शिखर धवन ने की लोगों से गरीबों की मदद की अपील, कहा प्रधानमंत्री राहतकोष में करें दान 

क्रिकेट
Updated Mar 26, 2020 | 15:20 IST

टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने कोरोना के खिलाफ जंग के बीच देश के लोगों से गरीबों के भले के लिए दान करने की अपील की है जानिए उन्होंने क्या कहा है।

Shikhar Dhawan
Shikhar Dhawan  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • धवन ने कहा प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री राहत कोष में करें दान
  • ये कंधे से कंधा मिलाकर महामारी से लड़ने का है समय
  • गरीबों का घर चलाने के लिए है पैसों की जरूरत, करें उनकी मदद

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के विस्फोटक सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने देश के लोगों से कोरोना वायरस की वजह से उपजे संकट के समय में कंधे से कंधा मिलाकर गरीबों की मदद करने की अपील की है और लोगों से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री राहत कोष में दान देने की अपील की है जिससे कि लोगों को इस संकट की घड़ी में कुछ राहत मिल सके और सरकार महामारी से लड़ने के लिए संसाधन जुटा सके। 

शिखर धवन ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, हां जी दोस्तों, मुझे पूरा यकीन है कि आप सब घर पर हैं, सुरक्षित हैं और सरकार के नियमों का पालन कर रहे हैं। आप सभी से बस यही एक रिक्वेस्ट करनी थी कि प्लीज आगे बढ़ें और दान करें। सरकार का पीएम फंड है राज्यों के अपने अलग से फंड हैं और वो इसलिए बने हैं कि ताकि इस वक्त जहां पर भी पैसे की जरूरत है यदि सरकार का मास्क लेने हैं या अस्पताल को जरूरत है या कितने गरीब लेबर्स जो अभी काम नहीं कर पाए रहे हैं उनका घर चलाने के लिए पैसे की जरूरत है। मुझे इस वक्त ऐसा लगता है कि हम सभी को कंधे से कंधा मिलाकर चलना चाहिए और आगे आकर दान करना चाहिए। जिससे जितना हो सके उतना डोनेट कीजिए। ताकि हम इंसान और एक भारतीय के रूप में इससे लोगों को बचा सकें। और कोरोना से लड़कर अपने देश को आजाद कर सकें फिर से खुशहाली से जी सकें। यही मेरी रिक्वेस्ट है धन्यवाद।'

कोरोना वायरस से लोगों को बचाने के लिए देश भर में 21 दिन के लॉकडाउन को भारत सरकार को ऐलान करना पड़ा है ताकि कोरोना का वायरस लोगों के बीच नहीं फैल सके। लोगों से घर पर बने रहने की अपील की गई है जिससे कि वो अपनी और अपने परिवार के लोगों की रक्षा कर सकें। भारत सरकार ने कोरोना के कहर से लोगों को बचाने के लिए गुरुवार को 70 जहार करोड़ रुपये के पैकेज की भी घोषणा की है। जिससे कि देश का गरीब इस बड़े संकट का सामना कर सके। 

भारत में अब तक तकरीबन 650 लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं और तकरीबन 13 लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं ऐसे में वायरस के संक्रमण से लोगों को बचाने का और तीसरे चरण यानी कम्युनिटी स्प्रेड से रोकने का सबसे कारगर तरीका घर पर ही रहना और सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेने करना है और सरकार इसे बनाए रखने के लिए मुस्तैदी से काम कर रही है। 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...