जेनएयू हिंसा: संजय मांजरेकर और योगेश्‍वर दत्‍त के बीच हुआ ट्विटर वॉर

Protests against JNU violence: पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने जेएनयू में हिंसा के खिलाफ मुंबई में हुए विरोध प्रदर्शन का समर्थन किया था। यह प्रदर्शन सोमवार शाम को हुआ था।

Sanjay Manjrekar
संजय मांजरेकर (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: IANS

नई दिल्ली: दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में रविवार रात हुई हिंसा के खिलाफ मुंबई में सोमवार शाम को विरोध प्रदर्शन हुआ। मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर जुटे लोगों ने जेएनयू घटना के खिलाफ नारेबाजी की और छात्रों पर हमले के दोषियों को पकड़ने की मांग की। इस प्रदर्शन में आईआईटी बॉम्बे, टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस के अलावा कई दूसरे शैक्षणिक संस्थानों के छात्र शामिल हुए। विरोध-प्रदर्शनों में मशहूर फिल्‍मी हस्तियां भी नजर आईं। इस प्रदर्शन का अलग-अलग क्षेत्रों की हस्तियों ने समर्थन किया जिसमें क्रिकेटर से कमेंटटर बने संजय मांजरेकर भी थे। हालांकि, मांजरेकर के प्रदर्शन का समर्थन करने पर ओलंपिक मेडलिस्ट और बीजेपी लीडर योगेश्वर दत्त ने आपत्ति जताई है।

मांजरेकर ने रौनक कपूर के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा था, 'वेल डन मुंबई।' मांजरेकर ने जिस ट्वीट को रिट्वीट किया उसमें विरोध प्रदर्शन की कुछ तस्वीरें भी थीं। इसके बाद पहलवान योगेश्वर ने एक महिला प्रदर्शनकारी की तस्वीर शेयर कते हुए मांजरेकर से पूछा, 'ये भी इसी मुंबई प्रदर्शन की सचाई है। ऐसे लोगों के बारे में आपका क्या कहना है?' बता दें कि महिला प्रदर्शनकारी के हाथ में एक विवादित पोस्टर था जिसपर 'फ्री कश्मीर' यानी कश्मीर की आजादी लिखा था। हालांकि, विवाद बढ़ने के बाद 'फ्री कश्मीर' का प्लेकार्ड दिखाने वाली लड़की सामने आई और उसने स्पष्टीकरण दिया। लड़की का नाम महक मिर्जा प्रभु है। 

 

 

 

 

प्रभु ने कहा कि  हम जेएनयू के छात्रों के समर्थन में नारे लगा रहा थे। मैनें देखा कि कुछ लोग प्लेकार्ड  बना रहे हैं। वहां पर एनआरसी, सीएए और हर विषय पर प्लेकार्ड बन रहे थे। वहां पर एक प्लेकार्ड था जिस पर 'फ्री कश्मीर' लिखा था। मैं कश्मीरी नहीं हूं। मैं मराठी हूं लेकिन प्लेकार्ड को लेकर जो बातें कहीं जा रही हैं वे पूरी तरह से गलत हैं। उन्होंने कहा कि संवैधानिक मूल्यों की अगर बातें करें तो कश्मीर में इसका हनन हुआ है। मेरा प्लेकार्ड का मतलब संवैधानिक मूल्यों के हनन के संदर्भ में था। कश्मीरियों को हम लोगों की तरह ही अधिकार मिलना चाहिए लेकिन इस प्लेकार्ड का एकदम गलत मतलब निकाला जा रहा है।

गौरतलब है कि मुंबई में हुतात्मा चौक से गेटवे के लिए ज्वाइंट एक्शन कमिटी फॉर सोशल जस्टिस के नेतृत्व में यह प्रदर्शन किया गया था। इस मार्च में सैकड़ों लोग शमिल हुए। प्रदर्शन में छात्रों, अलग-अलग सामाजिक संस्थाओं के अलावा फिल्म इंडस्ट्री की कई हस्तियां भी शामिल हुईं। गेटवे ऑफ इंडिया पर हुए विरोध प्रदर्शन में अनुभव सिन्हा, अनुराग कश्यप, दीया मिर्जा, जोया अख्तर, राहुल बोस, विशाल भारद्वाज, तापसी पन्नू भी पहुंचे थे।
 

 

 

 

 

 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर