विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका को क्‍या सोचकर दिया फॉलोऑन, उमेश ने कर दिया खुलासा

क्रिकेट
Updated Oct 14, 2019 | 11:51 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

उमेश यादव ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पुणे टेस्‍ट में शानदार प्रदर्शन करके राष्‍ट्रीय टीम में धमाकेदार वापसी की। उन्‍होंने कहा कि भारतीय टेस्‍ट टीम में तेज गेंदबाजों के बीच स्‍वस्‍थ प्रतिस्‍पर्धा है।

umesh yadav and virat kohli
उमेश यादव और विराट कोहली  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • उमेश यादव ने पुणे टेस्‍ट में 59 रन देकर 6 विकेट चटकाए
  • उमेश ने पिछले साल दिसंबर में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में आखिरी टेस्‍ट खेला था
  • उमेश को भारत के पिछले 19 टेस्‍ट में सिर्फ 6 में मौका मिला क्‍योंकि तेज गेंदबाजों के बीच कड़ी प्रतिस्‍पर्धा है

पुणे: टीम इंडिया के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने एक बार फिर चयनकर्ताओं को टीम प्रबंधन को लाल गेंद के साथ अपनी क्षमताओं से याद दिलाया है कि वह बेहतरीन तेज गेंदबाजों में से एक हैं। उमेश ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पुणे में खेले गए दूसरे टेस्‍ट में शानदार प्रदर्शन करके भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई। उमेश को चोटिल जसप्रीत बुमराह की जगह टीम में शामिल किया गया था। उन्‍होंने पुणे टेस्‍ट में कुल 59 रन देकर 6 विकेट लिए। उमेश ने दोनों पारियों में तीन-तीन विकेट चटकाए।

उमेश यादव ने पिछले साल दिसंबर में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में टेस्‍ट खेलने के बाद अब जाकर मैच खेला। उन्‍हें भारत के पिछले 19 टेस्‍ट मैचों में सिर्फ 6 बार प्‍लेइंग इलेवन में शामिल किया गया क्‍योंकि दाएं हाथ के तेज गेंदबाज को जसप्रीत बुमराह, मोहम्‍मद शमी, इशांत शर्मा और भुवनेश्‍वर कुमार से कड़ी स्‍पर्धा मिल रही है। यह तेज गेंदबाज क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप में भारत के प्रमुख गेंदबाजों में से एक हैं।

उमेश का मानना है कि भारतीय टीम में तेज गेंदबाजों के बीच स्‍वस्‍थ प्रतिस्‍पर्धा है और हर किसी को बराबरी से प्रदर्शन करने का मौका मिल रहा है। पुणे टेस्‍ट के बाद सौराष्‍ट्र के तेज गेंदबाज ने कहा, 'मैच में खेलने का मौका नहीं मिलना, खेल का हिस्‍सा है। जब तक मैं क्रिकेट खेलूंगा, तब तक ऐसा होता रहेगा। ऐसी स्थिति आती रहेगी। मुझे पता है कि जब भी मौका मिले तो मुझे तैयार रहना है। इसके लिए जरूरी है कि सकारात्‍मक रहूं, लगातार मैच खेलूं और फोकस्‍ड रहूं।'

उमेश ने कहा कि जब भी उन्‍हें टीम इंडिया में मौका नहीं मिलता तो वह घरेलू क्रिकेट में खेलने पर ध्‍यान लगाते हैं ताकि राष्‍ट्रीय टीम में सिलेक्‍शन के लिए तैयार रहे। उन्‍होंने कहा, 'मैं हमेशा कोशिश करता हूं कि लगातार मैच प्रैक्टिस मिलती रहे। चाहे रणजी ट्रॉफी हो या फिर भारत ए या कुछ और। इससे मुझे सकारात्‍मकता मिलती है और मेरा ध्‍यान लगा रहता है क्‍योंकि जितने ज्‍यादा आप मैच खेलेंगे, उतना ज्‍यादा मैच अभ्‍यास आपको मिलेगा, जो काफी महत्‍वपूर्ण हैं। आप नेट्स पर जितनी भी गेंदबाजी का अभ्‍यास कीजिए, मैच में हमेशा स्थिति अलग होती है और आपको पता होता है कि गेंदबाजी करने के लिए क्‍या योजना बनाने की जरूरत है।'

टीम इंडिया में लगातार मौके नहीं मिलने के बारे में बात करते हुए उमेश ने कहा, 'चयन मेरे हाथों में नहीं है। मैं नहीं कह सकता कि हर टेस्‍ट मैच खेलना है। सभी गेंदबाज अच्‍छे हैं। सभी अच्‍छा प्रदर्शन कर रहे हैं और यहां स्‍वस्‍थ प्रतिस्‍पर्धा है। जो भी अच्‍छा प्रदर्शन करेगा, वह लगातार खेलेगा। एक समय हम सभी को मौका मिलता है और जब भी ऐसा हो, तो मुझे तैयार, सकारात्‍मक और फोकस्‍ड रहने की जरूरत है।'

उमेश ने साथ ही बताया कि भारतीय कप्‍तान विराट कोहली ने पुणे टेस्‍ट के चौथे दिन दक्षिण अफ्रीका को फॉलोऑन क्‍यों दिया। इस बारे में खुलासा करते हुए उमेश ने कहा कि सभी गेंद तरोताजा थे और विरोधी टीम पर दोबारा हावी होने को तैयार थे, जबकि दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी में भारतीय गेंदबाजों ने 105.4 ओवर किए थे। बकौल उमेश, 'सभी गेंदबाजों ने कहा कि अगर फॉलोऑन देते हैं तो हम सभी तैयार हैं क्‍योंकि हमें आराम करने की जरुरत महसूस नहीं हुई। सभी का इरादा जीतने का था न कि थोड़ी बल्‍लेबाजी करके मैच आगे खींचने का।'

अगली खबर
विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका को क्‍या सोचकर दिया फॉलोऑन, उमेश ने कर दिया खुलासा Description: उमेश यादव ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पुणे टेस्‍ट में शानदार प्रदर्शन करके राष्‍ट्रीय टीम में धमाकेदार वापसी की। उन्‍होंने कहा कि भारतीय टेस्‍ट टीम में तेज गेंदबाजों के बीच स्‍वस्‍थ प्रतिस्‍पर्धा है।
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...