12 नंबर की जर्सी को करो रिटायर, युवराज सिंह के लिए गौतम गंभीर ने बीसीसीआई से की खास अपील

क्रिकेट
Updated Sep 22, 2019 | 15:43 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

गौतम गंभीर ने बीसीसीआई से अपील की है कि वह युवराज सिंह को विशेष सम्‍मान देने के लिए उनकी जर्सी नंबर-12 को रिटायर करें। गंभीर ने युवराज को जिंदगी में एक बार मिलने वाला खिलाड़ी करार दिया।

gautam gambhir and yuvraj singh
गौतम गंभीर और युवराज सिंह 

मुख्य बातें

  • गंभीर ने युवी की 12 नंबर जर्सी रिटायर करने की मांग बीसीसीआई से की
  • युवराज ने आईसीसी वर्ल्‍ड टी20 और 2011 विश्‍व कप में प्रमुख योगदान दिया था
  • गंभीर ने बताया कि 6 छक्‍के जमाने के बाद युवराज ने उनसे क्‍या कहा था

नई दिल्‍ली: टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटरों गौतम गंभीर और युवराज सिंह ने कुछ महीनों के अंतराल में अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट से संन्‍यास ले लिया। गंभीर ने पिछले साल दिसंबर में क्रिकेट को अलविदा कहा और अब राजनीति में सक्रिय हैं। वहीं युवराज सिंह ने इस साल जून में इंटरनेशनल क्रिकेट और आईपीएल से संन्‍यास लिया। अब वह अपना पूरा ध्‍यान फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलने पर लगा रहे हैं। गंभीर ने अपनी टीम के साथी युवराज सिंह की खातिर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से खास मांग की है। गंभीर ने अपील की है कि युवराज सिंह की जर्सी नंबर-12 को रिटायर किया जाए ताकि इस क्रिकेटर को बेहतर सम्‍मान दिया जा सके।

ईस्‍ट दिल्‍ली से बीजेपी सांसद गंभीर ने एक अखबार में अपने कॉलम में लिखा कि सितंबर का महीना उनके दिल के बेहद करीब है क्‍योंकि इस महीने में टीम इंडिया ने कई विशेष उपलब्धियां हासिल की। भारत ने 24 सितंबर 2007 को वर्ल्‍ड टी20 के फाइनल में चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्‍तान को मात देकर महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्‍व में खिताब जीता था।

गंभीर ने अपने कॉलम में लिखा, 'सितंबर महीना मेरे लिए काफी विशेष है। इससे कई भावनाएं जुड़ी हुई हैं। 2007 में सितंबर महीने में हमने आईसीसी वर्ल्‍ड टी20 का खिताब जीता था। युवराज सिंह ने बेमिसाल प्रदर्शन किया था। उन्‍होंने इस टूर्नामेंट और फिर 2011 विश्‍व कप में उम्‍दा प्रदर्शन किया। मैं बीसीसीआई से अपील करता हूं कि युवराज जो 12 नंबर की जर्सी पहनते थे, उसे रिटायर किया जाए। यह जिंदगी में एब बार के क्रिकेटर के लिए सबसे उपयुक्त सम्‍मान होगा।'

युवराज ने पांच पारियों में 195 से ज्‍यादा के स्‍ट्राइक रेट से 148 रन बनाए थे। गंभीर ने उस एडिशन में 227 रन बनाए थे, जिसमें तीन अर्धशतक शामिल थे। गंभीर ऑस्‍ट्रेलिया के मैथ्‍यू हेडन के बाद 2007 वर्ल्‍ड टी20 में सबसे ज्‍यादा रन बनाने वाले बल्‍लेबाज थे। गंभीर ने कहा, 'हमने चीजों को आसान रखा, वही हमारी जीत का कारण बना। शायद टी20 विश्‍व कप का उद्घाटन संस्‍करण था, जो हमारे लिए कारगर साबित हुआ।'

गंभीर ने इस दौरान खुलासा भी किया कि युवराज ने 6 छक्‍के लगाने के बाद उनसे क्‍या कहा था। गंभीर ने अपने कॉलम में लिखा, 'हमें नहीं पता था कि आगे क्‍या आने वाला है। इसलिए हम भविष्‍य की चिंता करने के बजाय अगली गेंद पर ध्‍यान लगाते थे। मुझे याद है कि अपने करीबी दोस्‍त गंभीर से इंग्‍लैंड के खिलाफ लगातार छह छक्‍के लगाने का राज पूछा था। मैं युवी को प्‍यार से प्रिंस कहता था। उन्‍होंने जवाब दिया- गौती यार बस हो गया। मैंने कभी योजना नहीं बनाई थी। युवराज ने भी चीजें आसान रखी थी।'

बता दें कि गौतम गंभीर और युवराज सिंह ने 2007 वर्ल्‍ड टी20 के बाद 2011 विश्‍व कप में भी उम्‍दा प्रदर्शन किया था। युवी 2011 विश्‍व कप में प्‍लेयर ऑफ द टूर्नामेंट बने थे जबकि गंभीर ने फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ 97 रन की उम्‍दा पारी खेली थी।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर