अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट में अंपायर्स की सैलरी का हुआ खुलासा! आंकड़े कर देंगे हैरान

क्रिकेट
Updated Jul 31, 2019 | 13:26 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

हाल के दिनों में, ऑन-फील्ड अंपायर मैचों के दौरान कुछ गलत फैसलों के कारण व्यापक आलोचना का केंद्र रहे हैं। मगर इस बात से उनकी कमाई पर कोई फर्क नहीं पड़ता है।

Umpires
अंपायर  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • क्या आप जानते हैं कि एक अंपायर की सालाना सैलरी कितनी होती है
  • घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अंपायर्स की सैलरी का खुलासा हो गया है
  • सैलरी के आंकड़े आपको हैरान कर देंगे

नई दिल्ली : आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के रोमांच ने दुनिया भर के खेल प्रेमियों का खूब मनोरंजन किया। इस बार के विश्व कप को एशियाई देशों के साथ-साथ यूरोपीय और दक्षिण अमेरिकी देशों ने भी जमकर समर्थन दिया। अब इस खेल को दुनिया के सबसे लोकप्रिय खेलों में से एक बनाने की शुरुआत हो चुकी है। क्रिकेट से जुड़ी हर चीज को दुनिया भर के करोड़ों प्रशंसकों द्वारा बारीकी से देखा जा रहा है और इसमें क्रिकेटरों का जीवन भी शामिल है। इस खेल की बढ़ती लोकप्रियता के कारण अंपायरों पर भी फैंस की नजरें बनी रहती हैं।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अंपायरिंग की गुणवत्ता और दुनिया भर में होने वाले टी 20 टूर्नामेंटों की अधिकता के बारे में बहुत सारी बातें हुई हैं। हाल के दिनों में, ऑन-फील्ड अंपायर मैचों के दौरान कुछ गलत फैसलों के कारण व्यापक आलोचना का केंद्र रहे हैं। मगर इस बात से उनकी कमाई पर कोई फर्क नहीं पड़ता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि अंपायर अंतरराष्ट्रीय मैचों के साथ-साथ घरेलू टूर्नामेंटों में भी अंपायरिंग करते हुए कितना कमाते हैं?

अंपायर अंतर्राष्ट्रीय मैचों के दौरान अंपायरिंग करने के लिए बड़े पैमाने पर फीस लेते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, आईसीसी एलीट पैनल अंपायर की वार्षिक फीस 35,000 अमेरिकी डॉलर (24,00,000 रुपये) से 45,000 अमेरिकी डॉलर (31,00,000 रुपये लगभग) तक होती है। इतना ही नहीं, टेस्ट मैचों के दौरान आईसीसी अंपायरों को 3,000 अमेरिकी डॉलर (2,00,000 रु), जबकि टी20 में 1000 अमेरिकी डॉलर (70,000 लगभग) और वनडे मैचों में अंपायरिंग करने के लिए 2200 अमेरिकी डॉलर (1,50,000 लगभग) मैच फीस मिलती है।

आम तौर पर, एलीट पैनल का एक अंपायर एक साल में आठ से 10 टेस्ट मैच और 10 से 15 एकदिवसीय मैचों में अंपायरिंग करता है, जिसमें वार्षिक आय 46,000 अमेरिकी डॉलर (32,00,000 रुपये) होती है। ये राशि तब बढ़ जाती है, जब अंपायरों को आईसीसी टूर्नामेंट में अंपायरिंग करनी पड़ती है। आईपीएल के दौरान अंपायर्स की सैलरी में फेरबदल होता है।

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल), जिसे दुनिया में सबसे बड़ी टी 20 लीग माना जाता है, अंपायर प्रति मैच 2500 अमेरिकी डॉलर की औसत कमाई करते हैं, जो लगभग 1,70,000 रुपये है। मैच फीस के अलावा, अंपायरों को दुनिया भर की यात्रा फ्री में करने को मिलती है। यदि वह किसी भी श्रृंखला या टूर्नामेंट के लिए यात्रा कर रहे हैं, तो आकर्षक होटल में रुकना भी अंपायरों के लिए मुफ्त है।

दिलचस्प बात यह है कि कोई भी व्यक्ति अंपायर बन सकता है, भले ही वह पेशेवर क्रिकेट खेले या नहीं। इसके लिए उसे बाकी खिलाड़ियों की तरह रिटायरमेंट की घोषणा करनी होती है। रिटायर होने के बाद, एक अंपायर के पास मैच रेफरी के पैनल में शामिल होने का विकल्प होता है, लेकिन केवल आवश्यक परीक्षण पास करने के बाद ही उसे पैनल में शामिल किया जाता है। इसके अलावा उन्हें नियमित चिकित्सा परीक्षणों से भी गुजरना होता है ताकि वो ये साबित कर सकें कि वो अंपायरिंग जैसे थका देने वाले काम करने के लिए पूरी तरह से फिट हैं।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर