कैंसर से जंग नहीं जीत सके ग्रीम वॉटसन, पूर्व ऑस्‍ट्रेलियाई ऑलराउंडर ने 75 की उम्र में ली अंतिम सांस

Graeme Watson dies at 75: मिडिल ऑर्डर बल्‍लेबाज और मध्‍यम गति के गेंदबाज ग्रीम वॉटसन ने 1967 से 1972 के बीच पांच टेस्‍ट और 1972 में दो वनडे में ऑस्‍ट्रेलियाई टीम का प्रतिनिधित्‍व किया।

graeme watson
ग्रीम वॉटसन 

मुख्य बातें

  • वॉटसन का 75 साल की उम्र में कैंसर के कारण निधन
  • वॉटसन ने पांच टेस्‍ट और दो वनडे में ऑस्‍ट्रेलिया का प्रतिनिधित्‍व किया
  • ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान इयान चैपल के करीबी दोस्‍त थे ग्रीम वॉटसन

सिडनी: पूर्व ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेटर ग्रीम वॉटसन कैंसर के खिलाफ जंग हार गए और 75 साल की उम्र में उन्‍होंने अंतिम सांस ली। मिडिल ऑर्डर बल्‍लेबाज और मध्‍यम गति के तेज गेंदबाज वॉटसन ने 1967 से 1972 के बीच पांच टेस्‍ट और 1972 में दो वनडे में ऑस्‍ट्रेलियाई टीम का प्रतिनिधित्‍व किया। ऑलराउंडर को पहली बार रोडेशिया और दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए 1966-67 दौरे पर मौका मिला था। वॉटसन ने सीरीज के दूसरे टेस्‍ट की पहली पारी में अर्धशतक जमाया था।

हालांकि, मध्‍यम गति के गेंदबाज को एड़ी में चोट लगी और वह अगले टेस्‍ट से बाहर हो गए। फिर जोहानगर्ब में हुए चौथे टेस्‍ट में उनकी वापसी हुई, जहां उन्‍होंने करियर की सर्वश्रेष्‍ठ गेंदबाजी करते हुए 67 रन देकर दो विकेट चटकाए। वह अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रहे और ऑस्‍ट्रेलियाई टीम को सीरीज में शिकस्‍त झेलनी पड़ी। 1971-72 में वॉटसन ने वेस्‍टर्न ऑस्‍ट्रेलिया का रूख किया और 1971-72ए 1972-73 व 1974-75 सीजन में शेफील्‍ड शील्‍ड जीत में प्रमुख भूमिका निभाई।

पूर्व ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान इयान चैपल और वॉटसन काफी अच्‍छे दोस्‍त थे। चैपल अपने दोस्‍त वॉटसन को बीटल के नाम से पुकारते थे। चैपल ने कहा, 'बीटल अपनी जिंदगी अच्‍छे से जीते थे और वह अपनी पत्‍नी जान का ऑपरेशन के बाद खास ख्‍याल रखते थे। मगर दुर्भाग्‍यवश चीजें पूरी तरह बदल गई और फिर पत्‍नी ने वॉटसन का ध्‍यान रखना शुरू किया।' चैपल ने एक घटना का जिक्र किया, जब वो और वॉटसन इंग्‍लैंड के खिलाफ बल्‍लेबाजी कर रहे थे।

जब टूट गई नाक

तब वॉटसन को एक गेंद जोर से मुंह पर लगी थी। चैपल ने अपने कॉलम में लिखा, 'मैं वॉटसन के साथ बल्‍लेबाजी कर रहा था जब टोनी ग्रेग की एक बीमर सीधे उसकी नाक पर लगी थी। वह मैदान पर गिर गया और खून तेजी से बहने लगा। वह दुर्भाग्‍यवश था क्‍योंकि ग्रेग की गेंद स्‍टंप्‍स की हाइट पर जा रही थी और वॉटसन का बल्‍ला लगने से वह गेंद छाती पर लगी। मगर वो शॉट मिस कर गया और उसकी नाक टूट गई।'

चैपल ने आगे कहा, '1972 दौरे पर मैं एक सामाजिक फंक्‍शन में उनकी नर्स से मिला, जहां मुझे पता चला कि बीटल जब अस्‍पताल में थे तो उनको सांस लेने में उस समय काफी तकलीफ हो रही थी। बीटल इस घटना के बारे में कभी बात नहीं करना पसंद करते थे। वह किसी भी चोट को हल्‍के में लेना पसंद करते थे या फिर ज्‍यादा बहादुर थे।'

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर