वकार यूनिस ने लगाई सीनियर पाकिस्तानी खिलाड़ियों की फटकार, कहा-समय से लें संन्यास

क्रिकेट
Updated Jul 17, 2019 | 21:50 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वकार यूनिस ने टीम के सीनियर खिलाड़ियों की विश्व कप में खराब प्रदर्शन के बाद जमकर फटकार लगाई है।

Waqar Younis
वकार यूनिस( साभार ICC)  |  तस्वीर साभार: Twitter

कराची: पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और कोच वकार यूनिस ने विश्व कप में पाकिस्तान के खराब प्रदर्शन के बाद टीम के सीनियर खिलाड़ियों के संन्यास को लेकर बड़ा बयान दिया है। वकार का मानना है कि टीम के सीनियर खिलाड़ी अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ दौर के गुजर जाने के बाद भी बेवजह अपने क्रिकेट करियर को बड़ा करते हैं। इसके अलावा वकार ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से गुहार लगाई है कि वो किसी भी सूरत में खिलाड़ियों की फिटनेस और फॉर्म के साथ समझौता न करे ताकि विश्व कप में जैसी शर्मनाक हार का टीम को भविष्य में सामना न करना पड़े। 

पाकिस्तान क्रिकेट टीम का सफर हाल ही में समाप्त विश्व कप के पहले दौर के बाद ही समाप्त हो गया था। हालांकि उसके और सेमीफाइनल में चौथे स्थान पर रहते हुए जगह बनाने वाली न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के 11-11 अंक थे लेकिन बेहतर रन औसत के आधार पर कीवी टीम ने बाजी मार ली। इसी के साथ सरफराज अहमद की कप्तानी वाली पाकिस्तानी क्रिकेट टीम का सफर पहले दौर में ही समाप्त हो गया।

-अंतिम समय तक विश्व कप की टीम नहीं थी फाइनल 

ऐसे में वकार यूनिस ने कहा, आखिरी समय तक हमारी विश्व कप की टीम ही फाइनल नहीं थी। टीम के लिए सबसे बड़ी समस्या सीनियर खिलाड़ी हैं जो बेवजह अपने करियर को लंबा खींचना चाहते हैं। उन्हें कोई बताने वाला नहीं है कि उनके सम्मान के साथ संन्यास लेने का वक्त आ गया है।' वकार ने ऐसा कहते हुए किसी सीनियर खिलाड़ी का नाम नहीं लिया। वकार ने आगे कहा, पिछले कई सालों से हम ऐसा होता देख रहे हैं कि किसी टूर्नामेंट के आखिरी पलों में सानियर खिलाड़ियों की टीम में हार के डर से शामिल कर लिया जाता है। 

-टीम चयन के दौरान होता है समझौता 

वकार ने पाकिस्तानी अखबार डेली जंग को दिए साक्षात्कार के दौरान  टूर्नामेंट के आखिरी दौर में लगातार चार मैच में जीत दर्ज करने के बाद पाकिस्तानी टीम का समर्थन करने वाले लोगों की लताड़ लगाते हुए यह साफ किया कि 'टीम को ऐसी स्थिति में होना ही नहीं चाहिए था। जिस तरह टीम ने अफगानिस्तान के खिलाफ संघर्ष किया और आखिरी ओवर में जीत हासिल की। ऐसा करई नहीं होना चाहिए था। हमारी सबसे बड़ी समस्या यह है कि हम टीम चयन के दौरान फिटनेस, सीनियरिटी और अन्य कारणों से समझौता करते हैं।'

-चार साल में दोहराई जाती है वही कहानी 

वकार की जगह साल 2016 में मिकी ऑर्थर को टीम का नया कोच नियुक्त किया गया था। उनकी नियुक्ति के ढाई साल बाद ये साफ हो गया है कि पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों की फिटनेस विश्व कप में भाग ले रही अन्य टीमों की तुलना में कम थी। उन्होंने आगे कहा, हर साल विश्व कप के बाद हमारी टीम के कैरेक्टर बदल जाते हैं लेकिन कहानी वही रहती है। लेकिन ये तरीका आगे बढ़ने का नहीं है इसके लिए इस बात का आकलन करना जरूरी है कि हम कहां गलत हैं। हर चार साल बाद हम उसी कहानी को दोहराते हुए पहले तो कप्तान बदल देते हैं और कोच को बर्खास्त कर देते हैं। इसके बाद मुख्य चयनकर्ता पर गाज गिरती है और सारा दोष घरेलू क्रिकेट की बदहाली पर मढ़ दिया जाता है। लेकिन अंत में इसका कोई फायदा नहीं होता है और वहीं गलतियां फिर दोहराई जाती हैं। 

-वरिष्ठ खिलाड़ियों को दें संन्यास लेने का संदेश 

वकार ने ये भी बताया कि पांच साल पहले वो पाकिस्तान क्रिकेट को आगे बढ़ाने का प्लान बोर्ड को दे चुके हैं। उन्होंने बताया कि मैनें उनसे कहा कि फिटनेस के मसले पर किसी तरह का समझौता नहीं होना चाहिए। इसके साथ ही उन खिलाड़ियों के कौशल में विकास करना जो कि 3 और 4 रन के औसत से रन बना रहे हैं। वहीं टीम के वरिष्ठ खिलाड़ियों को यह संदेश देना होगा कि वो सही समय पर संन्यास लें। 

-दोबारा कोच बनने का इरादा नहीं 

वकार यूनिस ने आगे ये भी कहा कि उनकी टीम का दोबारा हेड कोच बनने की कोई मंशा नहीं है। उन्होंने  कहा कि फिलहाल पीसीबी नए सेटअप में काम कर रहा है। उनके पास काम करने का नया आईडिया है। ये जरूरी नहीं है कि केवल मैं ही पाकिस्तानी क्रिकेट की बेहतरी कर सकता हूं। यदि मै जो कर सकता हूं पीसीबी मुझे ऐसा कोई जिम्मेदारी देता है तो वो उसपर निश्चित तौर विचार करेंगे।  

वकार यूनिय ने विश्व कप के बाद टीम की सोशल मीडिया पर अपशब्दों के साथ हुई आलोचना के बारे में कहा कि आलोचना होनी चाहिए लेकिन उसका सही तरीका होता है। व्यक्तिगत तौर पर किसी के खिलाफ स्तरहीन तरीके से आलोचना नहीं करना चाहिए। 

क्रिकेट/खेल की खबरें SPORTS/ CRICKET NEWS IN HINDI पर पढ़ें,  देश भर की अन्य खबरों के ल‍िए बने रह‍िए TIMES NOW HINDI के साथ। देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर