मिस्‍बाह ने अपनी सैलेरी और 'टुक-टुक' वाले सवालों पर दिए ऐसे जवाब, पत्रकार की बोलती हुई बंद

क्रिकेट
Updated Sep 26, 2019 | 14:38 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

श्रीलंका के खिलाफ सीरीज से पहले पाकिस्‍तान के हेड कोच मिस्‍बाह उल हक ने पत्रकारों के सवालों के बेहद चुटीले जवाब देकर उनकी बोलती बंद कर दी।

misbah ul haq
मिस्‍बाह उल हक  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • पाकिस्‍तान के हेड कोच के रूप में पहली सीरीज से पूर्व मिस्‍बाह उल हक ने मीडिया से बातचीत की
  • मिस्‍बाह ने कई विषयों पर बातचीत की, जिसमें उनकी सैलेरी से लेकर पाकिस्‍तान में क्रिकेट की वापसी तक रही
  • श्रीलंका का पाकिस्‍तान दौरा 27 सितंबर से शुरू होगा

कराची: पाकिस्‍तान क्रिकेट टीम के हेड कोच के रूप में अपनी पहली सीरीज से पूर्व मिस्‍बाह उल हक ने प्रेस कांफ्रेंस में कई विषयों पर बातचीत की। पाकिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान ने देश में क्रिकेट लौटने से लेकर अपने वेतन के बारे में जवाब दिए। मिस्‍बाह ने अपने चिर-परिचित शांत अंदाज में पत्रकारों के सवालों के जवाब दिए और हॉल में मौजूद लोगों को गुदगुदाया।

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान एक पत्रकार ने मिस्‍बाह से 'टुक-टुक' मानसिकता (रक्षात्‍मक रवैया) के बारे में सवाल किया। पत्रकार ने कहा कि घरेलू क्रिकेट में इस समय कई इंटरनेशनल क्रिकेटर्स खेल रहे हैं और इनमें से कुछ ने शतक भी जमाए। मगर इन सभी ने बेहद धीमी पारियां खेलकर शतक जमाए। किसी ने शतक पूरा करने के लिए 235 गेंदें ली तो किसी ने ज्‍यादा। ये क्रिकेटर आक्रामक क्‍यों नहीं खेले। पता हो कि मिस्‍बाह उल हक भी अपने समय में काफी अच्‍छे डिफेंसिव बल्‍लेबाज के रूप में जाने जाते थे। पत्रकार ने इशारों-इशारों में मिस्‍बाह से यह पूछा कि कहीं वह अन्‍य खिलाडि़यों को भी डिफेंसिव गेम खेलने की तकनीक तो नहीं बता रहे हैं, इस पर पूर्व कप्‍तान भी पत्रकार को उसी की भाषा में तगड़ा जवाब देने के मूड में दिखे।

चलिए आपको बताते हैं कि पत्रकार ने मिस्‍बाह से क्‍या सवाल किया था। पत्रकार ने पूछा, 'दमदार शॉट लगाने के बजाय ज्‍यादा खिलाड़ी टुक-टुक खेल रहे हैं। क्रिकेटर्स 235 या ज्‍यादा गेंदों पर शतक जमा रहे हैं। आपके समय में भी बल्‍लेबाज दमदार शॉट खेलने के बजाय टुक-टुक वाली मानसिकता पर था। तो नए हेड कोच और बल्‍लेबाजी कोच के रूप में आप इन‍ खिलाडि़यों को टुक-टुक खेलने देना जारी रखेंगे?' इस पर मिस्‍बाह ने जवाब दिया, 'ऐसा लगता है कि आपके सवाल में ज्‍यादा ध्‍यान टुक-टुक पर है, लगता है कि आपके पास कार नहीं है। या फिर आपको किसी ने कहा होगा कि मुझे गुस्‍सा दिलाने के लिए यह सवाल पूछा जाए।'

45 वर्षीय मिस्‍बाह से पत्रकार ने अन्‍य पत्रकार ने उनकी सैलेरी के बारे में सवाल किया, जो कि चेयरमैन और पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड के एमडी से ज्‍यादा है। मिस्‍बाह इस सवाल के जवाब में मुस्‍कुराए और कहा कि उन्‍होंने कोई ज्‍यादा सैलेरी नहीं मांगी थी। उन्‍होंने साथ ही बताया कि बोर्ड उन्‍हें उतना ही वेतन दे रहा है, जो इससे पहले के हेड कोच मिकी आर्थर को देता था। मिस्‍बाह ने कहा, 'मैंने ये जिम्‍मेदारी हासिल करने के लिए कोई जादू नहीं किया। मैंने वेतन की कोई मांग नहीं की थी। मैंने सिर्फ इतना पूछा कि आप मुझे उतनी ही सैलेरी देंगे, जितनी पूर्व कोच को देते थे।'

मिस्‍बाह से पहले पाकिस्‍तान क्रिकेट टीम के हेड कोच मिकी आर्थर थे, जिनकी सैलेरी 20,000 यूएस डॉलर यानी करीब 31.5 लाख रुपए प्रति महीने (पाकिस्‍तान की करंसी के मुताबिक) थी। मिस्‍बाह का बतौर हेड कोच पहला असाइनमेंट श्रीलंका के खिलाफ होगा। इस सीरीज के शुरू होने से पहले ही कुछ विवाद हुए। श्रीलंका के 10 स्‍टार खिलाडि़यों ने सुरक्षा चिंता को देखते हुए पाकिस्‍तान जाने से इनकार कर दिया। श्रीलंका क्रिकेट को मजबूरन अपने दूसरे दर्जे की टीम भेजना पड़ी।

मिस्‍बाह ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस के दौरान इस बात पर जोर देकर कहा कि पाकिस्‍तान अब अपने घरेलू मैच देश के बाहर नहीं खेलेगा। इससे पहले पाकिस्‍तान की टीम अपने घरेलू मुकाबले यूएई में खेल रही थी। 

 

अगली खबर