हार्दिक पांड्या ने ब्रेक का उठाया फायदा, अपनी फिटनेस पर किया तगड़ा काम

क्रिकेट
Updated Sep 12, 2019 | 09:35 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

हार्दिक पांड्या ने कहा कि ब्रेक मेरे लिए जरूरी था क्‍योंकि आईपीएल लंबा टूर्नामेंट रहा और इसके बाद विश्‍व कप। दोनों ही टूर्नामेंट में मेरा प्रदर्शन अच्‍छा रहा।

hardik pandya
हार्दिक पांड्या  |  तस्वीर साभार: Facebook

मुख्य बातें

  • हार्दिक पांड्या ने बताया कि पिछले महीने दिन में दो बार फिटनेस किया करते थे
  • पांड्या ने टीम इंडिया के एक्‍स फैक्‍टर और टैटू के प्रति प्‍यार पर अपने विचार प्रकट किए
  • पांड्या ने कहा कि उनका विश्‍वास दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जादूई प्रदर्शन पर है

मुंबई: टीम इंडिया के प्रमुख ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या को आईपीएल और विश्‍व कप के थकाऊ कार्यक्रम के बाद वेस्‍टइंडीज दौरे के लिए आराम दिया गया था। जहां कोई सोच रहा होगा कि हार्दिक ने अपने खाली समय का भरपूर फायदा उठाया होगा और समय का खूब आनंद लिया होगा, वहीं खेल के प्रति उनका प्‍यार ऐसा रहा कि पिछले महीने उन्‍होंने रोजाना दिन में दो बार ट्रेनिंग की। मुंबई में बारिश के कारण पांड्या बड़ौदा चले गए और अपनी शैली पर काम किया।

एक न्‍यूज एजेंसी से बातचीत करते हुए पांड्या ने प्रोटियाज टीम के खिलाफ सीरीज की चुनौती, अपनी फिटनेस पर काम, ऑलराउंडर का कार्यभार, इस भारतीय टीम के एक्‍स फैक्‍टर और टैटूज के प्रति प्‍यार को लेकर कई खुलासे किए। हार्दिक पांड्या को क्रिकेट से काफी लगाव है और उन्‍होंने बताया कि मैदान से दूर रहकर उन्‍होंने अपने समय का भरपूर आनंद लिया। उन्‍होंने इस दौरान अपने खेल और फिटनेस पर भी जमकर काम किया। पांड्या को पहले भी पीठ की समस्‍या हो चुकी है और वह इसे दोहराना नहीं चाहते।

भारतीय ऑलराउंडर ने कहा, 'मेरे लिए ब्रेक जरूरी था क्‍योंकि आईपीएल लंबा टूर्नामेंट था और फिर विश्‍व कप हुआ। दोनों ही टूर्नामेंट में मेरा प्रदर्शन अच्‍छा रहा। इसलिए मैंने अपना सर्वश्रेष्‍ठ देने की कोशिश की और इससे मुझे कुछ समय आराम की जरूरत लगी। तभी टीम प्रबंधन ने मुझे वेस्‍टइंडीज दौरे के लिए आराम देने का फैसला किया और इससे मुझे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पूरी तरह फिट होकर मैदान पर लौटने का मौका मिला।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'न ही टीम प्रबंधन और न ही मैं चोटिल होना चाहता हूं। आराम से मुझे मदद मिली और मेरी फिटनेस अगले स्‍तर तक पहुंच गई है। मैंने पिलेट्स करना शुरू किया और इससे मुझे काफी मदद मिली। यह क्रिकेटर्स के बीच बहुत कॉमन है। इसलिए मैं देखना चाहता था कि यह किस तरह काम करता है और पाया कि बहुत अच्‍छे से किया। पिछले महीने मैंने रोजाना दिन में दो बार वर्कआउट किया। यह जरूरी था कि मैं अपनी पीठ की हालत सुधारने के लिए कुछ नया करूं। मेरे और मेरे खेल के लिए यह ब्रेक जरूरी था।'

यह पूछने पर कि अचानक बड़ौदा जाना कैसे हुआ तो पांड्या ने कहा, 'मुंबई में बारिश हो रही थी तो मैंने फैसला किया कि घर जाकर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज की तैयारी करूं।' विश्‍व कप में हार के बाद हार्दिक पांड्या भी अन्‍य टीम साथियों के समान निराश महसूस कर रहे थे, लेकिन ऑलराउंडर का पूरा ध्‍यान आगे की सीरीज और 2020 टी20 विश्‍व कप पर लगा है। 

उन्‍होंने कहा, 'वह मुश्किल समय था और हम सभी दर्द महसूस कर रहे थे, लेकिन जिंदगी में आगे बढ़ना होता है। मैं और भी ज्‍यादा उदास होता अगर हम अपने प्रदर्शन के साथ न्‍याय नहीं कर पाते। मेरे ख्‍याल से उन 30 मिनट को छोड़ दिया जाए तो टीम के रूप में हमने चैंपियन की तरह खेला। मेरे ख्‍याल से हम सभी ने अच्‍छा खेला और हर कोई टीम के लिए योगदान देते हुए आगे बढ़ने की कोशिश में जुटा था। नॉकआउट चरण के मैच में हम कहीं पिछड़ गए। अब हम इससे उबर रहे हैं और अगले साल होने वाले टी20 विश्‍व कप पर ध्‍यान लगा रहे हैं।'

यह पूछने पर कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज को लेकर क्‍या सोच रहे हैं तो पांड्या ने कहा कि वह जादू पर विश्‍वास करते हैं। उन्‍होंने मुस्‍कुराते हुए कहा, 'ईमानदारी से कहूं तो मैंने कोई लक्ष्‍य नहीं बनाया क्‍योंकि मेरी कोशिश कुछ अलग करने की होती है। मैं सिर्फ बेहतर तैयारी और उन क्षेत्रों पर ध्‍यान दे रहा हूं जहां मुझे काम करना है। मेरे ख्‍याल से जादूई चीजें होती हैं। इसलिए मैं अपने खेल से जवाब देना चाहता हूं और परिस्थिति के मुताबिक काम करूं। आप कभी नहीं जानेंगे कि कब मेरी टीम खराब खेल रही है और अचानक मैं जिम्‍मेदारी उठाकर कुछ विशेष कर जाऊं। मेरा ध्‍यान उस पर है। दक्षिण अफ्रीका अच्‍छी टीम है और बेहतर सीरीज से हमें टी20 में लय मिलेगी।'

ऑलराउंडर होना आसान नहीं और पांड्या कहते हैं कि कार्यभार का प्रबंधन सबसे महत्‍वपूर्ण हैं क्‍योंकि किसी को बल्‍लेबाजी और गेंदबाजी दोनों पर बराबरी से ध्‍यान देना होता है। उन्‍होंने कहा, 'यह थोड़ा मुश्किल है क्‍योंकि जो बल्‍लेबाजी में मैं करता हूं, वहीं फिर गेंदबाज के रूप में भी दोहराना होता है। इसलिए मैं उतनी गेंदबाजी करता हूं, जितना एक गेंदबाज करता है। इसी प्रकार उतने समय बल्‍लेबाजी करता हूं, जितना एक बल्‍लेबाज करता है। इससे मेरे खेल में सुधार होता है। इसी वजह से मेरे लिए सुपर फिट रहना जरूरी है और मैं लगातार अपनी फिटनेस पर ध्‍यान दे रहा हूं।'

हार्दिक पांड्या को कोच रवि शास्‍त्री और कप्‍तान विराट कोहली भारतीय टीम का एक्‍स फैक्‍टर कह चुके हैं। यह जानकर कैसा महसूस होता है? पांड्या ने कहा, 'जब कप्‍तान या कोच आपको समर्थन देते हैं तो इससे विश्‍वास बढ़ता है और आप ऐसा प्रदर्शन करने की कोशिश करते हो कि सर्वश्रेष्‍ठ बाहर निकले। मैंने हमेशा भरोसा किया कि परिस्‍थति को समझकर खेलूं ताकि अपने खेल का आनंद ले सकूं। इस गेम में मजा लेने से दर्द घट जाता है। यह जरूरी है कि आप बाहर जाकर अपने खेल का आनंद उठाए क्‍योंकि दिन के अंत में यह खेल है और मुझे इस खेल से प्‍यार है।'

पांड्या और क्रिकेट में उनकी वापसी में कुछ है। जब भी वह क्रिकेट ग्राउंड में लौटते हैं, वह लोगों को बैठाकर ध्‍यान दिलाते हैं। इस राज का खुलासा करने पर पांड्या ने जोरदार ठहाका लगाया और कहा कि उनकी जिम्‍मेदारी हर बार आगे बढ़ने की है जब भी वह मैदान पर होते हैं। उन्‍होंने कहा, 'मैं और मेरी टीम इस बारे में बात करती हैं और ईमानदारी कहूं तो मुझे तैयारी करना और अपना सर्वश्रेष्‍ठ देना पसंद है। जब भी मैं वापस आता हूं तो दमदार प्रदर्शन करने की कोशिश करता हूं और मुझे लगता है कि काम करने के मेरे तरीके से मदद मिलती है। जब मेरे खेल की बात आती है तो प्रदर्शन से साबित करना पसंद करता हूं। मेरी कोशिश हर सीरीज में सुधार की होती है। मैं न सिर्फ अपने खेल पर ध्‍यान देता हूं बल्कि अपनी फिटनेस पर भी बराबर ध्‍यान देता हूं। यह ऐसी चीज है जो मैं मैदान पर आकर हर बार सुधारना चाहता हूं।'

विश्‍व के सर्वश्रेष्‍ठ ऑलराउंडर्स में से एक हार्दिक पांड्या ने बातचीत अधूरी रह जाती है अगर उनके टैटू की बात न हो। पांड्या ने कहा कि सभी टैटू कुछ संदेश देते हैं। उन्‍होंने कहा, 'मुझे टैटू पसंद है और इन सभी में कुछ संदेश है। मैं सिर्फ इसलिए टैटू नहीं कराता कि ये पसंद है। मैं अपने लिए टैटू के जरिये एक संदेश लेता हूं। इसके पीछे कुछ वजह है। जब आप खेल रहे होते हैं तो समय नहीं होता। इसलिए मैं टैटू तब बनवाता हूं जब आराम कर रहा हूं।'

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...