विश्व कप 2020 से पहले उजागर हुई टीम इंडिया की बड़ी कमजोरी, नहीं मिल रहा समाधान

Indian Cricket Team's Mission 2020: भारतीय क्रिकेट टीम की अगले साल होने वाले टी-20 विश्व कप से पहले एक बड़ी कमजोरी उजागर हुई है लेकिन इसका समाधान होता नहीं दिख रहा है।

विश्व कप 2020 से पहले उजागर हुई टीम इंडिया बड़ी कमजोरी
Virat Kohli  |  तस्वीर साभार: AP

तिरुवनंतपुरम: भारतीय क्रिकेट टीम वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के दौरान ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी में खेले जाने वाले टी-20 विश्व कप की तैयारी कर रही है। अगले साल अक्टूबर में खेले जाने वाले विश्व कप से पहले भारतीय टीम की एक बड़ी कमजोरी उजागर हुई है। जो उसके विश्व चैंपियन बनने की राह में बाधा बन सकती है। इंग्लैंड की मेजबानी में खेले गए वनडे विश्व कप में सेमीफाइनल में हार के बाद टीम इंडिया पर टी-20 विश्व कप जीतने का दबाव है। ऐसे में विराट सेना ने समय रहते इसके लिए तैयारी भी शुरू कर दी है। 

रविवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ भारतीय टीम को 8 विकेट के अंतर से हार का सामना करना पड़ा। मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया पहले तो 170 रन का स्कोर खड़ा कर सकी। इसके बाद गेंदबाज भी कैरेबियाई बल्लेबाजों पर लगाम लगा पाने में असमर्थ रहे। ऐसे में 8 विकेट और 9 गेंद शेष रहते वेस्टइंडीज ने मैच अपने नाम कर लिया। ऐसे में साल 2017 के बाद से टी-20 में भारतीय टीम के प्रदर्शन का जो आंकड़ा उभरकर सामने आ रहा है वो प्रशंसकों के लिए सुखद नहीं है। 

किंग ऑफ चेज के नाम से दुनियाभर में विख्यात विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम के लिए टी-20 मैचों में पहले बल्लेबाजी करते हुए जीत हासिल करना मुश्किल नजर आ रहा है। साल 2017 से भारतीय टीम ने कुल 23 टी-20 मैच खेले हैं जिसमें से 15 में उसे जीत हासिल हुई है जबकि 8 में हार का सामना करना पड़ा है। यानी उसे 65 प्रतिशत मैचों में जीत हासिल हुई है। लेकिन इन आंकड़ों को यदि पहले बल्लेबाजी करते हुए और रनों का पीछा करते हुए में बांटे तो स्थिति ज्यादा साफ होती है। 

भारतीय टीम ने इस दौरान 15 मैचों में पहले बल्लेबाजी की। जिसमें से 8 में उसे जीत मिली जबकि 7 मुकाबलों में उसे हार का मुंह देखना पड़ा है। यानी टी-20 मैचों में पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम को तकरीबन पचास प्रतिशत मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। वहीं रनों का पीछा करते हुए यह आंकड़ा बेहतरीन है। पिछले 2 साल में भारतीय टीम ने टी-20 में 8 मैच में रनों का पीछा करते हुए 7 में जीत हासिल की है जबकि केवल 1 मैच में उसे हार का सामना करना पड़ा है। यानी 88 प्रतिशत मैचों में भारतीय टीम रनों का पीछा करते हुए विजयी हुई है।  

ऐसे में स्थिति भारतीय टीम के लिए टॉस ही परेशानी खड़ी कर देता है। यदि विरोधी कप्तान ने भारतीय टीम को टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित करते ही उसका आधा काम हो जाएगा। विराट कोहली भी वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज से पहले इस कमजोरी का जिक्र कर चुके हैं कि हमें छोटे स्कोर का बचाव करने में असफल रहे हैं। ऐसे में विराट कोहली और रवि शास्त्री को पहले बल्लेबाजी करते हुए जीत का मंत्र ढूंढना होगा। नहीं तो ये जोड़ी इंग्लैंड के बाद ऑस्ट्रेलिया में भी आईसीसी खिताब जीतने से वंचित रह जाएगी। 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर