर भारत और पाकिस्तान द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज नहीं खेलना चाहते तो दोनों देशों को व्यापार सहित अन्य सभी संबंधों को खत्म कर देना चाहिए। उन्होंने आग्रह किया कि दोनों देशों भारत या पाकिस्तान में नहीं खेलना चाहते तो किसी तटस्थ स्थान पर खेल लें। उन्होंने कहा, 'हम एक दूसरे के साथ व्यापार कर सकते हैं, कबड्डी खेल सकते हैं, डेविस कप खेल सकते हैं लेकिन हम क्रिकेट क्यों नहीं खेल सकते हैं? यदि भारत हमारे देश पाकिस्तान नहीं आना चाहता है और पाकिस्तान भारत नहीं जाना चाहता है तब भी  एशिया कप की तहर किसी तटस्थ स्थान पर द्विपक्षीय सीरीज खेली जा सकती है।'

उन्होंने कहा, 'अगर भारत और पाकिस्तान क्रिकेट नहीं खेल सकते तो उन्हें व्यापार नहीं करना चाहिए, कबड्डी नहीं खेलना चाहिए या दोनों को कुछ भी नहीं करना चाहिए। भारत और पाकिस्तान के बीच जब भी क्रिकेट की बात होती है तो राजनीति होने लगती है। दो टीमों के लिए द्विपक्षीय सीरीज खेलना महत्वपूर्ण होता है जिससे पैसा आने के साथ-साथ, फैन फॉलोइंग भी बढ़ती है और नए खिलाड़ियों को दबाव में खेलकर उभरने का अवसर मिलता है।' पाकिस्तान ने हाल ही में अपने घर में श्रीलंका की टी20 अंतरराष्ट्रीय और टेस्ट सीरीज में मेजबानी की है। वहीं, पाकिस्तान ने बांग्लादेश के साथ भी घर में तीन मैचों की टी20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज खेली। यह दोनों सीरीज सुचारू रूप से आयोजित की गई थीं। 

 

 

'पाकिस्तान में खेलना सुरक्षित है'

अख्तर का मानना ​​है कि पाकिस्तान में किसी भी अंतरराष्ट्रीय टीम का खेलना सुरक्षित है। हालांकि, उन्होंने जोर देकर कहा कि भारत और पाकिस्तान दोनों को तटस्थ स्थान पर सहमत होना चाहिए और अपने मतभेदों को अलग रखना चाहिए। उन्होंने कहा, 'क्रिकेट पाकिस्तान में वापस आ गया है और हमारा देश खेलने के लिए एक सुरक्षित जगह है। यदि पाकिस्तान में द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज नहीं खेलनी है तो एक तटस्थ स्थान चुन लें। हम सभी यह देखना चाहते हैं कि भारत और पाकिस्तान एक-दूसरे के खिलाफ कैसा प्रदर्शन करेंगे।'

उन्होंने आगे कहा, 'हम दुनिया के सर्वश्रेष्ठ मेहमाननवाज देशों में से एक हैं और भारत यहृ पहले देख चुका है। वीरेंद्र सहवाग, सौरव गांगुली और सचिन तेंदुलकर से पूछें कि हम उन्हें दूसरों से ज्यादा कितना पसंद करते हैं। क्रिकेट को हमारे बीच के मतभेदों से प्रभावित नहीं होना चाहिए। उम्मीद है कि भारत और पाकिस्तान जल्द ही एक द्विपक्षीय सीरीज खेलें और दोनों देशों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा होना महत्वपूर्ण है।'

अगली खबर