लाबुशेन का फैन हुआ पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज, कहा बन सकते हैं भविष्य में कप्तान  

Marnus Labuschagne can become next Austrlian captain: ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज कप्तान का मामना है कि मार्नस लाबुशेन के अंदर ऑस्ट्रेलिया का कप्तान बनने के पूरे गुण हैं।

Marnus Labuschagne
Marnus Labuschagne 

सिडनी: ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज कप्तान और बल्लेबाज रिकी पॉन्टिंग युवा कंगारू बल्लेबाज मार्नस लाबुशेन के कायल हो गए हैं। उन्हें इस खिलाड़ी के अंदर ऑस्ट्रेलियाई टीम का भविष्य का कप्तान नजर आ रहा है। पॉन्टिंग का मामना है कि वो ये बड़ी जिम्मेदारी संभालने के लिए सबसे बड़े दावेदार बनकर उभरे हैं। 

ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच खेली जा रही मौजूदा टेस्ट सीरीज के सिडनी में शुक्रवार को शुरू हुए तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच के पहले दिन मार्नस लाबुशेन ने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करते हुए नाबाद 130 रन बनाए। ये पिछले पांच टेस्ट मैच की सात पारियों में उनके बल्ले से निकला चौथा शतक है। एशेज 2019 में शानदार वापसी करने के बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा है और वो लगातार शानदार प्रदर्शन करते हुए आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में टॉप 5  बल्लेबाजों में शामिल हो गए हैं। ऐसे में दुनियाभर के क्रिकेटप्रेमी उनके खेल से प्रभावित हुए हैं। ऐसे में यदि रिकी पॉन्टिंग को उनके अंदर भविष्य का कप्तान नजर आ रहा है तो ये लाबुशेन जैसे युवा खिलाड़ी के लिए बड़ी बात है। 

पॉन्टिंग का मानना है कि मौजूदा कप्तान टिम पेन की उम्र उनका साथ नहीं दे रही है। लेकिन वो खुद को बतौर कप्तान एक साल और दे सकते हैं। हालांकि बतौर कप्तान उन्होंने पिछले सप्ताह मेलबर्न में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। 

पॉन्टिंग ने कहा, ट्रेविस हेट वर्तमान में टीम के उपकप्तान हैं लेकिन अगले 12 से 18 महीने बाद लाबुशेन कप्तान के रूप में बड़े दावेदार बनकर उभरेंगे। बशर्ते वो एक बार वो टीम में खुद को अच्छी तरह स्थापित कर लें। वो टीम का कप्तान बनने के लिए सबसे उपयुक्त नजर आ रहे हैं हो सकता है कि किसी भी समय उन्हें ये जिम्मेदारी सौंप दी जाए। 

मौजूदा कप्तान टिम पेन का 49 टेस्ट पारियों में 31.58 का औसत है और उनके बल्ले से कुल 7 अर्धशतक निकले हैं। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उन्होंने अपना दूसरा शतक पिछले साल अक्टूबर में बनाया था।  न्यूजीलैंड  के खिलाफ मेलबर्न टेस्ट में 79 रन की पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलियाई टीम अच्छी स्थिति में पहुंचने में सफल रही थी। 

अभी से 12 महीने बाद स्थितियां बदलेंगी मैं पेन को कप्तान के रूप में 12 महीने और देना चाहूंगा। वो 35 साल के हैं लेकिन क्रिकेट के लिहाज से देखें तो वो अभी भी जवान हैं। अपनी उंगली में परेशानी की वजह से उन्होंने करियर में लंबा समय गंवाया। छोटी-छोटी चोटों की वजह से उनके शरीर ने मैदान पर फिलहाल उनका साथ देना नहीं छोड़ा है। वो टीम के अन्य खिलाड़ियों की तरफ फिट हैं। 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर