शॉन पोलक का खुलासा, सचिन को ऑस्ट्रेलिया में ऐसी गेंदों पर होती थी परेशानी 

शॉन पोलक ने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के करियर से जुड़े एक बड़े राज से पर्दा उठाया है। उन्होंने कहा कि सचिन तेंदुलकर इस देश में इस तरह की गेंदबाजी में होती थी परेशानी।

Pollak and Sachin
Pollak and Sachin 

मुख्य बातें

  • ऑस्ट्रेलिया में शॉर्ट पिच गेंदों को खेलने में होती थी परेशानी
  • इस तरह निकाला था इस समस्या का तोड़
  • विरोधी गेंदबाजों के लिए हमेशा खड़ी की परेशानी

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सचिन तेंदुलकर ने अपनी बल्लेबाजी के दम पर दुनियाभर में सफलता का परचम लहराया। उन्होंने दुनिया के दिग्गज गेंदबाजों की गेंदबाजों की जमकर धुनाई की और सभी फॉर्मेट में रनों का अंबार खड़ा किया। लेकिन उन्हें भी विदेशी सरजमीं पर कई बार सामन्जस्य बनाने में परेशानी होती थी। ऐसी ही एक घटना का दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान और तेज गेंदबाज शॉन पोलक ने खुलासा किया है। 

ऑस्ट्रेलिया में होती थी शॉर्ट गेंदों को खेलने में परेशानी
शॉन पोलक ने दावा किया है कि महान बल्लेबाल सचिन तेंदुलकर ने एक बार उनसे कहा था कि उन्हें ऑस्ट्रेलिया में शॉर्ट पिच गेंदों का सामना करने में दिक्कत होती है लेकिन वह विकेटकीपर और स्लिप में ऊपर से शॉट खेलकर इससे प्रभावी तरीके से निपटने में सफल रहे। पोलक ने 'स्काई स्पोर्ट्स' के साथ पोडकास्ट पर कहा, 'उन्होंने एक बार ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने को लेकर मेरे साथ बात की थी और बताया था कि उन्हें अब शॉर्ट पिच गेंदों का सामना करने में दिक्कत होती है इसलिए वह विकेटकीपर और स्लिप के ऊपर से गेंद को खेल देते हैं।'

सचिन के खिलाफ धरी रह जाती थी योजनाएं 
एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 393 और टेस्ट क्रिकेट में 421 विकेट चटकाने वाले पोलक ने कहा कि ऐसा भी समय था जब तेंदुलकर के खिलाफ उनकी सभी योजनाएं धरी की धरी रह जाती थीं और वह इस बल्लेबाज के गलती करने का इंतजार करते थे। पोलाक ने कहा, 'ऐसा भी समय था, विशेषकर उपमहाद्वीप में, जब आप सोचते थे, 'मुझे यकीन नहीं है कि हम इस खिलाड़ी को आउट कर सकते हैं।'

ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर सचिन का बल्ला जमकर चला। वहां उन्होंने ग्लैम मैक्ग्रा, ब्रेट ली जैसे तेज गेंदबाजों का डटकर सामना किया और जमकर रन बनाए। एक बार उन्हें ग्लैन मैक्ग्रा की शॉर्ट पिच गेंद के हेलमेट में लगने के बाद अंपायर ने एलबीडब्ल्यू करार दिया था। उस घटना की क्रिकेट के गलियारों में जमकर चर्चा हुई थी। 

महानतम बल्लेबाजों में से एक माने जाने वाले तेंदुलकर ने अपने शानदार अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान सभी तीन प्रारूपों में 34,357 रन बनाए। तेंदुलकर ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 18,426 रन बनाने के अलावा टेस्ट क्रिकेट में 15,921 रन जुटाए। वह 100 अंतरराष्ट्रीय शतक (51 टेस्ट और 49 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय) जड़ने वाले दुनिया के एकमात्र बल्लेबाज हैं।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर