श्रीसंत की 7 साल बाद हो सकती है केरल की रणजी टीम में वापसी: रिपोर्ट 

S Sreesanth may play for Kerala in upcoming Ranji Trophy: टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज एस श्रीसंत की सात साल बाद आगामी रणजी सीजन में केरल की टीम में वापसी हो सकती है।

S Srisanth
S Srisanth 

मुख्य बातें

  • सितंबर में खत्म हो रहा है एस श्रीसंत पर लगा सात साल का प्रतिबंध
  • केरल क्रिकेट एसोसिएशन में बन गई है श्रीसंत की वापसी पर सहमति
  • श्रीसंत को टीम में वापसी के लिए फिटनेस साबित करने को कहा गया है

तिरुवनंतपुरम: साल 2007 और 2011 में विश्व कप जीतने वाली टीम के सदस्य रहे तेज गेंदबाज श्रीसंत के करियर की नए सिरे से आगामी रणजी सीजन में शुरुआत हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक श्रीसंत को आगामी रणजी सीजन के लिए केरल की टीम में शामिल किया जा सकता है। इसके लिए एसोसिएशन ने उन्हें फिटनेस साबित करने को कहा है।  

साल 2013 में आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में श्रीसंत के क्रिकेट खेलने पर पर बीसीसीआई की अनुशासन समिति ने आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया था। लेकिन कोर्ट ने बीसीसीआई को पिछले साल उनपर लगाए गए प्रतिबंध की समीक्षा करने को कहा था ऐसे में बीसीसीआई लोकपाल ने सुनवाई करते हुए प्रतिबंध को सात साल का कर दिया था। सितंबर में प्रतिबंध की सात साल की अवधि समाप्त हो रही है। इसके बाद वो फिर से घरेलू क्रिकेट खेलने सकेंगे। 

रिपोर्ट के मुताबिक, केरल क्रिकेट एसोसिएशन सितंबर में प्रतिबंध खत्म होने के बाद श्रीसंथ को टीम में शामिल करेगा। इस बारे में बोर्ड के अधिकारियों ने कोच टीनू योहानन से चर्चा कर ली है। हालांकि कोराना वायरस संक्रमण के कारण आगामी रणजी सीजन के आयोजन को लेकर स्थिति फिलहाल स्पष्ट नहीं है बावजूद इसके एसोसिएशन ने आगे बढ़कर दल का चयन करने का फैसला किया है। श्रीसंथ को प्रतिबंध खत्म होने के बाद कैंप में बुलाया जाएगा। इस बारे में केसीए के अंदर सहमति भी बन गई है। 

माना जा रहा है कि केरल के सीनियर तेज गेंदबाज संदीप वॉरियर अगले सीजन तमिलनाडु की ओर से खेल सकते हैं। ऐसे में यदि वो फिट हुए तो टीम में एक अनुभवी तेज गेंदबाज के रूप में खेलने और गेंदबाजी का नेतृत्व करने का उनका रास्ता साफ हो सकता है।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर