राहुल द्रविड़ ने तोड़ी भारतीय क्रिकेट में उम्र के फर्जीवाड़े पर चुप्पी, कहा, इसे मिलकर रोकना होगा

क्रिकेट
Updated Sep 28, 2019 | 18:35 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

बेंगलुरू स्थिति भारतीय क्रिकेट अकादमी के निदेशक राहुल द्रविड़ ने भारतीय क्रिकेट में हो रहे उम्र के फर्जीवाडे़ पर चुप्पी तोड़ते हुए इसपर लगाम लगाने का आह्वान किया है।

Rahul Dravid
Rahul Dravid 

बेंगलुरू: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और वर्तमान में एनसीए के निदेशक राहुल द्रविड़ ने भारतीय क्रिकेट में होने वाले उम्र के फर्जीवाड़े पर चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि उम्र के फर्जीवाड़े को उन्होंने 'इरोजन ऑफ कल्चर' (सांस्कृतिक मूल्यों में गिरावट) करार दिया। उन्होंने कहा जो लोग भी इस खेल के साथ जुड़े हुए हैं उन्हें इस पर रोक लगाने के लिए सक्रिय भूमिका अदा करनी होगी। 

द्रविड़ ने कहा, इस पर लगाम लगाने के लिए सभी सचिवालयों, टीम मालिकों और क्लबों को अपने स्तर पर ऐसा नहीं होने देना सुनिश्चित करना होगा।  उन्होंने इसे सांस्कृतिक मूल्यों में गिरावट करार देते हुए कहा, ये ऐसी स्थितियों का निर्माण करता है जहां कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी जिन्हें वास्तव में खेलना चाहिए उन्हें मौका नहीं मिलता है। राज्य खेल संस्थाओं को यह सुनिश्चित करना होगा कि खिलाड़ियों की वास्तिवक उम्र के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ न हो। 
 
बीसीसीआई के किसी एक खिलाड़ी को केवल एक बार अंडर 19 विश्व कप में शामिल होने के नियम को लागू करने में राहुल द्रविड़ ने टीम का कोच रहते हुए अहम भूमिका अदा की। उन्होंने कार्यक्रम के दौरान उपस्थित खिलाड़ियों से कहा याद कीजिए कि आपने इस खेल को खेलना क्यों शुरू किया। जो भी खिलाड़ी इस खेल को खेल रहे हैं सभी को रणजी ट्रॉफी या आईपीएल में खेलने का मौका नहीं मिलेगा।टीम के लिए चयन को अपने और खेल के उत्साह के बीच की बाधा न बनने दें। यदि आप हमेशा अगली बार अपने टीम में चयन के बारे में सोचेंगे तो आप खेल का पूरी तरह लुत्फ नहीं उठा पाएंगे।  

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...