गौतम गंभीर ने महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य से जुड़ा बयान दिया, बताया अब क्या करना चाहिए

क्रिकेट
Updated Sep 26, 2019 | 20:40 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Gautam Gambhir on MS Dhoni retirement and future plans: अपने बेबाक बयानों व राय के लिए मशहूर भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज गौतम गंभीर ने महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य से जुड़ा बयान दिया है।

Gautam Gambhir and MS Dhoni
Gautam Gambhir and MS Dhoni (IANS/AP) 

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज गौतम गंभीर ने टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज कप्तान MS Dhoni को लेकर बयान दिया है। आमतौर पर अपने बेबाक बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले गौतम गंभीर ने धोनी के भविष्य को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है और साथ ही गंभीर ने ये भी बताया है कि आखिर चयनकर्ताओं को धोनी के मामले में क्या और कैसे करना चाहिए। गौरतलब है कि महेंद्र सिंह धोनी विश्व कप 2019 के बाद से अब तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए उपलब्ध नहीं हैं।

गौतम गंभीर का मानना है कि भारतीय चयनकर्ताओं (Seletors) को दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी से उनकी भविष्य की रणनीति को लेकर बात करनी चाहिए। संन्यास की चर्चाओं के बीच विश्व कप 2019 के बाद महेंद्र सिंह धोनी लगातार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर हैं जिस दौरान उन्होंने वेस्टइंडीज दौरा नहीं किया और साथ ही दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हुई टी20 सीरीज से भी वो बाहर रहे।

क्रिकेटर से राजनेता बने गौतम गंभीर ने धोनी के भविष्य को लेकर बात करते हुए कहा, 'मैं हमेशा इस बात पर कायम रहा हूं कि संन्यास लेना एक खिलाड़ी का खुद का फैसला होना चाहिए। मुझे लगता है कि चयनकर्ताओं को उससे (धोनी) बात करनी चाहिए और उसके भविष्य के प्लान के बारे में पूछना चाहिए। भारत के लिए खेलते हुए आपको सीरीज नहीं चुननी चाहिए।'

रिषभ पंत के बारे में..

गौतम गंभीर ने इस दौरान Rishabh Pant को लेकर भी बयान दिया। विश्व कप के बाद वेस्टइंडीज दौरा और फिर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज में भी खराब फॉर्म से जूझने वाले रिषभ पंत को लेकर हर ओर आलोचना हो रही है। गंभीर का मानना है कि अभी रिषभ पंत युवा हैं और उनके पास बहुत समय है। उन पर इतना दबाव बनाना सही नहीं है और उसका भविष्य उज्जवल होगा।

रिषभ पंत को लेकर गंभीर ने कहा, 'एक नए खिलाड़ी पर कुछ ज्यादा ही चर्चा हो रही है। वो (रिषभ पंत) अभी सिर्फ 21 वर्ष का है। उसने अभी ढाई साल क्रिकेट खेला है। उसके टेस्ट क्रिकेट में दो शतक हैं। हमें उसकी किसी से तुलना नहीं करनी चाहिए। टीम मैनेजमेंट को उसका सही मार्गदर्शन करना चाहिए। उसके पास अभी बहुत समय है, वो अभी बहुत युवा है। टीम मैनेजमेंट को उससे बात करनी चाहिए, ना सिर्फ कोहली बल्कि रवि शास्त्री को भी उससे बातचीत करनी चाहिए। पंत को आजादी दी जानी चाहिए। अगर आप उसको थामने का प्रयास करेंगे तो वो अपनी क्षमता के हिसाब से नहीं खेल पाएगा। आपको ये बात स्वीकार करनी होगी कि उसका शॉट चयन हमेशा सही नहीं होगा लेकिन जब उसका दिन होगा, वो आपको मैच जिताएगा।'

 

 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...